बेधड़क ...बेलाग....बेबाक

BiG News- दरिंदगी का चरम, पटना में दहेज़ ख़ातिर एक और बेटी को ससुरालवालों ने ज़िंदा फूंका, इलाज के दौरान मौत

24

- Advertisement -

पटना Live डेस्क। बिहारी समाज की सबसे कुरूप और खौफनाक चेहरा बना गया है दहेज के दानव। यह दानव लगातार बेटियों को समूल निगल रहा है। इसी क्रम एक बार फिर राजधानी पटना में एक बेटी को जिंदा फूक दिया है और वजह बनी है दहेज की कुरीति। यह त्रासद व खौफनाक वारदात नौबतपुर थाना क्षेत्र में घटी है। घर की बहू को जिंदा जलाकर उसकी हत्या कर दी गई है। इस त्रासद हत्या का आरोप मकतूल के ससुराल वालों के ऊपर लगा है। पुलिस मामले का अनुसंधान करने में जुटी है।

सरकार के लाख प्रयासों और कड़े कानून के बावजूद खौफनाक जालिमाना दहेज प्रथा की वजह से बेटियों को न केवल प्रताड़नाएँ झेलनी पड़ रही बल्कि जिंदगी भी गवानी पड़ रही हैं। इसी क्रम में एक बार फिर पटना जिले के नौबतपुर थाना इलाके एक बेटी स्वाहा कर दी गई है। घटना करड़िया दरियापुर गांव की है जहां ससुराल वालों ने दहेज़ के लिए बहू को जिंदा जलाकर मार डाला। मिली जानकारी के मुताबिक मृतक महिला की पहचान बाइपास थाना के मर्चा गांव के रहने वाले अशर्फी पासवान की बेटी लाडो कुमारी के रूप में की गई है।

- Advertisement -

बताया जा रहा है कि लाडो की शादी डब्लू पासवान के साथ हिन्दू रीति रिवाज के अनुसार 29 अप्रैल 2016 को हुई थी। शादी सम्पन्न होने के बाद से लाडो की विदाई के बाद से ससुराल के लोग एक बाइक और दो लाख रुपये की मांग करने लगे। लेकिन पिता की आर्थिक स्थित ठीक न होने से लाडो के पिता अशर्फी पासवान बेटी के ससुराल वालों की इस नाजायज मांग को पूरा नही कर पा रहे थे। मांग पूरी होता न देख दहेज लोभी लाडो के पति और उनके परिजनो ने पहले तो उसे जमकर प्रताड़ित किया और जब उनकी पूरी नही हुई तो सभी ने मिलकर खौफनाक वारदात को अंजाम दे दिया। यानी लाडो को जिंदा ही फूक दिया। जिंदा जलाए जाने से बेहद गंभीर रूप से जख्मी लाडो का राजधानी के एक निजी अस्पताल में इलाज चला, जहाँ वो जिंदगी ख़ातिर जद्दोजहद करते हुए मौत के आग़ोश में चली गई।

बेटी के साथ हुए दर्दनाक और खौफनाक वारदात से सुधबुध खो चुके पिता और मर्माहत परिजनों को जब लाडो ने मरने से पहले खुद के साथ हुए दरीदगी की कहानी बताई तो उमके पाँवों के नीचे से जमीन निकल गई। बेटी के कसूरवारों को सज़ा दिलवाने ख़ातिर पिता के बयान पर थाने में मामला दर्ज करवा दिया है।

अपने लिखित आवेदन में बेटी को खोचुके अशर्फी पासवान ने लाडो के पति डब्लू पासवान, सास मन्नू देवी, ससुर सिद्धनाथ पासवान, देवर बब्लू कुमार, भैसुर सुधीर पासवान, गोतनी अमृति देवी और ननद नीरू कुमारी को नामजद अभियुक्त बनाया है। इस खौफनाक वारदात की प्राथिमिकी दर्ज करने के बाद नौबतपुर थाना प्रभारी सम्राट दीपक ने बताया कि मामले की जानकारी मिलते ही पुलिस ने ताबड़तोड़ कार्रवाई करते हुए मकतूल के पति नामज़द आरोपी डब्लू पासवान को धर दबोचा और अन्य आरोपी ससुराल वालों की गिरफ़्तारी के लिए छापेमारी की जा रही है। जल्द ही सभी आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया जाएगा।

- Advertisement -

Comments are closed.