बेधड़क ...बेलाग....बेबाक

Super Exclusive-दुःसाहस का चरम हरबे-हथियार का प्रदर्शन करता कुख्यात प्रदीप और वर्षो से फरार ईनामी दुर्दान्त प्रमोद का भतीजा हुए Viral

मधेपुरा में इन दिनों वर्षो से फरार लगभग 3 दर्जन से ज्यादा आपराधिक वारदातों में नामजद कुख्यात प्रमोद यादव के भतीजे राणा कुमार उर्फ नुनु कुमार परवाहा और कुछ महिने पूर्व जेल से बेल पर निकले अपराधी प्रदीप यादव की हरबे हथियार का प्रदर्शन करते हुए तस्वीरें जमकर वायरल हो रही है।

771

पटना Live डेस्क। बिहार में सुशासन के दावों के बीच मधेपुरा जिले की कुछ तस्वीरें सोशल मीडिया पर जमकर न केवल वायरल हो रही है बल्कि कानून के राज की खिल्ली उड़ाती नज़र आ रही है। वायरल तस्वीरों में 2 शख़्स दिखाई दे रहे है जिनके आगे बिस्तर पर बाकायदा गोलियों और हथियार रखे हुए नज़र आ रहा है।पहले आप मधेपुरा पुलिस को मुँह चिढ़ाती इन तस्वीरों को एक नज़र देखिए फिर आपको बताते कौन है ये दोनों जो हरबे हथियार संग सोशल मीडिया पर जमकर वायरल तस्वीरों में दिखाई दे रहे है।

आइए अब आपका तारुफ़ करवाते वायरल तस्वीरों में नज़र आ रहे दोनों शख्स से। तस्वीर में हथियारों व गोलियों संग बिस्तर पर लेटे शख्स का नाम है राणा कुमार उर्फ नुनु कुमार परवाहा। तस्वीर में पूरी बेफ़िक्री से हरबे हथियार संग लेटा राणा मधेपुरा जिले के कुख्यात वर्षो से फरार लगभग 3 दर्ज़न अपराधों में नामित प्रमोद यादव का भतीजा है।

                  वही,अब राणा कुमार उर्फ नुनु कुमार परवाहा भी अपने पुलिस की नज़रों में फरार अपराधी चाचा प्रमोद यादव के नक़्शे कदम पर चलते हुए अपराध की राह पर चल निकला है।तभी तो राणा कुमार की अपराधियों की सोहबत में गोलियों व हथियारों संग तस्वीर वर्त्तमान में जमकर वायरल हो रहा है। वही दूसरी एक अन्य तस्वीर में प्रदीप यादव भी है।

टेहरी का कुख्यात प्रदीप यादव

                       वही, दूसरी वायरल तस्वीर हथियारों व गोलियों संग पूरी बेफ़िक्री से बिस्तर पर बैठे लगभग 2 दर्जन आपराधिक वारदातों में मूलविज़्ज़ प्रदीप यादव की है। प्रदीप यादव मूल रूप से गम्हरिया थाना क्षेत्र के टेहरी का निवासी है। यह भी पुलिस की नज़र में इलाके के बेहद दबंग आदतन जरायमपेशा रंगबाज है। विगत वर्ष जिले के चर्चित सिंघेश्वर लूट कांड में पुलिस द्वारा इसे कड़ी मशक्कत के बाद गिरफ़्तार कर जेल भेजा गया था। विगत कुछ महिने पूर्व जेल से बेल पर बाहर निकला है। फिर से एक बार प्रदीप यादव अपना खौफ़ कायम कर इलाके को अशांत करने की कवायद में जुटा है।

उल्लेखनीय है जेल से जमानत पर बाहर निकले प्रदीप ने इन दिनों फिर से अपनी सक्रियता बढ़ाते हुए नए अपराधियों के संग अपना गिरोह मजबूत करने की कवायद शुरू कर दी है। इन दिनों इसके घर पर नए नए चेहरों का आना जाना लगातार जारी है। इसकी संदिग्ध गतिविधियों की वजह से इलाके में खौफ़ पसरने लगा है। इसी बीच इसकी हरबे हथियार और दुर्दान्त अपराधी प्रमोद के भतीजे राणा सांग वायरल तस्वीर इलाके में लगातार चर्चा का विषय बन गई। वही, इलाके में प्रदीप द्वारा अंजाम दी गई पूर्व की दुःसाहसिक आपराधिक वारदात को देखते हुए इलाके में अनजाना खौफ़ पसरा हुआ है।

ख़ाकी का घटता खौफ़

सुशासन के दावों के बीच सूबे में लगातार बढ़ते अपराध से अवाम डर के साए जीने को विवश है। वही बात अगर मधेपुर की करे तो जिले के हालात बढ़ते अपराध की न केवल गवाही दे रहे है बल्कि अपराधियों के मन से खाकी का खौफ़ लगभग खत्म होता नजर आ रहा है। लगातार इसकी बानगी दिखाई दे रही है। हत्या, लूट रंगदारी, चोरी- डकैती की वारदातों में न केवल इज़ाफ़ा हो रहा है बल्कि पुलिस से पूरी तरह बेख़ौफ़ अपराधी इलाके में लागातर दनदनाते हुए सार्वजनकी तौर पर अपनी उपस्थित दर्ज करा रहे है। इसका सबसे बड़ा उदाहरण उस वक्त दिखाई दिया था जब मधेपुरा जिले का पचास हजार का ईनामी कुख्यात अपराधी अपने गाँव मे कुर्ता फाड़ होली खेलते वायरल हो गया। ऐसी तमाम तस्वीरों व वीडियों की वजह से जिले में ख़ाकी का खौफ़ खत्म होने की मुनादी होती रही है। इसी बीच यह वायरल तस्वीरें तो मधेपुरा पुलिस के इक़बाल को मुँह चिढ़ाती नज़र आ रही है। अब तो यह वक्त ही तय करेगा कि मधेपुरा पुलिस अपने खोए इक़बाल को कायम रखती है या फिर हथियार चमकाते इन अपराधियों के आगे …….।

 

Comments are closed.