कप्तान कोहली और रोहित शर्मा के धमाकेदार शतक की बदौलत टीम इंडिया ने लगातार सातवीं वनडे श्रृंखला जीती

पटना Live डेस्क।भारत ने कानपुर के ग्रीनपार्क स्टेडियम में खेले गए आखिरी वनडे के रोमांचक मुकाबले में न्यू जीलैंड को 6 रनों से मात देते हुए तीन मैचों की सीरीज पर 2-1 से कब्जा जमा लिया। भारत ने पहले बल्लेबाजी करते हुए रोहित शर्मा (147) और विराट कोहली (113) के बीच हुई दोहरी शतकीय साझेदारी के दम पर निर्धारित 50 ओवरों में सात विकेट के नुकसान पर 337 रन बनाए थे। जवाब में कीवी टीम पूरे ओवर खेलने के बाद सात विकेट पर 331 रन ही बना सकी। यह भारत की लगातार 7वीं द्विपक्षीय सीरीज जीत है। यह भारत की लगातार सबसे ज्यादा सीरीज जीत का रेकॉर्ड है। कानपुर में मैंन ऑफ़ दी मैच रोहित शर्मा और मैंन ऑफ़ दी सीरीज कप्तान विराट कोहली के धमाकेदार शतक और दोनों के बीच रिकॉर्ड साझेदारी के बाद अंतिम ओवरों में गेंदबाजों के बेहतरीन प्रदर्शन की बदौलत भारत ने न्यूज़ीलैंड को हरा दिया है। भारत ने रोमांच से भरे तीसरे और अंतिम एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट मैच में  न्यूजीलैंड को 6 रन से हरा दिया।

मेजबान भारत के 338 रन के लक्ष्य का पीछा करते हुए न्यूजीलैंड की टीम सलामी बल्लेबाज कोलिन मुनरो के 75 रन, कप्तान केन विलियमसन और टाम लैथम के अर्धशतकों के बावजूद 7 विकेट पर 331 रन ही बना सकी। भारत ने 2-1 से न्यूज़ीलैंड के खिलाफ यह श्रृंखला अपने नाम कर लिया है। इस तरह उसने न्यूजीलैंड के खिलाफ स्वदेश में द्विपक्षीय श्रृंखला कभी नहीं गंवाने का रिकॉर्ड बरकरार रखा। भारत ने यह लगातार सातवीं वनडे श्रृंखला जीती है जो उसका सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन है।

अंतिम ओवरों में भारत की इस शानदार जीत के सूत्रधार जसप्रीत बुमराह रहे, जिन्होंने 47 रन देकर तीन विकेट चटकाए। युजवेंद्र चहल ने भी 47 रन देकर 2 विकेट हासिल किए। भुवनेश्वर कुमार ने वनडे में अपना दूसरा सबसे खराब प्रदर्शन करते हुए 10 ओवर के अपने स्पेल में 92 रन लुटाए। उन्हें एक विकेट मिला।

भारत ने इससे पहले रोहित (147) और कोहली (113) के बीच दूसरे विकेट की 230 रन की साझेदारी की बदौलत 6 विकेट पर 337 रन बनाए जो ग्रीन पार्क पर सर्वाधिक स्कोर भी है। ये दोनों वनडे क्रिकेट में 4 दोहरी शतकीय साझेदारी करने वाली दुनिया की पहली जोड़ी है। रोहित ने 138 गेंद का सामना करते हुए 18 चौके और दो छक्के जड़े जबकि कोहली ने 106 गेंद का सामना करते हुए 9 चौके और 1 छक्का मारा।

लक्ष्य का पीछा करते हुए मुनरो ने अपनी पहली चार गेंदों में भुवनेश्वर पर छक्का और 3 चौके मारे। वही दूसरे ओपनर मार्टिन गुप्टिल कोई कमाल नहीं कर सके और बुमराह की गेंद को हवा में लहराकर दिनेश कार्तिक को आसान कैच दे बैठे। मुनरो और विलियमसन ने 109 रन जोड़कर पारी को संवारा। दोनों ने 10 ओवर में टीम का स्कोर एक विकेट पर 74 रन तक पहुंचाया। मुनरो ने केदार जाधव की गेंद पर एक रन के साथ 38 गेंद में अर्धशतक पूरा किया। टीम के रनों का शतक 15वें ओवर में पूरा हुआ।

मुनरो और विलियमसन ने जाधव के खिलाफ आसानी से रन जोड़े लेकिन चहल ने दोनों को बांधे रखा। विलियमसन ने जाधव पर चौके के साथ 59 गेंद में अर्धशतक पूरा किया। मुनरो ने जाधव पर भी छक्का जड़ा लेकिन अगले ओवर में चहल की सीधी गेंद को चूककर बोल्ड हो गए। उन्होंने 62 गेंद की अपनी पारी में 8 चौके और तीन छक्के मारे।

 

विलियमसन भी इसके बाद चहल की गेंद को हवा में खेलकर विकेटकीपर महेंद्र सिंह धौनी को कैच दे बैठे। उन्होंने 84 गेंद का सामना करते हुए 8 चौके जड़े। रोस टेलर (39) और लैथम ने इसके बाद पारी को आगे बढ़ाया। लैथम ने स्वच्छंद होकर बल्लेबाजी की। उन्होंने पांड्या और अक्षर पटेल पर 2-2 चौके मारे। न्यूजीलैंड के 200 रन 34वें ओवर में पूरे हुए। न्यूजीलैंड को अंतिम 10 ओवर में जीत के लिए 91 रन की दरकार थी। बुमराह ने 41वें ओवर में वापसी करते हुए पहली ही गेंद में टेलर को जाधव के हाथों कैच कराके लैथम के साथ उनकी 79 रन की साझेदारी तोड़ी।