बेधड़क ...बेलाग....बेबाक

BiG Breaking (Exclusive) सुशासन राज़ में जेल भी नही रहा सुरक्षित,चाक़ू घोप कर नृशस हत्या,परिजनों का रो रोकर बुरा हाल

सोमवार के सुबह सबेरे मारा गया था चाकू, इलाज के दौरान तोड़ दिया दम, परिजनों का आरोप हत्या हुई थी जेल में लड़ाई इसलिए मारा डाला गया। मो मुन्ना जो जहानाबाद का रहने वाला बताया जाता ने धारदार (छुरा/ कैची) से टुनटुन को गोंद दिया।

817

पटना Live डेस्क। बिहार में अपराधियों तांडव जारी है। वही सुशासन के दम फूलता प्रतीत हो रहा है। हद तो ये की नीतीश कुमार के राज में अब जेल वही सुरक्षित नही रह गए है। ये महज एक जुमला नही बल्कि वो हक़ीक़त है जो राजधानी पटना के फुलवारी कारा में सनसनीखेज तरीके से अंज़ाम पाई हत्या की वारदात है। दरअसल, फुलवारी जेल में शराब से जुड़े मामले में 3 महिने पहले गिरफ्तार होकर अगमकुआं थाना द्वारा जेल भेजे गए आरोपी टुनटुन राय क सुबह सबेर 6 बजे के आसपास उसवक्त बेहद धारदार चाकू से गोंद दिया गया जब वो वार्ड में अपने बेड बैठा था। चाकू घोप जाने के बाद वार्ड में कोहराम मच गया। आनन फानन में गंभीर रूप टुनटुन को मंडल कारा द्वारा अस्पताल ले जाया गया लेकिन रास्ते मे ही उसकी मौत हो गई।

2-4 दिन से हो रही थी वार्ड के अन्य गुट से लड़ाई

वही इस खुरजी के बाबत जेल के विश्वस्त सूत्रों ने  घटना के संबंध में बताया कैपिसिटी से ज्यादा कैदी होने की वजह से जेल वार्ड में सोने और छोटी से छोटी जरूरतों ख़ातिर वार्ड के दबंगों से गुहार लगानी पड़ती है।इसी क्रम में जेल के वार्ड-2 में मौजूद कैदियों के एक गुट 2 लड़को से मकतूल का लगातार 2-4 दिनों से विवाद चल रहा था। दोनों पक्ष आपस में लगातार भिड़ रहे थे, पर गालीगलौज व मामूली हाथापाई तक मामला रुक जा रहा था। लेकिन सोमवार की अहले सुबह शुरू हुआ बकझक व गाली गलौज ने ख़ूनी शक्ल अख्तियार कर लिया। फिर क्या था दूसरे गुट ने टुनटुन पिटाई करने लगे इसी बीच मो मुन्ना जो जहानाबाद का रहने वाला बताया जाता ने धारदार (छुरा/ कैची) से टुनटुन को गोंद दिया। गम्भीर रूप से जख्मी टुनटुन को इलाज के लिए पीएमसीएच भेजा गया लेकिन मकतूल की रास्ते मे ही मौत हो गई। दरअसल, वार्ड में वर्चस्व को लेकर 2 गुटों के विवाद का परिणाम टुनटुन की हत्या है।

घटना की जानकारी पर खाजेकलां थाना क्षेत्र के मित्तन घाट से टुनटुन के परिजन फुलवारी शरीफ मंडल कारा पहुचे। मकतूल की पत्नी व अन्य औरते भी साथ आई थी जिनका रो रो कर बुरा हाल है। वही घटना के बाबत उनका कहना रहा कि जेलर साहब न जेल के मालिक है उहे मरवा दिए है।

वही, घटना के बाबत जेल प्रशासन की चुप्पी भी बड़े सवाल खड़े कर रही है। वही मकतूल का शव पोस्टमार्टम के लिए PMCH अस्पताल रवाना कर दिया गया है।

Comments are closed.