बेधड़क ...बेलाग....बेबाक

FACT FINDING (वीडियो)-महिला सिपाही ने DGP गुप्तेश्वर पांडेय को किया गुमराह,आखिर कब और कैसे जानिए

197
  • डीजीपी बिहार फोन कर बढ़ा रहे पुलिसकर्मियों का मनोबल और ले रहे घर परिवार का हाल चाल
  • सोमवार को छपरा टाउन थाने में तैनात सोनम कुमारी से DGP ने की थी बातचीत
  • टाउन थानेदार के अनुसार DGP से बात कर गर्व महसूस करने वाली सोनम छुट्टी पर चली गई है।
  • सारण की महिला सिपाही ने डीजीपी को किया गुमराह
  • थाना मैनेजर के पद पर तैनात और अब कथित तौर पर बक़ौल थानेदार छुट्टी पर है 

पटना Live डेस्क। विश्वव्यापी आपदा बन चूके कोरोना वायरस को लेकर बिहार के डीजीपी गुप्तेश्वर पांडे, लोगों से लॉकडाउन का पालन करने की लगातार अपील करते हैं वहीं अपने #कोरोना_वॉरियर्स यानी पुलिसकर्मियों की हौसला अफजाई करने में भी पीछे नहीं रहते हैं। बीते सोमवार यानी 20 अप्रैल को डीजीपी ने #छपरा टाउन थाना चेक पोस्ट पर ड्यूटी में तैनात महिला पुलिसकर्मी सोनम कुमारी से फोन पर की बात। डीजीपी ने महिला पुलिसकर्मी से उसके और उसके परिवार के बारे में हाल चाल पूछा और कहा कि अगर कोई दिक्कत हो तो बताना। लीक से हटकर पीपुल्स फ्रेंडली पुलिसिंग के हिमायती डीजीपी बिहार के इस अनोखे अंदाज की चहु ओर चर्चा है। लेकिन एक बार फिर सूबे में एक अच्छे और अत्यंत सराहनीय प्रयास को कैसे “गुमराह” किया जाता है इसका ताजा उदाहरण का खुलासा पटना Live करने जा रहा है।

दरअसल, जानलेवा कोरोना वायरस कहर से आमआदमी को बचाने का जिन कर्मवीरों ने बीड़ा उठाया है। इनमें मुख्य रूप से #पुलिसकर्मियों और चिकित्सकों की भूमिका सबसे अहम है व अत्यधिक चुनौतीपूर्ण है। इन अदम्य साहसी कर्मवीरों द्वारा अपनी जान की परवाह किये बगैर मिनिमम सुरक्षा संसाधनों के साथ आमलोगों और घातक #CoronaVirus के बीच दीवार बनकर खड़े हैं। DGP साहब फोन कर इनकी हौसला अफ़जाई कर रहे है।

इसी क्रम में फ़ोन पर बातचीत के दौरान डीजीपी गुप्तेश्वर पांडे ने जिले में जारी लॉकडाउन के बारे में भी महिला सिपाही सोनम से बात की। इस दौरान उन्होंने सोनम को सही तरीके से ड्यूटी करने की सलाह दी और कहा कि इस लॉकडाउन में जरूरतमंदों के साथ अच्छे से पेश आना है। ताकि पुलिस की अच्छी छवि बनी रही। लॉकडाउन के दौरान अच्छे से अपने कर्तव्यों का पालन करना है।

दरअसल, मूल रूप से गया जिले की टिकारी थाना की रहने वाली सोनम कुमारी वर्त्तमान में छपरा टाउन थाने में तैनात है। सोनम बिहार के डीजीपी गुप्तेश्वर पांडे से फोन पर बात कर काफी गर्व महसूस कर रही हैं और करना भी चाहिए। डीजीपी से हुई बातचीत के बाबत सोनम कुमारी ने बताया कि यह हमारे लिए काफी गर्व की बात है कि हमारे डीजीपी साहब ने खुद फोन करके हमारा हालचाल पूछा। सोनम ने बताया कि डीजीपी के फोन के बाद से उनका मनोबल काफी बढ़ा है। सोनम ने बताया कि डीजीपी ने उनके परिवार के हालचाल की चर्चा की और कहा कि कोई दिक्कत हो तो बताना। सुनिए सोनम की जुबानी…

मीडिया से DGP से हुई बातचीत को साझा करते वक्त सोनम का चेहरा उसके शब्दो की गवाही नही दे रहा था। दरअसल, सोनम ने डीजीपी महोदय से बातचीत के दौरान अपनी ड्यूटी छपरा टाउन थाना चेक पोस्ट होने का दावा किया था। लेकिन वहाँ मौजूद अन्य ख़ाकीवालों के चेहरे भी कुछ कहते नज़र आ रहे थे। यानि कुछ तो बात थी,खैर मन शंका और दुविधा पटना Live के संवाददाता के मन मे घर कर गई थी। लेकिन क्यो ? सवाल का हल जरूरी था?

