बेधड़क ...बेलाग....बेबाक

BiG News-पूर्णिया में वोट देने जा रहे कुख्यात बिट्टू सिंह के भाई की खदेड़ खदेड़ कर ताबड़तोड़ गोली मार हत्या, गैंगवार की आशंका से सहमा इलाका

पूर्णिया के धमदाहा विधानसभा क्षेत्र के मतदान केंद्र से महज 200 मीटर की दूरी पर खदेड़खदेड़ कर युवक को मारी 8 गोलिया

2,290

पटना Live डेस्क। बिहार पुलिस के तमाम दावों के उलट बिहार विधानसभा चुनाव 2020 में खूंरेजी की वारदातों को अंजाम दिया गया। सूबे में तीसरे और अंतिम चरण का मतदान संपन्न हो गया है। बिहार में 15 जिलों के 78 सीटों पर हो रहे मतदान के बीच एक युवक की गोली मारकर हत्या कर दी गई।बताया जा रहा है कि जिस युवक की गोली मारकर हत्या (Beni Singh Murder News ) की गई है वो पूर्णिया जिले सरसी स्थित आवास के पास बने पोलिंग बूथ पर वोट देने जा रहा था।

पूर्णिया जिले के घमदाहा विधानसभा क्षेत्र के सरसी थाना अंतर्गत सिहुली गाँव मे आपसी रंजिश में एक युवक की गोली मारकर हत्या कर दी। घटना मतदान केंद्र से महज 200 मीटर की दूरी पर घटी है। मृतक कुख्यात अनिकेत सिंह उर्फ बिट्टू सिंह का भाई बेनी सिंह बताया जाता है। घटना की सूचना मिलते ही परिजनों और स्थानीय लोग आक्रोशित होकर हंगामा करने लगे। मौके पर पहुंची पुलिस ने घटनास्थल से कारतूस और कई खोखा एवं चार बाइक भी बरामद की है। गोलीबारी की घटना बाद आसपास के क्षेत्र में सनसनी फैल गई।

वही, घटनास्थल पर पहुंची आक्रोशित लोगों की भीड़ ने शव को स्टेट हाइवे 77 पर आदर्श मध्य विद्यालय सरसी के सामने सड़क पर रखकर जाम कर दिया। घटना की सूचना मिलते ही एसपी विशाल शर्मा बनमनखी एसडीपीओ विभास कुमार और सरसी थानाध्यक्ष मधुरेंद्र किशोर घटनास्थल पर पहुंच कर लोगों को शांत कराया। पुलिस शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम करवाने के लिए सदर अस्पताल भेज दिया।

मिली जानकारी के अनुसार जिले के मकतूल बेनी सिंह घर से कुछ ही दूरी पर बने मतदान केंद्र पर लूंगी और गंजी पहन कर मतदान करने के लिए निकला था। घटना के संबंध में बताया जाता है कि बेनी सिंह की कुछ लोगो के साथ बूथ पर झड़प हो गई थी। जिसके बाद वह अपने घर आ रहा था। पीछे से अपराधियो ने उसपर ताबड़तोड़ गोली चलाना शुरू किया। युवक जान बचाने अपने घर के तरफ भागा मगर अपराधियो ने खदेड़ खदेड़ कर 8 गोलियां मार दी।

जब तक लोग कुछ समझ पाते तब तक बेनी सिंह की घटनास्थल पर ही मौत हो गई। अपराधी भागने में कामयाब रहा। घटना के बाद परिजनों ने पूर्णिया-सरसी सड़क मार्ग को जाम कर प्रदर्शन भी किया और आरोपियों की गिरफ्तारी की मांग की। घटनास्थल पर मौजूद मृतक के भाई सोनू सिंह घटनास्थल पर मौजूद मृतक के भाई सोनू सिंह ने बताया कि राजनीतिक साजिश के तहत हत्या की घटना को अंजाम दिया गया है। आधा दर्जन से अधिक संख्या में आए अपराधियों ने मतदान केंद्र के पास खड़े बेनी सिंह सहित अन्य लोगों को डराने के लिए गोली फायर किया। सभी भागने लगे तो बेनी का पीछा कर उसपर ताबड़तोड़ गोली बरसा दी। अपराधियों ने करीब दस चक्र गोली चलाई। उन्होंने घटना को अंजाम देने वाले कुछ अपराधियों के नाम पुलिस को बताया।

राजनीतिक रंजिश मेंं हत्‍या का लगाया आरोप 

परिजनों ने राजनीतिक रंजिश में हत्या करवाने का आरोप लगाया है। लेकिन पुलिस ने इस बात को सिरे से खारिज कर दिया है। कहा कि पुरानी रंजिश में बेनी सिंह की हत्या की गई है। पुलिस को इस मामले में लीड भी मिल चुका है जल्द ही अपराधियों की गिरफ्तारी कर ली जाएगी। फिलहाल घटना स्थल पर जिले के एक दर्जन से अधिक थाना के पुलिस डटी हुई है। उस इलाके में सुरक्षा व्यवस्था कड़ी कर दी गई है। अपराधियों को पकड़ने के लिए पुलिस की टीम ताबड़तोड़ एक दर्जन से अधिक जगहों पर छापेमारी किया है। पुलिस कई लोगों को संदेह के आधार पर हिरासत में लेकर पूछताछ भी कर रही है।

इस संदर्भ में एसपी विशाल शर्मा ने कहा कि अज्ञात अपराधियों के द्वारा पुरानी रंजिश में बेनी सिंह की गोली मारकर हत्या की गई है। मामला दर्ज कर पुलिस के द्वारा ताबड़तोड़ छापेमारी की जा रही है और जल्द ही अपराधियों की गिरफ्तारी कर ली जाएगी। उन्होंने बताया कि फिलहाल स्थिति नियंत्रण में है और किसी भी तरह की कोई दिक्कत नहीं है। घटना स्थल पर से अपराधियों का बाइक और खोखा भी बरामद किया गया है। राजनीतिक रंजिश में हत्या नही हुई है।

गैंगवार की आशंका

उल्लेखनीय है कि मारा गया बेनी जिले के कुख्यात अपराधी अपराधी जो वर्तमान में भागलपुर सेंट्रल जेल में बंद बिट्टू सिंह का सगा छोटा भाई था। उल्लेखनीय है कि सितंबर महीने में ही मृतक का बड़ा भाई बिट्टू सिंह एके 47 जैसे अत्याधुनिक हथियार के साथ एसटीएफ के हत्थे चढ़ा था। रंगदारी अपहरण लूट हत्या सहित कई मामलों में फरार अनिकेत सिंह उर्फ बिट्टू सिंह को एसटीएफ में गिरफ्तार कर लिया ।पहले से ही पूर्णिया की पुलिस ने उसे तड़ीपार कर दिया था।एसटीएफ और सीआईडी की टीम ने हवाई फायरिंग कर बिट्टू सिंह उर्फ अनिकेत सिंह के साथ 2 अन्य आरोपियों को भी गिरफ्तार किया था।

उसके छोटे भाई को अपराधियों ने जिस तरह खुलेआम अत्याधुनिक हथियार से दिनदहाड़े हत्या किया यह वहां के लोगों के मन में भय का माहौल व्याप्त हो गया है। वर्षों से खूनी खेल में लाल होती रही सरसी की धरती पर फिर से गैंगवार का दौर शुरू होने की संभावना से इंकार नहीं किया जा सकता।

Comments are closed.