बेधड़क ...बेलाग....बेबाक

नेपाल की बारिश बिहार के लिए फिर बनी आफत,बढ़ने लगा नदियों का जलस्तर

372

पटना Live डेस्क। नेपाल में हो रही मूसलधार बारिश ने बिहार की चिंता एक बार फिर बढ़ा दी है। इसके वजह से उत्तर बिहार के लोगों में दहशत का माहौल हैं। इससे बिहार में गंगा की सहायक नदियों में जलस्तर में इजाफा होने लगा है। इसका सीधा असर गंगा के जलस्तर पर भी पड़ने लगा है। हालांकि इसे लेकर जल संसाधन विभाग पूरी तरह अलर्ट है। जल संसाधन मंत्री संजय झा ने अधिकारियों को चौकस रहने का निर्देश दिया है।
जानकारी के अनुसार, नेपाल में पिछले कई दिनों से मूसलधार बारिश हो रही है। नेपाल के पोखरा, भैरहवा, भरतपुर, सिमरा आदि के इलाके में तो पिछले 24 घंटे में भारी बारिश हुई है। इसकी वजह से गंडक व बूढ़ी गंडक का पानी बढ़ा है। इसी तरह, काठमांडू और नगरकोट में भारी बारिश होने से बागमती नदी का जलस्तर बढ़ गया है। जबकि ओखालडूंगा, तपेजंग, धनकुटा में भारी बारिश के कारण कोसी नदी का जलस्तर बढ़ गया है। वहीं, विराट नगर और धरान में भारी बारिश के कारण परमान नदी में भी जलस्तर बढ़ा है। जनकपुर में हो रही बारिश की वजह से कनाली और कमला अधवारा में जलस्तर में बढ़ोत्तरी हुई है।

Flood threat looms large over Patna as Ganga crosses danger mark in Bihar -  India News
नेपाल में हो रही बारिश की वजह से बिहार में गंगा की सहायक नदियों का जलस्तर फिर से बढ़ गया और इससे सहायक नदियों में बाढ़ की स्थिति बन गई है। दूसरी ओर केंद्रीय जल आयोग के अनुसार, पटना के गांधीघाट में गंगा नदी का जलस्तर खतरे के निशान से 28 सेंटीमीटर नीचे था, लेकिन अब 24 घंटे में इसके जलस्तर में 4 सेंटीमीटर वृद्धि होने की संभावना है। पटना के हाथीदह में गंगा का जलस्तर खतरे के निशान से 27 सेंटीमीटर ऊपर था, 24 घंटे में इसमें 6 सेंटीमीटर वृद्धि होने की संभावना है।
पटना के श्रीपालपुर में पुनपुन का जलस्तर खतरे के निशान से 10 सेंटीमीटर ऊपर था, 24 घंटे में इसके जलस्तर में 60 सेंटीमीटर वृद्धि होने की संभावना है। सिवान के दरौली में घाघरा नदी का जलस्तर खतरे के निशान से 16 सेंटीमीटर ऊपर है, हालांकि इसके जलस्तर में 24 घंटे में कोई विशेष परिवर्तन नहीं होने की संभावना है। सिवान के ही गंगपुर सिसवन में घाघरा नदी का जलस्तर खतरे के निशान से 2 सेंटीमीटर ऊपर है, इसमें 24 घंटे में 1 सेंटीमीटर कमी होने की संभावना है।

Monsoon Updates LIVE: Flood water enters residential areas near Ganga River  in Patna; heavy rains in Northeast, West Bengal - India News
इसी तरह, मुजफ्फरपुर के रेवाघाट में गंडक नदी का जलस्तर खतरे के निशान से 29 सेंटीमीटर कम है, इसमें 24 घंटे में 14 सेंटीमीटर की वृद्धि होने की संभावना है। यूपी के खड्डा में गंडक नदी का जलस्तर खतरे के निशान से 40 सेंटीमीटर नीचे है, लेकिन 24 घंटे में इसमें 80 सेटीमीटर की बढ़ोत्तरी होने की संभावना है। आयोग के अनुसार, गोपालगंज के डुमरियाघाट में गंडक नदी का जलस्तर खतरे के निशान से 60 सेंटीमीटर ऊपर था, 24 घंटे में इसमें 23 सेंटीमीटर वृद्धि होने की संभावना है।

Comments are closed.