बेधड़क ...बेलाग....बेबाक

बड़ी खबर – गुजरात का सबसे चौंकाने वाला नतीजा, पीएम मोदी के घर में भाजपा चारो खाने चित, 1972 के बाद पहली बार जीती कोंग्रेस

152

पटना Live (चुनाव) डेस्क। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के लिए गुजरात विधानसभा चुनाव में सबसे बडा झटका लगा है। गुजरात विधानसभा चुनाव में बहुमत के साथ जीत हासिल कर भारतीय जनता पार्टी  प्रदेश की सत्ता पर अपनी पकड़ बरकरार रखने में कामयाब जरूर रही है। लेकिन पीएम नरेंद्र मोदी का गृहनगर वडनगर जिस विधानसभा क्षेत्र में आता है। वहीं भाजपा को करारी हार का सामना करना पड़ा है। वडनगर ऊंझा विधान सभा क्षेत्र में आता है। जहां से कांग्रेस प्रत्याशी आशा पटेल ने भाजपा विधायक पटेल नारायणभाई लल्लूदास को 19,500 मतों से करारी शिकस्त दी है  यह विधानसभा क्षेत्र भाजपा का गढ़ कहलाता है। इस विधानसभा सीट पर कांग्रेस सिर्फ 1962 और 1972 में ही चुनाव जीत सकी थी। यानी कॉंग्रेस ने भाजपा का यह किला ढाह दिया है।                                                           गुजरात में कांग्रेस और भाजपा के बीच कड़ी टक्कर के बीच सबसे चौंकाने वाला नतीजा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के गृह नगर वडनगर के तहत आने वाली ऊंझा विधानसभा सीट से सामने आया है। यहां से भाजपा के उम्मीदवार को कॉंग्रेस कैंडिडेट ने बड़े मार्जिन से हरा दिया है।
ऊंझा विधानसभा क्षेत्र राज्य के मेहसाना जिले के अंतर्गत आता है। यहां से भाजपा के नारायण भाई पटेल के खिलाफ कांग्रेस की आशा बेन पटेल ने शुरू से ही निर्णायक बढ़त बना कर आशा बेन पटेल यहां अपने निकटतम उम्मीदवार को हराया है। 2012 के चुनाव में नारायण भाई पटेल ने आशा बेन पटेल को 25 हजार से ज्यादा वोटों से हराया था। कांग्रेस और भाजपा दोनों ने इस बार भी चुनाव में 2012 के उम्मीदवारों पर दांव लगाया था। लेकिन इस बार बाजी कांग्रेस के पक्ष में रही।
ऊंझा की करीब 40 फीसदी आबादी पाटीदारों की है और यहां भाजपा की हार में पाटीदारों की की नाराजगी साफतौर पर झलक रही है। 2014 में जब पाटीदार आंदोलन चरम पर था, तब हिंसक विरोध के दौरान मारे गए 14 युवाओं में से एक ऊंझा से था।उंझा विधानसभा क्षेत्र में मतदान गुजरात चुनाव के दूसरे चरण में 14 दिसंबर को हुआ था। 93880 पुरुष एवं 80799 महिला मतदाताओं ने अपने मत का इस्तेमाल किया था। मोदी ने यही से अपने मताधिकार का प्रयोग करते हुए वोटिंग की थी। मोदी के घर में बीजेपी की हार                         गुजरता के मेहसाणा जिले के इस विधानसभा क्षेत्र में वडनगर भी आता है। वडनगर पीएम मोदी का जन्मस्थान है।उन्होंने यहीं पर अपना बचपन गुजारा। गुजरात में चुनाव से ठीक पहले वडनगर का दौरा किया था।जहां उनका ग्रैंड स्वागत किया गया था। लेकिन कांग्रेस की आशा पटेल ने पीएम मोदी के घर में बीजेपी को मातदी है।                           ऊंझा विधानसभा सीट बीजेपी का गढ़ मानी जाती है। हालांकि इसे पटेल नारायणभाई लल्लूदास का गढ़ कहना ज्यादा सही होगा क्योंकि पिछले पांच बार से यानी 1995 से नारायणभाई लल्लूदास ही जीतते आ रहे थे। इसी वजह से बीजेपी ने इस बार भी पटेल नारायण भाई लल्लूदास को छठी बार मैदान में उतारा। मेहसाणा जिले में कुल सात विधानसभा- खेरालू, ऊंझा, विसनगर, बेचारजी, कडी, मेहसाणा और वीजापुर शामिल है।

 

Comments are closed.