बेधड़क ...बेलाग....बेबाक

BiG News(वीडियो)7 दिन में दूसरी बार नीतीश के विधायक को ग्रामीणों ने खदेड़ा,बीच बचाव करने आए उमेश कुशवाहा के समर्थकों को कूटा

664

पटना Live डेस्क। बिहार में विधानसभा चुनाव की तैयारियों के बीच जनता का आक्रोश अपने अपने जनप्रतिनिधियों पर फुट पड़ा है।हर दल और हर पार्टी के विधायकों का जमकर विरोध हो रहा है। इस क्रम में महनार के JD(U) के उमेश सिंह कुशवाहा को 7 दिन के अंदर दूसरी बार विधायक को ग्रामीणों ने खदेड़ा दिया है। हद तो ये की इस बार तो गुस्साए ग्रामीणों ने बीच बचाव करने आए समर्थकों और बॉडीगार्ड की भी कुटाई कर दी है।

दरअसल, यह गुस्सा विधायक द्वारा चुनाव के वक्त अपने क्षेत्र की याद आने का नतीजा है। क्षेत्र की जनता से विधायक लाव लश्कर के साथ पहुचे तो पांच साल के बाद उनको देखते ही ग्रामीण भड़क गए और गांव में मुर्दाबाद के नारे लगाने लगे। यह मामला महनार विधानसभा क्षेत्र के चकेशो गांव का है। यह कोई पहली बार नही जब विधायक को जनता का आक्रोश झेलना पड़ा है। विगत दिनों यानी 9 सितंबर को भी जदयू विधायक अपने क्षेत्र में प्रचार प्रसार ख़ातिर पहुचे थे लेकिन अक्रोशित ग्रामीणों ने न केवल खदेड़ दिया था बल्कि बाकायदा बेहद गंदी गंदी गालियों से नवाजा था। तब विधायक और उनके साथ के लोग वाहनों ओर सवार होकर भाग निकले थे फिर भी लोगो ने गाड़ियों को रोक कर उन्हें भला बार कहा था।

बीच बचाव करने आए समर्थकों से मारपीट
महनार विधायक चुनावी वेला में लगातार जन सम्पर्क के तहत क्षेत्र का भ्रमण कर रहे है। इसी क्रम में वो विधानसभा क्षेत्र के चकेशो गांव में पहुचे फिर क्या था ग्रामीणों ने जमकर खरी खोटी सुनाते हुए विरोध पर उतारू हों गये। अपने विधायक का विरोध देख साथ रहे समर्थकों के होश उड़ गए और उनके चेहरे और हवाइयां उड़ने लगी। किसी तरह हिम्मत जुटा कर ग्रामीणों को समझाने की कोशिश करने लगे। पूरी तरह विरोध पर उतारू ग्रामीण कुछ समझने और मानने तो तैयार नहीं थे। हालात इस कदर बिगड़ गए कि विधायक के समर्थकों और गाँव वालो में धक्कामुक्की देखते देखते मारपीट में तब्दील हो गई। मामले की गंभीरता को देखते हुए सत्ताधारी दल के विधायक के बॉडीगार्ड भी मोर्चा संभालने भीड़ के बीच मे कूद पड़े और बीच बचाव करने लगे।

वीडियो बनाने से रोका

दरअसल, विधायक की फजीहत और विरोध के दौरान कई ग्रामीण वीडियो बनाने लगे। लेकिन इस दौरान विधायक समर्थकों ने वीडियो बनाने से ग्रामीणों को जबरिया रोकने लगे।उनको डर था कि पिछली बार की तरह इस बार भी विरोध का वीडियो वायरल हो जाएगा।

लेकिन ग्रामीणों ने वीडियो बना लिया।बताया जा रहा है कि विधायक चकेशो गांव में जनसम्पर्क के दौरान भाषण देने गए थे। वहां पर उपस्थित कुछ युवा विधायक पर पांच साल गायब रहने का आरोप लगाते हुए उग्र हो गए।जिस पर जदयू चिकित्सा प्रकोष्ठ के जिलाध्यक्ष ने समझाने का प्रयास किया तो युवा उनसे ही उलझ गए। जिस पर जदयू प्रखंड अध्यक्ष और विधायक के अंगरक्षक ने मिल कर बीच बचाव किया। वहीं, कुछ लोग मारो मारो की आवाज़ भी लगा रहे हैं।क्षेत्र की जनता द्वारा लगातार विरोध वर्त्तमान विधायक की जारी फजीहत उनके चुनावी सेहत ख़ातिर बेहद खराब मानी जाने लगी है।

­

Comments are closed.