बेधड़क ...बेलाग....बेबाक

Fact Finding-सालगिरह ख़ातिर सिवान टू सदर बाजार वाया पटना,फिर अगमकुआं से चिरैयाटांड़ और फिर सवाल दर सवाल? जल्द मिलेंगे जवाब

1,050

पटना Live डेस्क। शनिवार की दरमियानी रात सुरक्षित राजधानी के पटना पुलिस के दावों की बखिया उधेड़तें हुए बदमाशों ने कथित लूटपाट के दौरान शौहर के सामने ही उसकी बीवी को गोली मार दी। महिला की अस्पताल में इलाज के दौरान मौत हो गई। घटना के बाद अपराधी फरार हो गए। घटना के बाद पुलिस टीम ने देर रात आसपास के सीसीटीवी कैमरों को खंगाला। वारदात वाली जगह व उस रास्ते पर कई कैमरे लगे हैं। पुलिस सीसीटीवी कैमरे की फुटेज के आधार पर अपराधियों तक पहुंचने की बात कह रही है। वही, पुलिस के सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार इस हत्याकाण्ड में पुलिस को अहम लीड मिल चुके है।ऑटो चालक और अपराधियों के बीच की कड़ी भी पकड़ में आ चुकी है।

सालगिरह मनाने मिया बीवी जा रहे थे घर

लूटपाट के दौरान कत्ल कर दी गई मक़तूल की पहचान शाइना परवीन के तौर पर हुई,जो अपने शौहर इमरान आलम जो सिवान में एक निजी बैंक में मुलाजिम है। दोनों शाइना व इमरान मूल रूप से डेहरी ऑन सोन के सदर बाजार के निवासी है। मकतूल शाइना डेहरी ऑन सोन में ही रहती थी। वही के रामा रानी जैन बालिका विद्यालय में बतौर टीचर कार्यरत थी। शाइना करीब एक महीने पहले अपने पति के पास सीवान गई थी और वहीं रह रही थी। इसी बीच शनिवार को दंपती अपनी शादी की सालगिरह सेलेब्रेट करने ख़ातिर अपनो के बीच डेहरी जाने ख़ातिर सिवान से बस द्वारा पटना को चले।

पिछले साल नवंबर में हुई थी शादी बोले इमरान

साइका परवीन डेहरी ऑनसोन के रामारानी जैन बालिका उच्च विद्यालय में शिक्षिका थीं। साइका के पति इमरान ने कहा- अभी तो एक साल हुआ था मेरी निकाह के। 17 नवंबर, 2019 को हमारा निकाह हुआ था। मेरी पत्नी डेहरी में शिक्षिका थीं। मैं सीवान में बैंक में नौकरी करता हूं। हमारी सालगिरह थी तो वह सीवान आई थी। हमें छुट्टी नहीं मिली थी तो वह जिद कर सीवान आ गई थी। बोली थी कि सालगिरह में साथ रहेंगे। साथ मिलकर हम कितने सपने देखे थे।

सीवान आई तो काफी खुश थी। सालगिरह के बाद कुछ दिन रही और फिर मैं उन्हें पहुंचाने के लिए डेहरी जा रहा था। हमें क्या पता था कि पटना में उन्हें बेवजह मार दिया जाएगा। अपराधी को मैंने अपना पर्स दे दिया। उसमें 2500 रुपए थे। इसके बाद पिस्टल ताने अपराधी पत्नी का पर्स छीनने लगा। वह विरोध कर रही थी तो मैंने कहा भी जल्दी से पर्स दे दीजिए, लेकिन सबकुछ तुरंत हो गया। अपराधी ने उन्हें गोली मार दिया।

वारदात के 11 घंटे बाद पति का लिया बयान

चिरैयाटांड पुल पर शनिवार की रात करीब 1:30 बजे अाॅटाे में ही सीवान में एक निजी बैंक में तैनात बैंककर्मी माे. इमरान के सामने उनकी शिक्षिका पत्नी साइका परवीन काे लूटपाट के दाैरान अपराधियाें ने गाेली मारकर हत्या कर दी। शहर के बीचों बीच चिरैयाटांड पुल जहां पर वारदात हुई, वहां कंकड़बाग, काेतवाली, जक्कनपुर व गांधी मैदान का सीमा लगती है। चाैंकाने वाली बात है कि इन चाराें थानाें की पुलिस अपराधियाें काे गिरफ्तार करने,सीसीटीवी कैमरे खंगालने की बजाय सीमा विवाद में उलझ कर रह गई।

