बेधड़क ...बेलाग....बेबाक

BiG News (CCtv फुटेज)-हिन्दू महासभा के पूर्व अध्यक्ष की लखनऊ में निर्मम हत्या, मिठाई के डिब्बे में लाए थे चाकू, CCTV में कैद हुए कमलेश तिवारी के हत्यारे

100
  • लखनऊ में हिंदू समाज पार्टी के अध्यक्ष कमलेश तिवारी की हत्‍या
  •  पहले हमलावरों ने की थी तिवारी को कॉल

पटना Live नेशनल डेस्क। उत्तर प्रेदश की राजधानी लखनऊ में हिंदू समाज पार्टी के अध्यक्ष कमलेश तिवारी की शुक्रवार को दिनदहाड़े हत्या से हड़कंप मच गया।हमलावर भगवा कपड़े पहने मिठाई के डिब्बे में चाकू, कट्टा लेकर खुर्शीद बाग इलाके में स्थित तिवारी के दफ्तर में आए और आधा घंटे से ज्यादा उनसे बातचीत की।इसके बाद मिठाई के डब्बे से चाकू निकाला और गर्दन रेतकर हत्या कर दी और फरार हो गए। घटना की सूचना पर पहुची पुलिस को जांच के दौरान हत्यारों की तिवारी के दफ्तर की ओर आते CCtv फुटेज मिली है। साथ ही कमरे से पिस्टल और खोखा मिला है। पुलिस मामले की जांच में जुटी है.

आने से पहले हत्यारों ने की थी फोन पर बात

कमलेश तिवारी के नौकर स्वराष्ट्रजीत सिंह ने हत्या के बाबत मीडिया से बातचीत में पूरे मामले का खुलासा किया। तिवारी के नौकर ने बताया कि हमलावरों ने आने से पहले 10 मिनट तक तिवारी जी से फोन पर बात की। उसके बाद जब हमलावर दफ्तर में आए तो उस वक्त सिक्योरिटी गार्ड सोया हुआ था। जिसकी वजह से दोनों शख्स सीधे कमलेश तिवारी से मिलने पहुंचे। कमलेश तिवारी से उन्होंने करीब आधे घंटे बात की।

हमलावरों ने तिवारी के नौकर को सिगरेट लेने भेजा

बातचीत के दौरान कमलेश तिवारी ने दोनों लोगों को दही बड़ा खिलाया और चाय भी पिलाई। कमलेश तिवारी के नौकर ने जब चाय सर्व की तो इस बीच दोनों लोगों ने तिवारी के नौकर से सिगरेट और मसाला लाने के लिए कहा तो वो उनके लिए उक्त चीजे लाने चला गया। इतने नौकर मसाला लेकर वापस लौटा तब तक हमलावर वारदात को अंजाम देकर मौके से फरार हो गए थे। नौकर का दावा है कि दोनों हमलावर बाइक से आए थे।उसने दावा करते हुए कहा कि वह बाइक को तो नहीं लेकर हमलावरों को अच्छे से पहचान सकता है।

कमलेश तिवारी के नौकर स्वराष्ट्रजीत सिंह ने बताया कि मुस्लिम लड़की और हिंदू लड़के की शादी को लेकर दोनों लोगों ने कुछ बातचीत की थी। जिसमें एक शख्स ने भगवा कपड़े पहने हुए थे। नौकर ने जब चाय दी तो उसे बाहर से सिगरेट लेने भेज दिया और इसी दौरान वारदात को अंजाम देकर फरार हो गए।

मिठाई के डिब्बे में चाकू लाए थे हत्यारे

भगवा कपड़े पहने हमलावर मिठाई के डिब्बे में चाकू, कट्टा लेकर आए खुर्शीद बाग इलाके में स्थित तिवारी के दफ्तर में घुसे थे। हमलावरों ने मिठाई का डब्बा खोला और गर्दन रेतकर उनकी हत्या कर दी।हमलावरों की पूरी वारदात सीसीटीवी में कैद हो गई।सीसीटीवी कैमरे में कैद वारदात के मुताबिक हमलावरों ने कमलेश तिवारी की ठोड़ी और सीने में चाकू से 15 से ज्यादा वार किए।

सूरत से लिया गया था मिठाई का डिब्बा

जांच में पता चला कि कमलेश तिवारी हत्याकांड में इस्तेमाल मिठाई का डिब्बा 16 अक्टूबर को सूरत की मिठाई के दुकान से खरीदा गया था। पुलिस इस मामले की जांच में जुटी है।

कौन थे कमलेश तिवारी?

हिंदू महासभा के पूर्व नेता कमलेश तिवारी ने वर्ष 2017 जनवरी में ही हिंदू समाज पार्टी की स्थापना की थी। तिवारी इससे पहले हिंदू महासभा के अध्यक्ष रह चुके थे। हिंदू महासभा के पूर्व अध्यक्ष रहे कमलेश तिवारी ने दिसंबर, 2015 में पैगंबर मोहम्मद के खिलाफ आपत्तिजनक टिप्पणी की थी। इसके बाद उसे गिरफ्तार कर लिया गया था। इस समय वह जमातन पर बाहर थे। इलाहाबाद हाईकोर्ट की लखनऊ बेंच ने कुछ समय पहले ही कमलेश तिवारी पर लगा राष्ट्रीय सुरक्षा कानून यानी रासुका हटाया था।

दरअसल, यूपी की सपा सरकार के कैबिनेट मिनिस्टर आजम खां ने आरएसएस मेंबर्स को होमोसेक्सुअल कहा था। इस पर हिंदू महासभा के नेता कमलेश तिवारी ने पैगंबर मोहम्मद पर विवादित टिप्पणी की थी। बयान दिसंबर 2015 में दिया गया था। यूपी में सपा की सरकार थी. यूपी में माहौल बिगड़ता देख सीएम अखिलेश यादव ने तिवारी के खिलाफ कार्रवाई का आदेश दिया, लेकिन कमलेश तिवारी के बयान को लेकर कुछ जगहों पर हिंसा हुई थी।कमलेश तिवारी के आपत्तिजनक बयान की वजह से पश्चिम बंगाल के मालदा में लाखों मुस्लिम सड़क पर उतर आए थे।कुछ ने थाने फूंक दिए थे। बसें जलाईं थी। इसके बाद बिहार के पूर्णिया में भी बवाल हुआ था।

कमलेश तिवारी की हत्या के बाद समर्थक हत्यारों की गिरफ्तारी की मांग को लेकर हंगामा किया। इलाके की दुकानों को बंद कराया दी गई।

Comments are closed.