BiG News – IIT पटना कैम्पस फ़ायरींग – रेंज IG संजय सिंह ने दिलाया भरोसा जल्द होगी खूंरेजी में शामिल अपराधियो की गिरफ्तारी, किसी को डरने की नही है जरूरत

312

पटना Live डेस्क। राजधानी पटना के बिहटा में स्थित निर्माणाधीन IIT कैम्पस बुधवार की देर शाम गोलियों की तड़तड़ाहट से गूंज उठा। दरअसल कैम्पस में जारी भवन निर्माण के एक ठेकेदार और स्थानीय बदमाशों के बीच पहले तो जमकर मारपीट हुई और फिर बदमाशों द्वारा की गई अन्धाधुन्ध गोलीबारी में ठेकेदार बाप बेटे समेत एक मजदूर ज़ख्मी हो गए। इस मामले सूचना मिलते ही पटना पुलिस महकमें में खलबली मच गई।

पूरी खबर जानने ख़ातिर क्लिक करें 

BiG ब्रेकिंग News – IIT पटना कैंपस में घुसकर अपराधियों ने 3 लोगों को मारी गोलिया और फिर ताबड़तोड फायरिंग करते हो गए फरार

वारदात के बाबत रेंज आईजी संजय सिंह ने कहां की दोषियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई के साथ ही जल्द गिरफ्तारी की जाएंगी । शुरूआती दौर में यह मामला आपसी विवाद का सामने आ रहा हैं । इधर घटना के बाद छात्र भयभीत हैं और पुलिस से समुचित सुरक्षा की मांग किया हैं ।

बिहटा स्थित प्रतिष्ठित संस्थान आईआईटी कैम्पस में धाय धाय की खबर आग की तरह फैल गयी और पुलिस मुख्यालय तक के कान खड़ा हो गये।मामले की गम्भीरता को देखते हुए सेंट्रल रेंज आईजी संजय सिंह ने मामले की पूरी जानकारी लेने के बाद स्पष्ट तौर पर कहा कि वारदात में शामिल किसी भी शख़्स को बख्शा नही जाएगा। खुरेजी कर फरार हुए सभी की जल्द से जल्द गिरफ्तारी सुनिश्चित की जाएगी।

साथ, वारदात के बाद उठ रहे आईआईटी कैम्पस की सुरक्षा के सवाल पर रेंज आईजी ने कहा है छात्रों को भयभीत होने की जरूरत नही है। जल्द ही अपराधियों को गिरफ्तार कर लिया जाएगा। साथ ही निर्माणाधीन कैम्पस की सुरक्षा को और चुस्त दुरुस्त करने की कवायद की जाएगी।

दरअसल, यह खरेजी ठेकेदार और स्थानीय लफंगों के बीच का आपसी विवाद का प्रतीत हो रहा हैं। उल्लेखनीय है कि बिहटा स्थित आईआईटी कैम्पस का निर्माणकार्य अभी भी जारी है। यह कैम्पस बिहटा थाना क्षेत्र अंतर्गत पड़ता है।

बिहार की राजधानी पटना के बिहटा मर सूबे के पहले आईआईटी (निर्माणाधीन) संस्थान ने सुचारू ढंग से काम करना शुरू कर दिया हैं। देश भर के तकनीकी संस्थानों में लगातार अच्छी रैंकिंग भी हासिल कर चुका है।

इस संस्थान की लंबी चौड़ी परिधि को देखते हुए इस कि सुरक्षा ख़ातिर तत्कालीन एसएसपी मनु महाराज ने आईआईटी परिसर में थाना बनाने का प्रस्ताव भेजा पुलिस मुख्यालय को भेजा तो आईजी नैय्यर हसनैन खां ने मुहर लगाकर पुलिस मुख्यालय को प्रस्तावित कर दिया। लेकिन वर्षों गुजर जाने के बाद भी आजतक आईआईटी थाना स्थापित नहीं हो सका। जबकि इलाके में कई घटनाएं हो चुकी हैं। स्थानीय लफंगो के कई गैंग सक्रिय रहता हैं। साथ ही कैम्पस में जारी निर्माणाधीन बिल्डिंगों में मजदूर बिना किसी विशेष पूछताछ के बगैर ही प्रवेश कर जाते है। दरअसल, कैम्पस की सुरक्षा का निजी हाथों में है।

Loading...