बेधड़क ...बेलाग....बेबाक

Motihari News-महात्मा की कर्मभूमि पर आशीष का रतजगा ताकि चैन से सो सके आवाम

मोतिहारी एसपी जब आधी रात को थाना पर पहुँचे तो महिला सन्तरी ने एसपी पर ही बन्दूक तान दिया। हालांकि महिला सन्तरी की बहादुरी को देखते हुए एसपी ने महिला सन्तरी को पुरस्कार देने की घोषणा की है ।

403

पटना Live डेस्क। सुशासन को धरातल पर हकीकत में तब्दील करने और जिले की अवाम को सुरक्षित माहौल देकर मीठी नींद में ग़ाफ़िल होने ख़ातिर जिले की सड़कों पर खुद रात के अन्धेरे में पेट्रोलिंग करते पुलिस अधीक्षक डॉ कुमार आशीष अक्सर दिखाई दे जाते है। महात्मा गांधी की कर्मभूमि पर अपने कर्तव्यों ख़ातिर 24×7 एक्टिव रहने वाले युवा आईपीएस को आम आवाम मोतिहारी ख़ातिर अद्वितीय आशीष मानती है। एसपी मोतिहारी द्वारा यह महज एक दिनी कवायद नही है बल्कि उनकी दैनन्दिनी में शामिल है। अमूमन पुलिस अधीक्षक द्वारा हर सप्ताह बारी बारी जिले के सुदूर थानों से लेकर शहर के मुख्य मार्गो तक जारी रहता है। इसी क्रम में मंगलवार बुधवार की दरमियानी रात मोतिहारी में पुलिस की सजगता को जांचने और अपराधिक घटनाओं पर नकेल कसने के लिए आधीरात को एसपी डॉ० कुमार आशीष अपने थाना की रिएलिटी चेक करने के लिए निकले।

एसपी खुद अकेले आम नागरिक की तरह पैदल चलते हुए रात के करीब एक बजे लखौरा थाना पर पहुँचे थे। एसपी के साथ कोई गार्ड नही था ना ही कोई पूर्व सूचना दी गई थी, लिहाजा सन्तरी ड्यूटी पर तैनात महिला सन्तरी आकृति कुमारी ने एसपी पर ही राइफल तानकर चेतावनी दे डाला और बोली ठहरो कौन है ? … एसपी ठिठक गए.. फिर जब एसपी ने कोड वर्ड बताया तब उन्हें आगे बढ़ने की इजाजत महिला सन्तरी ने दिया।

महिला सन्तरी की निर्भीकता और सजगता को देखकर एसपी ने उसे पाँच सौ रुपया का पुरस्कार देने की तत्क्षण घोषणा की है। आम नागरिक की तरह रात में लखौरा थाना पर पहुँचे एसपी ने एक काल्पनिक मामले को बनाते हुए एफआईआर दर्ज करवाने का अनुरोध किया और ओडी ऑफिसर तथा लखौरा थानाध्यक्ष को ढूंढने लगे हालांकि इस दौरान एसपी को अन्य पुलिसकर्मियों ने पहचान लिया। पहचान लिए जाने के बाद एसपी ने थाना के एक एक कोना का निरीक्षण किया।

             हाजत से लेकर टॉयलेट,सीसीटीवी कैमरा , कंप्यूटर ,कर्मियों की संख्या ,थाना में लगे बोर्ड , हर बिंदु पर एसपी ने बारीकी से निरीक्षण किया । फिर थाना की गश्ती गाड़ी और वायरलेस ड्यूटी का हाल जाना । एसपी ने खुद ही थाना से वायरलेस पर जिला भर के थाना की गश्ती गाड़ी का हाल जाना। थाना के निरीक्षण के दौरान चौबीस घंटे से स्टेशन डायरी पेंडिंग रहने पर एसपी ने लखौरा थानाध्यक्ष से स्पष्टीकरण भी माँगा।

अपराध पर अंकुश लगाने के लिए खुद आधी रात को थाना को एक्टिव रखने की अपने इस मुहिम पर एसपी ने कहा की मोतिहारी पुलिस लोगो के जान माल की सुरक्षा के लिए दिन रात तत्पर है साथ ही सतर्क सजग पुलिसकर्मियों को पुरस्कृत तथा लापरवाह कर्मियों को दंडित करने की बात भी कही। जरूरत है मोतिहारी के युवा आईपीएस की भगीरथ प्रयास को सार्थक समर्थन का अवाम के साथ का। 

 

Comments are closed.