BiG News – PM मोदी-शाह ने खेला बड़ा दांव, यहां बन गए ‘चौकीदार’, शुरू किया – मैं भी चौकीदार कैम्पेन  

38

पटना Live डेस्क। मुल्क में लोकतंत्र के महापर्व की तैयारी में तमाम सियासी दल अपने चुनावी कैंपेन के ज़रिए मतदाताओं को लुभाने की कवायद में भिड़े है। एनडीए गठबंधन जहा अपनी सत्ता बचाने की कवायद में भिड़ा है वही कॉंग्रेस समेत तमाम विरोधी दल गद्दी छिनने की कवायद में तमाम सियादी हथकंडे आज़मा रहे है। इसी कवायद के तहत कॉंग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने “चौकीदार चोर है” नारे को कई बार अपने भाषणों में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर हमला करते हुए इस्तेमाल किया। जो बाद में पूरे विपक्ष ने बतौर कैंपेन “चौकीदार चोर है” के जरिए PM मोदी पर हमले शुरू कर दिया है।

भाजपा ने विपक्ष के इसी हमले को अपने चुनावी प्रचार में शामिल कर लिया है। ज्ञात हो कि वर्ष 2014 में लोकसभा चुनाव में मणिशंकर अय्यर के ‘चायवाला’ टिप्पणी को भी भाजपा ने चुनाव अभियान का हिस्सा बनाया था और मोदी को PM की कुर्सी तक पहुचने में काफी मददगार साबित हुआ था। ठीक उस सफल कैम्पेन के तर्ज पर अब PM मोदी ने ट्विटर पर अपना नाम बदल दिया है।

मैं भी चौकीदार हूँ – कैंपेन की हुई शुरुआत 

बीजेपी ने राहुल गांधी के चौकीदार चोर है नारे के जवाब में मैं हूं चौकीदार कैंपेन शुरू कर दिया है। मकसद है कि 2014 में लांच किए गए चायवाले अभियान की तरह इस बार चौकीदार अभियान से जनता को लुभाने का है। राहुल गांधी के चौकीदार चोर है को उनके ही खिलाफ इस्तेमाल करने की कवायद के तहत PM ने  मैं भी चौकीदार हूं कैंपेन के तहत अपने ट्विटर हैंडल का नाम बदलते हुए चौकीदार नरेंद्र मोदी कर लिया है। पहले यह नाम नरेंद्र मोदी था। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के बाद बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने भी ट्विटर पर अपने नाम के आगे चौकीदार लगा लिया है। इस कैंपेन के तहत इसके अलावा नरेन्द्र मोदी एप पर ‘मैं भी चौकीदार’ अभियान के तहत संकल्प लेने की मुहिम शुरू की गयी है।नेताओं को देखकर अब बीजपी के सभी प्रमुख नेता और कार्यकर्ता नाम बदलने की रेस में शामिल हो गए हैं।

गौरतलब है कि पीएम मोदी 31 मार्च को देशवासियों को संबोधित करेंगे। आपको बता दें कि लोकसभा चुनाव के लिए मतदान 11 अप्रैल से शुरू होगा। सात चरणों में होने वाला यह मतदान 19 मई को खत्म होगा। चुनाव परिणाम 23 मई को आयेंगे।

Loading...