बेधड़क ...बेलाग....बेबाक

Video-जेडीयू के दबंग उम्मीदवार पर गुंडई का फिर आरोप, कुचायकोट के बाहुबली MLA पप्पू पांडेय के खिलाफ थाने में शिकायत

नीतीश कुमार के कुचायकोट के विधायक सह उम्मीदवार जिन्हे लोग अमरेन्द्र बाहुबली कहते है पर फिर एक बार दबंगई और गुंडई का लगा आरोप

425

पटना Live डेस्क।बिहार में जारी सियासी घमासान के बीच मे गोपालगंज से एक बड़ी खबर आ रही है। नीतीश कुमार के दल के कुचायकोट के बाबूबली विधायक व प्रत्याशी अमरेन्द्र कुमार पांडेय उर्फ पप्पू पांडेय पर फिर एक बार बेहद गंभीर आरोप लगे है। दरअसल,बाहुबली पप्पू पांडेय पर गुंडई और घर में घुसकर मारपीट करने का आरोप लगा है।इस घटना को लेकर थाने में शिकायत भी दर्ज कराई गई है। गोपालगंज पुलिस घटना की छानबीन में जुटी हुई है।

                         जदयू के गोपालगंज जिले के कुचायकोट के वर्त्तमान विधायक जिन्हें लोग प्यार से अमरेन्द्र बाहुबली भी कहते है पर एक बार फिर दंबगई और गुंडई के आरोप लगे है। दरअसल, पप्पू पांडेय जदयू के टिकट पर कुचायकोट से पुनः एक चुनावी अखाड़े में शिरकत कर रहे है।

कुचायकोट का किंग कौन ? 

वही, दूसरी तरफ गोपालगंज के इस बेहद चर्चित कुचायकोट विधानसभा क्षेत्र से बाहुबली सतीश पांडेय के भाई जदयू विधायक अमरेंद्र पांडेय को उनके ही गढ़ में मात देने के लिए कांग्रेस ने 17 वर्षों से लोजपा की सवारी कर रहे पूर्व सांसद काली पांडेय को अपनी ओर से मैदान में उतारा है।

काली पांडेय बाहुबली सांसद रह चुके हैं तथा गोपालगंज की चुनावी राजनीति में बतौर निर्दलीय उम्मीदवार कई बार संसदीय चुनाव में लगभग डेढ लाख वोट प्राप्त कर चुके हैं।

80 के दशक में गोपालगंज के राजनीति की धुरी रह चुके पूर्व सांसद काली प्रसाद पांडेय का अभी भी गोपालगंज जिला में ठोस आधार मौजूद है।कांग्रेस ने जदयू का गढ़ माने जाने वाले कुचायकोट विधान सभा क्षेत्र में अपनी जीत सुनिश्चित करने के लिए महागठबंधन की ओर से पूर्व बाहुबली सांसद काली पांडेय को अखाड़े में उतारा है।

कुचायकोट ब्राह्मण बहुल विधानसभा क्षेत्र बताया जाता है।गोपालगंज के बाहुबली सतीश पांडेय के छोटे भाई अमरेंद्र पांडेय उर्फ पप्पू पांडेय बतौर जदयू उम्मीदवार लगातार चार बार से कुचायकोट से विधानसभा चुनाव जीतते आ रहे हैं।इस दफे कुचायकोट विधानसभा में जदयू के अभेद्य दुर्ग को ध्वस्त करने के लिए महागठबंधन ने पुराने बाहुबली काली पांडेय का सहारा लिया है।

                 गोपालगंज की राजनीति को समझने वाले यह भली-भांति जानते हैं कि पहले के कटैया विधानसभा तथा वर्तमान कुचायकोट विधानसभा क्षेत्र में सतीश पांडेय तथा उनके भाई पप्पू पांडेय को टक्कर देने के लिए किसी पुराने स्थानीय दबंग को ही खड़ा करने की आवश्यकता थी। इसलिए महागठबंधन इस बार पूर्व सांसद काली पांडे पर दांव लगाया है।

अमरेन्द्र बाहुबली vs विख्यात काली बाबा

कुचायकोट में दोनों के सियासी जंग में उतरने के बाद से पूरा इलाक़ा दो पार्ट में बट गया है। इसी क्रम में कुचायकोट थाना क्षेत्र के नारायणपुर में दो पक्षों के बीच मारपीट की घटना सामने आई है। बताया जा रहा है कि चुनावी रंजिश में दोनों गुटों के बीच विवाद हुआ है। इस घटना को लेकर दोनों ही पक्षों की ओर से थाने में लिखित शिकायत दी गई है, जिसके आधार पर गोपालगंज पुलिस मामले की छानबीन कर रही है।बताया जा रहा है कि एक व्यक्ति को हिरासत में भी लिया गया है।

एक पक्ष की ओर से थाने में दर्ज शिकायत के मुताबिक कुचायकोट के बाहुबली विधायक अमरेंद्र पांडेय ऊर्फ पप्पू पांडेय के ऊपर बड़ा आरोप लगाया गया है। अपने समर्थकों के साथ हथियार लेकर घर में घुसकर मारपीट करने और महिलाओं के साथ भी हिंसा व दुर्व्यवहार करने का आरोप लगाया है। नारायणपुर के रहने वाले हरिलाल दुबे के बेटे प्रवीण दुबे की ओर से यह शिकायत की गई है।जिसमें लिखा गया है कि दबंग विधायक ने भोला की पत्नी उमरावती देवी के साथ मारपीट की और उसका चेन छीन लिए। घर के दो लड़कों के ऊपर राइफल भिड़ाकर धमकी देने का भी आरोप लगाया गया है।

वहीं दूसरी ओर नारायणपुर के ही रहने वाले अजय कुमार दुबे ने भी प्रवीण दुबे और उसके साथियों के खिलाफ चाक़ू से वारकर जानलेवा हमला करने की शिकायत की है। इनकी ओर से जो आवेदन दिया गया है।उसमें प्रवीण दुबे के अलावा रितेश दुबे, रविरंजन दुबे, प्रितेश दुबे और भोला दुबे का नाम शामिल हैं।इनके ऊपर गाली-गलौज कर जान से मारने की धमकी देने का आरोप लगाया गया है।

इस मामले को लेकर पटना Live ने जब गोपालगंज के सएसपी मनोज कुमार तिवारी से बात की तो उनका कहना रहा कि दो उम्मीदवारों पप्पू पांडेय और काली पांडेय के समर्थक आपस में भिड़े थे। दोनों पक्षों की ओर से लिखित शिकायत दी गई है।जिसमें कुचायकोट सीट से जेडीयू विधायक पप्पू उर्फ़ अमरेंद्र पांडेय का भी नाम शामिल हैं। पुलिस इस लिखित आवेदन के आधार पर कार्रवाई में जुटी हुई है।

वही, इस मारपीट और आरोप-प्रत्यारोप रंजिश का फलाफल तो थाने तक जा पहुचा है पर ये तो नवंबर 10 तारीख को पता चलेगा कि आखिर जनता किसे कुचायकोट का किंग बनाती है।

­

­

Comments are closed.