बेधड़क ...बेलाग....बेबाक

Ground Report : बांका की जनता को दिगंबर मंडल से है आस

1,207

बिहार में विधानसभा चुनाव की रणभेरी बजने वाली है। नेता चुनावी रण में कूदने से पहले वादों की फेहरिस्त तैयार करने में जुटे है।
बिहार के झारखंड सीमा से सटा एक जिला है बांका। बांका जिला राजनीतिक दृष्टिकोण से बेहद महत्वपूर्ण है। वर्तमान में रामनारायण मंडल बांका के विधायक है और राज्य सरकार में मंत्री भी है। बावजूद इसके बांका जिला विकास के साथ कदमताल नहीं कर पा रहा है।

कोरोन काल में नेताओं की अनदेखी से जनता में अविश्वास

पटना लाइव की टीम जब बांका जिले का जायजा लेने पहुंची तो हमने देखा आज भी बांका जिले के लोग बुनियादी व्यवस्थाओं को पाने के लिए जद्दोजहद कर रहें है। जब पटना लाइव की टीम ने बांका की जनता से बात की तब ये मालूम हुआ कि लोग अपने विधायक से खासे नाराज़ हैं। लोगों ने कैमरे के सामने भी यह कहने में कोई हिचक नहीं दिखाई। लोगों का साफ तौर पर कहना था कि कोराना की वजह से देश दुनिया त्रस्त है । लोग भुखमरी के कगार पर आ गए हैं । लेकिन जिस नेता को उन्होंने वोट देकर विधायक बनाया वो आज उनकी सुध लेने के लिए भी तैयार नहीं है।

जहां एक ओर बांका के लोग जनप्रतिनिधियों को कोसते नजर आए वहीं बभनगामा पंचायत के मुखिया दिगंबर मंडल (Digambar Mandal babhangama Mukhiya) की प्रशंसा करते नजर आए। बांका के लोगों का साफ तौर पर कहना कि कोराना काल में एकमात्र दिगम्बर मंडल (Digambar Mandal ) ने उन्हें मदद पहुंचाई है। साथ ही लोगों का यह भी कहना था कि दिगंबर मंडल हर सुख दुख में ग्रामीणों का हाल लेते रहते हैं। हमने बांका जिले के कई गांवों का दौरा किया। जनता के लिए दिगम्बर मंडल के द्वारा किए गए कार्यों की प्रशंसा करने वाले कई लोग मिले। लोगों ने तो यहां तक भी कह डाला कि अगर दिगंबर सरीखे लोग अगर विधान सभा में बांका का प्रतिनिधित्व करेंगे तो जिले की तस्वीर बदल सकती है।

क़ाबिले-ग़ौर है कि कोरोना काल में गांवों की हालत बद से बदतर हुई है। उनकी रोज़मर्रा की ज़िन्दगी मुतासिर हुई है।
भीषण संकट के दौर में अपने नेताओं की अनदेखी से जनता में अविश्वास भी बढ़ा है।

Comments are closed.