बेधड़क ...बेलाग....बेबाक

BiG News – लालू के लाल तेजप्रताप यादव की 6 साल से #इंश्योरेंस फेल BMW ने वाराणसी में था टेम्‍पो को ठोका ? क्या ViP वाहनों ख़ातिर देश मे है अलग कानून ?

36

पटना Live डेस्क। बिहार के पूर्व मुख्‍यमंत्री लालू प्रसाद यादव और पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी के बड़े लाल और महुआ से राजद विधायक तेजप्रताप यादव की कार गुरुवार की सुबह वाराणसी में दुर्घटनाग्रस्‍त होने की जानकारी होने के बाद पुलिस प्रशासन में हड़कंप मच गया। राष्ट्रीय जनता दल (राजद) के अध्यक्ष लालू प्रसाद के बड़े बेटे और बिहार के पूर्व स्वास्थ्य मंत्री तेजप्रताप यादव की कार गुरुवार को बनारस में राेहनिया के करनाडाडी क्षेत्र से गुजर रही थी कि कार रोहनिया के पास दुर्घटनाग्रस्‍त हो गई। हादसे की जानकारी होने के बाद पुलिस सक्रिय होकर मौके पर पहुंच गई। हादसे की जानकारी होने के बाद तेज प्रताप यादव ने कार में जा रहे लोगों से पल-पल की जानकारी भी ली।वहीं, दुर्घटनाग्रस्‍त होने के बाद कार स्‍टार्ट न होने और आगे न जा पाने की स्थिति होने की वजह से मौके पर ही सड़क के किनारे खड़ी कर दी गई। लेकिन जब इस VIP वाहन का सच टटोला गया तो सभी हतप्रभ रह गए। अब देखना यह होगा इस  खुलासे के बाद यूपी ट्रैफिक पुलिस विभाग इस गाडी का चालान करता है या नहीं ?

जानकारी के मुताबिक तेज प्रताप इन दिनों वृंदावन में हैं। उनको लेने के लिए उनकी कार बिहार से वाराणसी होते हुए मथुरा जा रही थी। कार में तेजप्रताप के पीए सृजन स्‍वराज और ड्राइवर जयपाल मौजूद थे, दूसरे वाहनों में सुरक्षा दस्‍ता था। वाराणसी-इलाहाबाद हाइवे पर करनाडाडी इलाके में कार खड़ी ऑटो से टकराने के बाद दुर्घटनाग्रस्‍त हो गई पर किसी को चोट नहीं आई। हादसे के बाद तेजप्रताप के चालक ने ऑटो चालक को पकड़ लिया और दो लाख हर्जाना मांगा। असमर्थता जताने पर ऑटो ड्राइवर को मारपीट कर साथ चल रही सुरक्षा दस्‍ते की गाड़ी में बैठा लिया गया।

दोनों पक्षों के बीच सुलह-समझौता हो गया

मारपीट की सूचना मिलने पर मौके पर पहुंची रोहनिया पुलिस दोनों पक्षों को थाने ले आई। वीआईपी वाहन से जुड़ा मामला होने के चलते पुलिस के अफसरों को घटना क्रम से अवगत कराया गया। कुछ ही देर में अधिकारी भी मौके पर पहुंचे। दोनों पक्षों ने सुलह-समझौता करने के बाद पुलिस को लिखकर दे दिया कि कानूनी कार्रवाई नहीं चाहते हैं। कार खराब हो जाने के कारण मौके पर ही खड़ी है। वहीं, बिहार से आया सुरक्षा दस्‍ता तेजप्रताप को लाने के लिए वृंदावन की ओर रवाना हो गया।

इस सम्बन्ध में रोहनिया थाना प्रभारी परशुराम त्रिपाठी ने बताया कि बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री लालू प्रसाद यादव के बेटे तेज प्रताप यादव को लेने के लिए पटना के रहने वाले जयपाल और प्रवीण पाल उनकी BMW से पटना से दिल्ली जा रहे थे।

यह कार रोहनिया थाना अंतर्गत मोहनसराय बाईपास पर कन्नादाड़ी क्षेत्र में राजेंद्र प्रसाद सोनकर के टेम्पो से टकरा गयी। इसपर BMW चला रहे जयपाल और राजेंद्र प्रसाद सोनकर में नुक्सान को लेकर बहस शुरू हो गयी, बकौल प्रत्‍यक्षदर्शियों के अनुसार इस बीच हाथापाई भी हुई। बाद में दोनों पक्ष थाने पहुंचे। पुलिस के अनुसार फिलहाल दोनों पक्षों ने आपस में समझौता कर लिया है। वहीं पुलिस ने किसी भी तरह की हाथापाई से इनकार किया है।

तेजप्रताप की BMW का है इंश्योरेंस फेल !

वही, दुर्घटनाग्रस्त BMW जो तेजप्रताप यादव के नाम पर रजिस्टर है। दुर्घटनाग्रस्त सीडान के बाबत जब भारत सरकार की वेबसाइट www.parivahan.gov.in पर BMW गाड़ी के नंबर BR 01 BR 1624 को चेक किया गया तो एक खुलासे ने कई सवाल खड़े कर दिए।

दरअसल, सरकारी सुरक्षा दस्ते के साथ दनदनाती फिरने वाली तेजप्रताप यादव के नाम पर रजिस्टर्ड उक्त BMW का #इंश्योरेंस #नवम्बर 2013 में ही ख़त्म हो चुका है। यही पिछले 6 सालों से यह सीडान लागतार ट्रैफिक नियमो की अवहेलना करते हुए बिहार समते देश के विभिन्न राज्यो में दनदनाती फिर रही है। लेकिन किसी ने भी इस ViP के नाम रजिस्टर्ड कार के कागजात देखने की जरूरत तक नही समझी आखिर क्यों ?

हद तो देखिए आम आदमी के वाहन (2 पहिया 4 पहिया या अन्य) का इंश्योरेंस महज एक दिन पहले भी फेल हो जाये तो ट्रैफिक पुलिस कानून का पाढ़ पढ़ाते हुए जुर्माना ठोक देता है। पर तेजप्रताप यादव की BMW का इंश्योरेंस फेल हुए 6 साल बीत चुके है। नवम्बर 2013 में फेल होने के बाद उसका दुबारा रिन्‍यूवल नहीं करवाया गया है। यानी पूरी तरह पूरे धमक के साथ बिना इंश्योरेंस कवर के BMW सड़के नाप रही है। ये हाल तब है जब विगत दिनों देश भर में नए ट्रैफिक नियमो की वजह से कोहराम मच गया था और ट्रैफिक पुलिस के 10 गुणा बढ़े चालान से अजीबोग़रीब दृश्य से सड़के गुलजार हो गई थी।

उल्लेखनीय है कि यह पहला अवसर नही है जब तेजप्रताप की कार दुर्घटनाग्रस्त हुई हो। अब देखना यह होगा कि इस बात की जानकारी के बाद क्या वाराणसी ट्रैफिक विभाग इस गाडी का चालान करता है या नहीं

Comments are closed.