बेधड़क ...बेलाग....बेबाक

BiG News – जामिया ने जारी किया हॉस्टल खाली करने का फरमान,गर्मियों की छुट्टियों की हुई घोषणा 

55

- Advertisement -

पटना Live डेस्क। जामिया विश्वविद्यालय प्रशासन ने छात्रों से हॉस्टल खाली करने को कहा है। विश्वविद्यालय के रजिस्ट्रार ए.पी. सिद्धकी ने शुक्रवार देर रात एक पत्र जारी करते हुए कहा, “जो विद्यार्थी हॉस्टल में रह गए थे, उन्हें अब हॉस्टल खाली करने का निर्देश दिया जाता है।

विश्वविद्यालय प्रशासन ने हॉस्टल में मौजूद छात्रों से कहा, “आप सभी को मालूम है कि कोरोना वायरस के कारण विश्वविद्यालय बंद है। यहाँ लाइब्रेरी समेत सभी शैक्षणिक गतिविधियाँ पूरी तरह से बंद हैं। विश्वविद्यालय जुलाई में परीक्षाएँ लेगा और इसी के साथ नया सत्र सितंबर 2020 से शुरू होगा।”

- Advertisement -

जामिया मिल्लिया इस्लामिया ने तत्काल प्रभाव से छात्रों को हॉस्टल (गर्ल्स और ब्यॉयज) खाली करने का आदेश दिया है। विश्वविद्यालय प्रशासन की तरफ से छात्रों को निर्देश देते हुए कहा गया है कि सरकार द्वारा जारी की गई नई गाइडलाइंस का पालन करते हुए छात्र अपने घर जा सकते हैं। बता दें कि विश्वविद्यालय ने यह आदेश शुक्रवार (मई 1, 2020) को जारी किया।

गर्मियों की छुट्टियों की हुई घोषणा 

इसी के साथ विश्वविद्यालय ने गर्मियों की छुटिट्यों की घोषणा कर दी है। अब अगस्त में विश्वविद्यालय खुलेगा, लेकिन डेट की घोषणा बाद में की जाएगी। इसके अलावा सितंबर से शैक्षणिक सत्र 2020 शुरू होगा। दाखिला आवेदन पत्र भरने की डेट बढ़ाई जाएगी,इसकी जानकारी 4 मई के बाद जारी की जाएगी। इसी के आधार पर दाखिला आवेदन पत्र और दाखिला प्रवेश परीक्षा के लिए दिशा-निर्देश बनेंगे। इस दौरान लाइब्रेरी व सभी विभाग भी बंद रहेंगे।

रजिस्ट्रार एपी सिदद्की की ओर से छात्रों, शिक्षकों और कर्मियों के लिए नोटिस जारी किया गया है। इसमें लिखा है कि कोविड-19  से बचाव के चलते लॉकडाउन बढ़ने और यूजीसी की 29 अप्रैल की गाइडलाइन के तहत यह फैसला लिया गया है।

जामिया में पहले से पढ़ाई कर रहे विभिन्न डिग्री प्रोग्राम के छात्रों के लिए अगस्त में विश्वविद्यालय ओपन होगा, लेकिन यह देश में कोरोना के हालात पर निर्भर होगा। इसलिए विश्वविद्यालय अगस्त में किस डेट से खोला जाएगा, इसकी घोषणा बाद में की जाएगी।नया दाखिला लेने वाले छात्रों के लिए सितंबर में एकेडमिक सत्र शुरू होगा। गर्मियों की छुटिटयों की अवधि में विश्वविद्यालय कैंपस और हॉस्टल को सैनिटाइज करने का काम होगा।

विश्वविद्यालय प्रशासन का कहना है कि छात्रों के लिए सरकार की नई गाइडलाइंस में ट्रांसपोर्ट और ट्रैवल प्रोटोकॉल है। गौरतलब है कि लॉकडाउन घोषित किए जाने के कारण कई छात्र अपने घर नहीं जा सके थे और हॉस्टल में ही रुके हुए हैं।

लॉकडाउन के कारण देश के विभिन्न हिस्सों में फँसे लोगों को घरों तक पहुँचाने के लिए राज्य सरकारों की अपील के बाद भारतीय रेलवे स्पेशल ट्रेनें भी चला रही हैं। वहीं कई राज्य सरकारों ने विशेष बसों के माध्यम से अपने राज्यों के छात्रों की वापसी सुनिश्चित करवाई है।

                     इन व्यवस्थाओं के शुरू होने के बाद जामिया विश्वविद्यालय प्रशासन ने छात्रों से हॉस्टल खाली करने को कहा है। विश्वविद्यालय के रजिस्ट्रार ए.पी. सिद्धकी ने शुक्रवार देर रात एक पत्र जारी करते हुए कहा, “जो विद्यार्थी हॉस्टल में रह गए थे, उन्हें अब हॉस्टल खाली करने का निर्देश दिया जाता है। विश्वविद्यालय के आसपास का क्षेत्र पहले ही हॉटस्पॉट घोषित किया जा चुका है। ऐसे में विश्वविद्यालय द्वारा आवश्यक सुविधाएँ उपलब्ध कराना कठिन होगा।”

- Advertisement -

Comments are closed.