BiG News – तीन पुलिस जवानों ने महिला कॉन्स्टेबल से किया गैंगरेप मामले की लीपापोती की कोशिश में जुटा महक़मा

3832

पटना Live डेस्क। कहावत है कि ‘जब बाड़ ही खेत को खाने लग जाए तो बेचारा खेत क्या करे।’ ये कहावत वैशाली पुलिस पर बिल्कुल मुफीद और सटीक बैठ रही है, क्योंकि जब पुलिसवाले ही “गैंगरेप” करने में मुलविज़ हो और वो भी साथी महिला कांस्टेबल का तो फिर क्या कहना और सुनना बाकी रह जाता है। पुलिस का वैसे तो जिम्मा आमआदमी की सुरक्षा का रहता है मगर पुलिस ही जब अपराधी की भूमिका में आ जाए तो आम जनता की क्या सुरक्षा होगी सहज कल्पना की जा सकती है। खैर,

बिहार की राजधानी पटना से सटे वैशाली जिला मुख्यालय हाजीपुर के दिघी स्थित पुलिस लाइन से एक बेहद ख़ौफ़ज़दा और शर्मशार करने वाली खबर मिल रही है। शुक्रवार की शाम पुलिस लाइन में अपने बॉयफ्रेंड से मिलने जा रही महिला आरक्षी के साथ पुलिस लाइन के ही जवानों ने गैंगरेप किया है। पुलिस वालों की दरिंदगी का शिकार होकर बदहवास हालत में जब वो बैरक तक पहुंची और वहां मौजूद महिला आरक्षियों को खुद के साथ हुए हादसे की जानकारी दी। इसके बाद तो पुलिस महकमे में भूचाल आ गया। लेकिन बजाय उचित कार्रवाई के इसपर पर्दा डालने की कवायद शुरू हों गई। जिले के तमाम वरीय पुलिस अधिकारियों ने पूछे जाने पर खामोशी अख़्तियार कर लिया है। वही, दूसरी तरफ लीपापोती की कोशिश भी जारी है।

बीज निगम के समीप हुई घटना

ज़िला मुख्यालय हाजीपुर-मुजफ्फरपुर फोरलेन पर दिग्घी पुलिस लाइन मौजूद है। इस परिसर में सुरक्षा के लिए कोई दीवार तक नहीं बनी है। शुक्रवार शाम लगभग साढ़े पांच से छह बजे के बीच जब हलका धुंधलका हो चुका था , पुलिस लाइन में ट्रेनिंग ले रही एक महिला आरक्षी मोबाइल पर बात करते जा रही थी। वही जैसा कि बताया जा रहा 3 कि संख्या में रहे  जवान उसका पीछा कर रहे थे। सूत्रों के अनुसार- बीज निगम के आगे से जाने वाली सुनसान जगह पर कथित रूप से महिला आरक्षी ने अपने ब्वॉयफ्रेंड को मिलने के लिए बुलाया था। ब्वॉयफ्रेंड पहले से बाइक लगाए इंतजार कर रहा था। महिला आरक्षी प्रेमी के साथ बात करने लगी।

इसी बीच टीशर्ट और लोवर पहने तीनो पुलिसवाले वहां आ धमके और महिला कांस्टेबल से बतिया रहे युवक को आपत्तिजनक शब्द कहते हुए उसकी तरफ लपके, यह देख उंक्त युवक वहां से भाग खड़ा हुआ। फिर क्या था, तीनो ने महिला कांस्टेबल को दबोचा लिया और फिर मजबूरी का फायदा उठाते हुए उसके साथ कथित रूप से जोर-जबरदस्ती करते हुए गैंगरेप किया। फिर धमकाते हुए ये कहा कि अगर इसके बाबत मुह खोला तो अंजाम बुरा होगा।

बैरक लौटने पर महिला आरक्षियों को बताया

खाकी वालो की दरिंदगी की शिकार महिला सिपाही  बदहवास हालत में किसी तरह जब अपने बैरक तक पहुंची।उसकी हालात देखकर वहां मौजूद अन्य लड़कियों जब उससे पूछा तो रोते हुए उसने खुद के साथ हुए घटना की जानकारी दी। फिर बैरक में मौजूद अन्य महिला आरक्षियों मामले किं गम्भीरता को देखते हुए इसकी जानकारी लाइन में मौजूद वरीय अधिकारियों को दी। लेकिन बजाए कुछ करने के मामले की लीपापोती की कवायद के तहत महिला आरक्षी को ही उचनीच और इज्जत आबरू की दुहाई देकर चुप रहने की कोशिश की जाने लगी।

आश्चर्यजनक खामोशी

 

शुक्रवार की शाम को घटित इस खौफ़नाक और शर्मनाक वाकये के बाबत अमूमन जिले के तमाम पुलिस अधिकारियों समेत लाइन में मौजूद हर छोटे से लेकर बड़ा अधिकारी अवगत है। लेकिन पूरी कोशिश की गई कि मामले को दबा दिया जाए लेकिन ख़बर के विभिन्न माध्यमो से मीडिया में पहुचने के बाद जब इसके बाबत पुलिस अधिकारियों से दरयाफ़्त किया गया तो सभी ने आश्चर्यजनक खामोशी ओढ़ ली और कुछ भी कहने परहेज करता दिखाई दे रहा है।

Loading...