बेधड़क ...बेलाग....बेबाक

मासूम अयांश को बचाने ज्ञान निकेतन के ट्रस्टी सायान कुणाल ने दिये 50 हजार आगे भी मदद का दिया भरोसा

अयांश की जिंदगी की जंग ख़ातिर सायन कुणाल ने शुरू किया भगीरथ प्रयास, जीन की कमी से अयांश की जिंदगी अधूरी, 16 करोड़ रुपये का इंजेक्शन ख़ातिर शुरु किया

592

पटना Live डेस्क। 10 महीने का आयांश SMA टाइप 1 बिमारी से ग्रसित है। जिसके इलाज के लिए Zolgansma नाम के एक इंजेक्शन की जरूरत है। उसकी कीमत 16 करोड़ रुपए है। अयांश के पास वक्त बेहद कम है। 2 महीने के अंदर उसे ये दवा ना मिली तो उसकी जान जा सकती है। अयांश की जान बचाने को बिहार के कोने-कोने से लोग मदद कर रहे हैं। क्राउड फंडिंग के जरिये पैसे जुटाए जा रहे हैं। आम से लेकर खास लोग सभी उसकी मदद को आगे आ रहे हैं। इसी दौरान ज्ञान निकेतन ग्रुप्स ऑफ स्कूल एंड कॉलेज के ट्रस्टी और अधिवक्ता सायान कुणाल आयांश के घर पहुंचे। अयांश के पिता आलोक सिंह को उन्होंने 50 हजार रुपये देकर मदद की। और आने वाले 2-3 दिनों में और 50 हजार देने की बात कही है। साथ ही उन्होंने अ यांश के माता-पिता को हौसाल दिया और हिम्मत बनाए रखने की बात कही। उन्होंने कहा कि हमें किसी भी कीमत पर मासूम अयांश को बचाना है।

वहीं अयांश के माता-पिता ने भी उनका तहे दिल से धन्यवाद दिया है। उन्होंने कहा कि जिस तरह हमारे बिहार व पटना के लोग रोज़ ब रोज मदद ख़ातिर उन तक पहुंच रहे है उससे उन्हें खूब हिम्मत मिल रही है। साथ ही उनका विश्वास  यकीन में तब्दील हो रहा है कि सबकी दुआओं से अयांश को बीमारी से निजात मिल जाएगी।

सोशल मीडिया पर दस माह के अयांश की दुर्लभ बीमारी एसएमएस चर्चा में है। इस बीमारी से ग्रस्त मासूम अबोध अयांश देश का तीसरा और बिहार का पहला पीडि़त बच्चा है। बीमारी लाइलाज नहीं है लेकिन इसे ठीक करने के लिए 16 करोड़ रुपए के इंजेक्शन की जरूरत है।यह मासूम अयांश के परिवारवालों के लिए अकेले संभव नहीं है। पटना के रूपसपुर थाना क्षेत्र के शर्मा पथ स्थित अयांश के पिता आलोक सिंह और मां नेहा सिंह से सायन कुणाल ने घर जा कर न केवल मुलाकात किया बल्कि अयांश मांगे जिंदगी मुहिम के तहत कहा कि  यदि सभी हेल्प करें तो कुछ भी असंभव नहीं है। इसलिए आइए, मुहिम से जुड़े,अयांश के लिए राशि जुटाएं। सायन के भगीरथ प्रयासएक प्रयास अयांश के नाम” से जुड़े ताकि उम्मीदें और जिंदगी दोनों मुस्कराए।

Comments are closed.