बेधड़क ...बेलाग....बेबाक

BIG News – राजधानी की सुरक्षा की फिर खुली पोल,दिनदहाडे शख्स को मारी गई ताबड़तोड 5 गोलिया, मौत

36

पटना Live डेस्क।राजधानी में दिनदहाड़े मर्डर की वारदात से इलाके में हड़कंप मचा हुआ है। मौके पर पहुंची पुलिस छानबीन में जुट गई है। होली को लेकर राजधानी पटना की सुरक्षा को लेकर पुलिस केे तमाम दावों की धज़्ज़िया उड़ाते हुए अपराधियों ने शहर के पॉश इलाको में शुमार बोरिंग रोड में दिनदहाड़े एक शख्स की हत्या कर दी है।

होली के महज दो दिन पहले प्रशासनिक चौकसी के दावों की धज्जियां उड़ाते हुए अपराधियों ने इस जघन्य वारदात को अंजाम दिया है। बोरिग रोड के वीर कुंवर सिंह पथ में रविवार को बाइक सवार अपराधियों ने दिनदहाड़े घर के पास रिटायर्ड कर्मी की गोली मारकर हत्या कर दी। वारदात को अंजाम देने के बाद बाइक सवार दोनों अपराधी फरार हो गए। मृतक की पहचान 74 वर्षीय सकलदेव राय के रूप में हुई है, जो रिटायर्ड पोस्टलकर्मी थे। सूचना मिलने पर सिटी एसपी अमरकेश डी और सचिवालय डीएसपी राजेश कुमार प्रभाकर दलबल के साथ मौके पर पहुंचे। सात जगहों पर सीसीटीवी कैमरे की जांच की गई। एक कैमरे में अपाचे बाइक पर दो बदमाश भागते हुए दिखे। एसएसपी उपेंद्र कुमार शर्मा ने बताया कि सकलदेव राय के स्वजनों ने भूमि विवाद में हत्या किए जाने की आशंका जताई है। सभी बिंदुओं पर छानबीन चल रही है।

सफेद अपाचे बाइक पर सवार थे हत्यारे

वीर कुंवर सिंह पथ में रहने वाले सकलदेव राय सुबह करीब 10 बजे अपने मित्र के घर गए थे। वहां से लौटते वक्त उन्होंने टमाटर खरीदा और पैदल ही घर की तरफ जा रहे थे। जैसे ही वह अपने छोटे बेटे मनीष के रेस्टोरेंट के पास पहुंचे, सफेद रंग की अपाचे बाइक से आए दो बदमाशों ने सकलदेव राय को रोका और तीन गोलियां दाग दीं। मनीष भी रेस्टोरेंट के पास ही मौजूद थे। उनकी पत्नी घर की बालकनी से घटना देख रही थीं। वारदात के बाद मनीष ने बदमाशों का पीछा करने की कोशिश की, लेकिन वे बाइक की रफ्तार तेज कर भाग निकले। वही स्थानीय लोगों की मदद से सकलदेव राय को लहूलुहान हालत में पाटलिपुत्र गोलंबर के समीप एक अस्पताल में भर्ती कराया गया, जहां डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया।

 

सीमा विवाद में देर से पहुंची पुलिस

घटना की जानकारी देने के 45 मिनट बाद एसके पुरी थाने की पुलिस पहुंची। इस बीच पाटलिपुत्र थाने की पुलिस घटनास्थल का मुआयना कर चली गई थी। यह इलाका दोनों थानों के बॉर्डर पर है, इसलिए पुलिस सीमा विवाद में उलझी रही। इसके बाद सचिवालय डीएसपी आए। उन्होंने मौके से दो खोखे बरामद किए।

रिटायर्ड पोस्टल कर्मी थे सकलदेव राय

सकलेदव राय करीब 15 साल पहले सेवानिवृत्त हुए थे। उनके बड़े बेटे मनोज सिंह न्यूयॉर्क में रहते हैं, जबकि वह छोटे बेटे के परिवार के साथ वीर कुंवर सिंह पथ में रह रहे थे। वे शाहपुर थाना क्षेत्र के चांदमारी गांव के मूल निवासी थे।

देवेंद्र राय पर जताया शक

पुलिस के अनुसार, सकलदेव राय के स्वजनों ने देवेंद्र राय नामक एक विरोधी पर हत्या का शक जताया है। दो साल पहले दोनों पक्षों के बीच 32 कट्ठा जमीन को लेकर झड़प हुई थी। इस मामले में देवेंद्र के पक्ष के लोग जेल भी गए थे। देवेंद्र के बेटे सूरज पर भी शक जताया गया है। वहीं, तफ्तीश में यह बात भी सामने आई है कि सकलदेव ने एक व्यक्ति से अपनी जमीन बेचने के लिए बयाना लिया था, लेकिन एग्रीमेंट नहीं किया। कुछ ही महीने बाद उस जमीन की कीमत पांच गुना बढ़ गई। तब सकलदेव नई दर पर जमीन बेचने के मूड में आ गए थे।

Comments are closed.