इसी बीच सारणएसपी हर किशोर राय ने भी बातचीत के बाबत कहा कि डीजीपी सर के इस अनोखे अंदाज से पुलिसकर्मियों का मनोबल काफी हाई है। डीजीपी साहब जब किसी से फोन करते हालचाल पूछते हैं तो अच्छा लगता है। यह डीजीपी साहब का अपने सहयोगियों का मनोबल बढ़ाने का अनोखा अंदाज है। इससे वो पुलिसकर्मी भी उनसे जुड़ा हुआ समझते हैं जो कभी उनके सामने नहीं पहुंच पाते।

आखिर क्यों ? सवाल का जवाब ढूढना जरूरी था

बिहार के डीजीपी गुप्तेश्वर पांडेय का अभिभावक अवतार और बेहद सराहनीय पहल देखते ही देखते मीडिया की सुर्खियां बन गया। DGP ने लॉकडाउन के दौरान छपरा की सिपाही (आरक्षी संख्या 1199) सोनम कुमारी से फोन पर की बात की तो इस सराहनीय पहल को बेहतर ढंग से कवर करने की कोशिश के तहत जब टीम पटना Live ने सोनम से संपर्क किया तो उसने कहा कि इंस्पेक्टर साहब से बात कर लीजिए महिला आरक्षी के इस जवाब ने पहले से ही मन मे बैठे शक और कुछ तो है के बीज में अंकुरण होने लगा। मतलब कुछ तो गड़बड़ है।

इस उधेड़बुन में हम आगे बढ़ते तभी याद आया वो तारीख 8 नवंबर 2016 जब 8 बजे रात्रि टीवी पर देश के प्रधानमंत्री ने ऐलान कर दिया कि आज से 500 और हजार के नोट बंद। दरअसल सरकर ने काले धन वालों पे शिकंजा कसना शरू कर दिया और आम आदमी बैंक ATM के बाहर लाइन मे खडा हो गया। लेकिन उस वक्त सबसे ज्यादा फेमस एक नाम हुआ सोनम,उसवक्त कम्बख्त नोटों पर लिख़ा मिलता सोनम गुप्ता बेवफ़ा है, दिमाग खटका और मन ही मन मुस्कराते हुए तय किया अब इस सोनम का भी सच जान लिया जाए क्योंकि दिल गवाही दे रहा था कुछ तो गड़बड़ है तभी तो चेहरे की रंगत उड़ी हुई थी सोनम की ?

चलिए चलते है टाउन थाना छपरा के उस चौक पर 

पटना Live संवाददाता ने जब सोनम द्वारा बताए गए चेकपोस्ट और मीडिया कर्मियों संग बातचीत में जहां का बैकग्राउंड यानी में छपरा टाउन थाना चेक पोस्ट का इस्तेमाल किया था वहाँ पहुचा तो सोनम तो नही मिली पर अन्य ख़ाकीवाले जिनमे महिला व पुरुष दोनों थे। जब हमने पूछा सोनम कहा? सबने हमें ऐसे देखा जैसे कोई बम फोड़ दिया हो, फिर सब इधर उधर टहल गए, बहुत ज्यादा कुरेदने पर ऑफ द रिकॉर्ड नाम नही उल्लेख करनें की शर्त पर बताया…सोनम का ड्यूटी यहाँ नही है उ तो थाना मैनेजर है। हम सन्न रह गए।

पटना Live संवाददाता ने जब सोनम द्वारा बताए गए चेकपोस्ट और मीडिया कर्मियों संग बातचीत में जहां का बैकग्राउंड यानी में छपरा टाउन थाना चेक पोस्ट का इस्तेमाल किया था वहाँ पहुचा तो सोनम तो नही मिली पर अन्य ख़ाकीवाले जिनमे महिला व पुरुष दोनों थे। जब हमने पूछा सोनम कहा? सबने हमें ऐसे देखा जैसे कोई बम फोड़ दिया हो, फिर सब इधर उधर टहल गए, बहुत ज्यादा कुरेदने पर ऑफ द रिकॉर्ड नाम नही उल्लेख करनें की शर्त पर बताया…सोनम का ड्यूटी यहाँ नही है उ तो थाना मैनेजर है। उ काहे चेक पोस्ट पर ड्यूटी करेगी ? उ दिन जे दिन फ़ोटो खिंचाया था उ आधा घंटा पहले आ गई थी।हम सन्न रह गए।

नगर थानेदार ने बताया छुट्टी पर है सोनम कुमारी

सोनम कुमारी के थाना मैनेजर होने की पुनः एक बार अपने सोर्स से पता किया तो यह बिल्कुल सही जानकारी साबित हुई। सोनम कुमारी थाना मैनेजर के पद पर आसीन है। नगर थाना में जब थानेदार से हमने पूछा कि सोनम कुमारी से इंटरव्यू करना है, उनका कहना रहा कि वो छुट्टी पर है। आखिर क्यों और क्या छुपाने की कोशिश हो रही है? शायद यह कवायद महिला सिपाही के DGP को गुमराह करने और बोले गए झूठ की पोल न खुल जाए को छुपाने की बेजा कोशिश है।

सवाल…

DGP से बात करने के दौरान सोनम थाने में थी तो फिर क्यो बोला झूठ, डीजीपी को किया गुमराह

विपदा के समय थाना मैनेजर सोनम को कैसे छुट्टी मिली

Comments are closed.