सीमा विवाद एक-दाे घंटे तक नहीं, बल्कि आठ घंटे तक चलता रहा। हर थानेदार व थाने की पुलिस यह मानने काे तैयार नहीं थीं कि घटना उनके क्षेत्र में हुई है। मामला जब उलझने लगा ताे टाउन डीएसपी सुरेश प्रसाद काे माैके पर जाना पड़ा। एक-दाे और पुलिस अधिकारियाें काे बुलाया गया। उसके बाद रविवार की सुबह 9:30 बजे सीमा विवाद सुलझा और जक्कनपुर थाना क्षेत्र में वारदात हाेने की बात सामने आई। घटना के 11 घंटे के बाद टीओपी प्रभारी प्रवीण कुमार ने इमरान का फर्द बयान लिया। फर्द बयान जक्कनपुर थाना भेजवा दिया गया और घटना के करीब 14 घंटे के बाद जक्कनपुर थाना में केस दर्ज हुआ।

5 संदिग्ध हिरासत में

घटना की जांच के लिए सेंट्रल रेंज के आईजी संजय सिंह ने सिटी एसपी पूर्वी के नेतृत्व में एसआईटी गठित किया है।अबतक इस मामले में पुलिस ने पांच संदिग्धाें काे हिरासत में लिया है। कुछ ऑटाे चालकाें से पूछताछ भी की गई है।

वही, एसआईटी की टीम को कांड में शामिल कुछ ऑटाे चालकाें से पूछताछ भी की गई है।वही, एसआईटी की टीम को इस दुःसाहसिक वारदात को अंजाम को अंजाम देने वाले लड़के के बाबत जनकरिया मिल गई है। पूर्व में भी शहर के कई लूट व आपराधिक काण्डो में शामिल रहा है। दोनों युवक नशे के आदि है।

साइक ने किया था विरोध

इमरान पत्नी के साथ घर जाने के लिए सीवान से बस से पटना आए थे। उन्हें बस ने अगमकुआं लेट से पहुंचाया। इमरान ने अगमकुआं पुल के नीचे से पटना जंक्शन के लिए एक ऑटो रिर्जव किया। उनकी याेजना यहां किसी होटल में रुक कर सुबह डेहरी के लिए निकलने की थी। उस ऑटो में पहले से दो यात्री बैठे थे। ऑटो जैसे ही चिरैयाटांड़ पुल से जंक्शन के लिए नीचे होने लगी। चालक ने ऑटो रोक दिया। इसके बाद आगे बैठे अपराधी ने पिस्टल दिखाकर लूटपाट की। विरोध करने पर साइका को गोली मार दी।

चारों थानों की सीमा, अक्सर होता है विवाद

रेलवे लाइन के ऊपर जाे चिरैयाटांड पुल का हिस्सा है, वहीं चाराें थानाें की सीमा है। वीणा सिनेमा से पुल पर जाने पर राइट फ्लैंक काेतवाली का है, जबकि लेफ्ट गांधी मैदान। वीणा सिनेमा की ओर राइट फ्लैंक कंकड़बाग का है, जबकि लेफ्ट में जक्कनपुर का। सवाल यह है कि जब चार थानाें की पुलिस का चिरैयाटांड पुल की सीमा है ताे वहां किसी भी थाने की पुलिस गश्ती क्याें नहीं कर रही थी। ऑटाे चालक और अपराधी माैके से पैदल भाग गए। इस घटना में फिर रात्रि गश्त पर सवालिया निशान लग गया।

करबिगहिया की तरफ भाग गए अपराधी

घटना को अंजाम देने के बाद ऑटो चालक और दोनों अपराधी चिरैयांटाड़ पुल होते हुए करबिगहिया की तरफ ही भाग गए।जब्त ऑटो का नंबर BR01PJ – 9605 है। यह ऑटो अमन राज के नाम से रजिस्टर्ड है। 28 मार्च, 2019 को खरीदी गई है।SIT को मिल चुके है सवालों के जवाब

 

Comments are closed.