बेधड़क ...बेलाग....बेबाक

BiG News – कुंदन कृष्णन केंद्रीय प्रतिनियुक्ति पर दिल्ली पहुचे अन्य 2 चर्चित IPS भी बिहार छोड़ने को तैयार

DIG मनु महाराज के सेंट्रल डेपुटेशन पर जाने की चर्चा होती रही है पर DG आरएस भट्टी का केंद्रीय प्रतिनियुक्ति पर जाना थोड़ा हैरानकुन फैसला है।

2,778

पटना Live डेस्क। बिहार के वरिष्ठ IPS अफसर कुंदन कृष्णन को केंद्रीय प्रतिनियुक्ति पर जाने के लिए बिहार से विरमित कर दिया गया है। आज वो दिल्ली के लिये रवाना भी हो गये और पहुंच भी गये। कुंदन कृष्णन 1994 बैच के आईपीएस अधिकारी हैं और वे बिहार में एडीजी मुख्यालय जैसे महत्वपूर्ण पद पर रह चुके हैं। उन्हें अगले 3 सालों के लिए केंद्रीय प्रतिनियुक्ति मिली है। इसके अलावा बिहार के दो और IPS अधिकारियों को केंद्रीय प्रतिनियुक्ति मिली है।

जानकारी के अनुसार, कुंदन कृष्णन केंद्रीय प्रतिनियुक्ति के दौरान राष्ट्रीय सुरक्षा परिषद सचिवालय में संयुक्त सचिव के पद पर अपना योगदान देंगे। बिहार सरकार के गृह विभाग ने इसकी अधिसूचना जारी कर दी है। बता दें कि 2019 में लोकसभा चुनाव के दौरान कुंदन कृष्णन एडीजी मुख्यालय के पद पर तैनात थे, लेकिन बिहार सरकार ने चुनाव के परिणाम आने के बाद उन्हें उनके पद से हटाकर नागरिक सुरक्षा परिषद के पद पर तैनात कर दिया था। उस समय एडीजी मुख्यालय के पद से अचानक उनको हटाए जाने को लेकर काफी चर्चा हुयी थी कि राजनैतिक दवाब में उन्हें हटाया गया था। हालांकि कुंदन कृष्णन की तरफ से इस मामले में कोई प्रतिक्रिया नहीं आई थी। लेकिन बताया जा रहा है कि सत्तारूढ़ दल के सांसद के दवाब में उन्हें हटाया गया था।

बिहार सरकार ने इसके अलावा राज्य के दो और IPS अधिकारियों को केंद्रीय प्रतिनियुक्ति पर जाने की सहमति दे दी है. इनमें बीएमपी के DG आरएस भट्टी और सारण के DIG मनु महाराज का नाम शामिल है।

आर एस भट्टी, डीजी, बीएमपी

बिहार कैडर के बेहद चर्चित आईपीएस अधिकारियों में शुमार व वर्त्तमान में DG होमगार्ड्स राजविंदर सिंह भट्टी को भी सरकार ने केंद्रीय प्रतिनियुक्ति पर जाने की सहमति दी है। 1990 बैच के आईपीएस अफसर आरएस भट्टी इससे पहले बीएमपी के एडीजी थे। विगत वर्ष ही प्रमोशन मिलने के बाद इन्हें सरकार ने बीएमपी के महानिदेशक की जिम्मेदारी सौंप दी। आपको बता दें कि बिहार के पूर्व डीजीपी गुप्तेश्वर पांडेय के वीआरएस लेने के बाद आरएस भट्टी भी नए डीजीपी की रेस में थे। हालांकि आईपीएस एसके सिंघल बिहार पुलिस के मुखिया बने,जो गुप्तेश्वर पांडेय के जाने के बाद इस पद की अतिरिक्त जिम्मेदारी संभाल रहे थे।

बिहार कैडर के आईपीएस आरएस भट्ठी कई बड़े पदों की जिम्मेदारी संभाल चुके थे।ये राजधानी पटना, गोपालगंज,मुजफ्फरपुर आदि जिलों में एसपी थे।तब अपने कारनामे काफी चर्चित थे। पटना में एक बार इन्‍होंने लालू प्रसाद यादव की गाड़ी रोक ली थी। इतना ही नहीं मजनूओं के खिलाफ काफी अभियान चलाते थे। सड़क पर लड़कियां छेड़ते पकड़े जाने पर ये युवकों का बाल काट देते थे। साथ ही अपहरण गिरोहों के खिलाफ उनकी नेटवर्किंग काफ़ी सशक्त रही है। सूबे के कई चर्चित अपहरणकांडो का सफल उद्भेदन ख़ातिर आईपीएस भट्टी को जाना जाता है।

तीसरे आईपीएस मनु महाराज

                     बिहार के चर्चित आईपीएस अधिकारी और वर्तमान में सारण रेंज के डीआईजी मनु महाराज भी केंद्रीय प्रतिनियुक्ति पर जा रहे हैं।बिहार सरकार ने इसकी सहमति दे दी है।मनु महराज भारतीय पुलिस सेवा 2005 के आईपीएस अफसर हैं। वर्त्तमान में सारण रेंज के डीआईजी बनने से पहले मनु महाराज मुंगेर के डीआईजी रह चुके हैं। मनु महराज पटना और दरभंगा के सीनियर एसपी भी रह चुके हैं। राजधानी पटना में सीनियर एसपी रहने के दौरान मनु महाराज काफी चर्चा में रहें। अब देखना होगा कि इन दोनों अधिकारियों को केंद्र सरकार किस विभाग में समायोजित करता है।

Comments are closed.