बेधड़क ...बेलाग....बेबाक

NEET परीक्षा में चल रहा था मुन्ना भाई वाला खेल, पकड़ी गई मां-बेटी

390

पटना Live डेस्क। बिहार में अपराध बढ़ रहा है। लेकिन साथ ही अपराध करने का तरीका भी बदलता जा रहा है। और यह हर क्षेत्र में अब फैलता ही जा रहा है। NEET 2021 की परीक्षा में मुन्ना भाई वाला खेल चल रहा था। पुलिस ने दूसरे की जगह बैठ कर परीक्षा देने वाली लड़की को गिरफ्तार कर लिया है। दरअसल हिना विश्वास के स्थान पर पटना की जूली कुमारी वाराणसी में नीट की परीक्षा दे रही थी। सारनाथ थाने के टड़िया सोना तालाब स्थित सेंट फ्रांसिस जेवियर स्कूल में भी सेंटर था। यहीं से वाराणसी क्राइम ब्रांच ने रविवार को नीट परीक्षा के दौरान सॉल्वर गैंग का पर्दाफाश करते हुए बीएचयू में बीडीएस द्वितीय वर्ष की छात्रा जूली और उसकी मां बबिता को गिरफ्तार कर लिया। ये दोनों पटना के बहादुरपुर थाना क्षेत्र स्थित संदलपुर वैष्णवी कॉलोनी की रहने वाली हैं, जबकि गिरोह में शामिल खगड़िया का विकास कुमार महतो भाग निकला। इस सॉल्वर गैंग का मास्टरमाइंड पटना का पीके बताया गया है। गिरोह में केजीएमयू लखनऊ का एक डॉक्टर भी शामिल बताया गया है।
इस सॉल्वर गैंग का नेटवर्क पूर्वोत्तर राज्यों तक फैला है। अन्य आरोपितों की गिरफ्तारी के लिए पुलिस छापेमारी कर रही है। सूत्रों का दावा है कि दो और लोग हिरासत में लिए गए हैं, लेकिन पुलिस अभी कुछ कहने से बच रही है। मेडिकल में प्रवेश के लिए रविवार को नीट परीक्षा हुई थी।
पुलिस के मुताबिक पटना का पीके व खगड़िया का विकास कुमार महतो इस सॉल्वर गैंग का सरगना है। विकास कुमार मूलरूप से खगड़िया के बेला सिकड़ी का रहनेवाला है। वह पटना में ही रहकर पढ़ता है और प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी करता है। पीके से जुड़कर उसने ही बीडीएस की छात्रा जूली को हिना के स्थान पर परीक्षा देने के लिए सेट किया था।
सॉल्वर गैंग ने बीडीएस की छात्रा जूली को परीक्षा के बाद पांच लाख रुपए देने का वादा किया था। परीक्षा देने के बाद जूली पांच लाख रुपये के सपने बुनते खुशी-खुशी केंद्र से बाहर निकल रही थी। लेकिन उसका सपना हकीकत में तब्दील नहीं हो पाया। परीक्षा के बाद उसे रुपए तो नहीं मिले, मां और बेटी जेल जरूर पहुंच गईं।
पुलिस ने जब जूली को गिरफ्तार किया और उसे सारनाथ थाने ले गई तो वह फूट फूटकर रोने लगी। वह बार-बार अपनी गलती पर पछतावा कर रही थी। उसने रोते हुए एक महिला कांस्टेबल का पैर पकड़ लिया और कहा कि मुझे छुड़ा लीजिए। पुलिस पूछताछ में मां बेटी ने बताया कि फरार आरोपित विकास महतो ने हमें पैसे का लालच दिया था। जूली ने कहा कि मैं पैसे की लालच में आ गई। वह बार-बार हाथ जोड़कर रोते हुए छोड़ने की गुहार लगा रही थी। जूली ने कहा कि मुझे छोड़ दो अब मैं दुबारा इस तरह का काम नहीं करूंगी।

Comments are closed.