बेधड़क ...बेलाग....बेबाक

देखिए Live-दिनदहाड़े पटना में पब्लिक पर बंदूक तानने के बाद लोगों ने थानेदार की दादागिरी के ख़िलाफ़ जम कर किया बवाल

640

पटना Live डेस्क। राजधानी पटना में बेखौफ और बेलगाम अपराधियों का तांडव लगातार जारी है। शहर में बढ़ते अपराध और शराबबंदी को लेकर जारी मुहिम के बीच बुधवार की दोपहर 2 बजे पत्रकार नगर थाना से महज चंद कदम की दूरी पर पुलिस व पब्लिक में  सरेआम जमकर भिड़ंत हो गई। दरअसल,अपराध पर लगाम लगाने में विफ़ल पटना पुलिस इन दिनों आवाम को सरेआम दिन हो या रात, घर हो सड़क हो या पार्क कही भी कभी भी ज़ालिलोंख़्वार करने से बाज़ नही आ रही है। वही दूसरी तरफ़ शराब ढूढ़ने के नाम पर पुलिसवाले कही भी कभी भी घर हो लॉज हो या होटल हो घुसकर (दुल्हन के कमरे में घुसकर पटना पुलिस पहले ही सुर्खियां बटोर चुकी है।) शराब ढूढ़ने लग रही है। बिहार पुलिस इस मुहिम के जरिए बिहारवासियों में एक अलग ही तरह का दहशत कायम कर रही है।

इसी क्रम में राजधानी पटना के पत्रकार नगर थाना अन्तर्गत हनुमान नगर (पत्रकार नगर थाना से महज 50 कदम) में दोपहर 2 बजे बीच सड़क पर अचानक अजीबोगरीब हालात पैदा हो गए।दरअसल 4-5 की संख्या में रहे स्टूडेन्ट एग्जाम देकर निजी कार में सवार होकर घर वापस लौट रहे थे। घर लौटने के दौरान जैसे ही छात्रों की कार हनुमान नगर सब्जी मंडी के पास पहुची उजले कलर की पुलिस लिखी बलेरो पर सवार इंस्पेक्टर सह थानाध्यक्ष पत्रकार नगर मनोरंजन भारती ने कार में सवार युवकों को जाँच के लिए बीच सड़क पर रुकने का इशारा किया।

जबतक कार धीरे होकर रुकती फिल्मी स्टाइल में हाथ मे अपना सर्विस पिस्टल लेकर थानेदार ने कार सवार युवकों पर तान दिया। अचानक बावर्दी एक पुलिसवाले को पिस्टल ताने देखकर युवकों के होश उड़ गए। हतप्रभ कार में सवार छात्र कुछ समझ बुझ पाते तब तक अपशब्दो की बौछार कर कार में शराब होने का शक जाहिर करते हुए एसएचओ ने तमाम बातें कह डाली। बीच सड़क पर युवको पर पिस्टल तानने और फिर कार से कुछ भी आपत्तिजनक बरामद नही हुआ।फिर तो छात्रों पर पुलिस की दादागिरी के गवाह बने सैकड़ो लोगों का गुस्सा फुट पड़ा। फिर क्या था पब्लिक ने पुलिस की बलेरो सड़क पर ही घेर लिया और थानेदार से भिड़ गए। देखिए पहले आप घटना का uncut Live वीडियो…

सिंघम बनने के चक्कर  हुई फ़ज़ीहत

Uncut वीडियों देखने के बाद आपको अंदाजा तो लग ही गया होगा कि पब्लिक व भुक्तभोगी छात्रों का गुस्सा किस कदर भड़का हुआ थक कि थाना से महज चंद कदम की दूरी पर थानेदार मनोरंजन भारती की जमकर फ़ज़ीहत कर डाली। वही, तकरीबन 20-25 मिनट तक बीच सड़क पर चले इस पुलिस पब्लिज के भिड़ंत को थाने से पहुचे अन्य पुलिसवालों ने किसी तरह लोकल लोगों की महती कोशिश व सहयोग से मामले को शांत करवाया। वही,अपनी किरकिरी व भद पिटवाने के बाद पत्रकार नगर थानेदार मनोरंजन भारती रुखसत हुए।

वही, उल्लेखनीय है कि यह यह पहली बार नही जब पत्रकार नगर थानेदार मनोरंजन भारती ने पिस्टल तानी ज हो,अमूमन जब से बतौर पत्रकार नगर थानाध्यक्ष नियुक्त हुए वाहन जाँच हो या पेट्रोलिंग पर निकलते हैं पिस्टल हाथ मे लिए रहते है। साथ ही अपशब्दो की बौछार करतें हुए लोगो पर पिस्टल तान देते हैं यह दावा है क्षेत्रवासियों का है।तो वही, दूसरी तरफ 2009 बैच के सब इंस्पेक्टर मनोरंजन भारती बिहार के लाल हिंदी सिनेमा के बेहद जानदार शानदार और बेहद लोकप्रिय अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की मुम्बई के अपने रेंटेड अपार्टमेन्ट में असमय मौत की जाँच खातिर अनुसंधान को गई 3 सदस्यों पटना पुलिस के जाँच टीम में शामिल रहे थे।

Comments are closed.