बेधड़क ...बेलाग....बेबाक

एक रूसी लड़के के हैरान कर देने वाले दावे – मंगल पर हुए न्यूक्लियर युद्ध के चलते वहां सभ्यता काफी हद तक अस्त व्यस्त हो गई है, मैंने दुबारा जन्म लिया है।

174

पटना Live (इंटरनेशनल)डेस्क।दुनिया आज भी अंतरिक्ष के दूसरे ग्रहों पर जीवन तलाशने की कवायद में लगी है। इसको लेकर तमाम रिसर्च और अंतरिक्ष विमानों के जरिये खोज बिन जारी है। इसी बीच रूस के एक बच्चे ने दावा किया है कि वो पिछले जन्म में मंगल ग्रह का निवासी था।रूस के शहर वोल्गोग्रैड के रहने वाले 20साला बोरिस्का मिप्रियानोविच ने दुनिया भर के वैज्ञानिकों और खगोल-शास्त्रियों को अंतरिक्ष को लेकर अपने अद्भुत ज्ञान के चलते हैरत में डाल दिया है। वही इस बच्चे की मां कहती है कि ये एक बेहद खास बच्चा है।अपने जन्म के कुछ महीनों बाद ही ये कुछ ऐसे विषयों के बारे में बातें करने लगा था जिनके बारे में हमने उसे कभी नहीं बताया था। बोरिस्का की मां ने कहा कि वो एक साल की उम्र में अखबार की हेडलाइंस पढ़ लेता था।2 साल की उम्र में पढ़-लिख लेता था और ढाई साल की उम्र तक वो पेंटिंग करने लगा था। इसके दावो और खुलासों ने 20 साल का ये लड़का वैज्ञानिकों के लिए चर्चा का विषय बना हुआ है। उसके अंतरिक्ष ज्ञान ने दुनिया को हैरत में डाल दिया है।                                    बोरिस्का काफी छोटी उम्र से ही एलियंस और उनकी सभ्यता को लेकर लागतार खुलासे करता रहा है। उसके मार्शियन्स लगभग 7 फुट लंबे होते है। आज भी मंगल ग्रह पर रहते हैं और वो सांस लेने के लिए कार्बन डाइऑक्साइड का इस्तेमाल करते हैं।उसने बताया कि मंगल पर हुए न्यूक्लियर युद्ध के कारण ग्रह की सभ्यता काफी हद तक अस्त व्यस्त हो गई है।

बक़ौल बोरिस्का के मार्शियन्स अमर है। 35 साल का होने के बाद न उनकी उम्र बढ़ती है न उनपर उम्र का असर होता है। ये लोग ब्रह्माण्ड का चक्कर लगाने में भी सक्षम हैं। वही स्वयं के बाबत बोरिस्का लगातार ये दावे करता ह कि वो एक मार्शिय पायलट है।

पहले भी धरती पर आ चुका है। अब भी पृथ्वी पर काफी कुछ खोजा जाना बाकी है और मिस्त्र में मौजूद ग्रेट स्फिंक्स को खोलने पर धरती पर मौजूद इंसानों की जिंदगी पूरी तरह से बदल जाएगी

 

Comments are closed.