बेधड़क ...बेलाग....बेबाक

Super Exclusive(वीडियो)बिहार सरकार के आदेश की राजधानी में ही उड़ी धज़्ज़िया सैकड़ो जिंदगियों पर मंडराया खतरा, देखिए

सुशासन की नाक के नीचे सैकड़ो बच्चों के जीवन को जोखिम में डालने वाला यह सरकारी शिक्षण संस्थान आखिर क्या दिखाना चाहता है?

195

पटना Live डेस्क। पूरी दुनिया मे एक बार फिर से कोरोना ने कहर बरपा करना शुरू कर दिया है। वही,देश के विभिन्न राज्यो समेत बिहार में भी कोरोना संक्रमण तेजी से फैल रहा है। हर रोज नए मरीजों के संक्रमित होने का आंकड़ा दिन प्रतिदिन बढ़ता जा रहा है। राजधानी पटना में भी संक्रमण वाले मरीजों की संख्या में लगातार इजाफा हो रहा है। इसी क्रम में गुरुवार को बिहार में कोरोना विस्फोट हुआ और सूबे में कोविड-19 के 2379 नए मामले सामने आए वही इनमें राजधानी से ही अकेले 1407 कोरोना संक्रमित मिलने से सरकार सकते में आ गई। बिहार के CM नीतीश कुमार ने कोरोना गाइडलाइन्स (Bihar coronavirus guidelines) के नियमों में बदलाव कर दिया और बिहार के सभी स्कूल, कॉलेजों व शिक्षण सस्थानो समेत हॉस्टल को तत्काल प्रभाव से 21 जनवरी 2022 तक बंद कर दिया गया।

                      लेकिन राजधानी के एक सरकारी शिक्षण संस्थान ने ही सुशासन सरकार के नाक के नीचे यानी राजधानी पटना में सरकारी आदेश को न केवल ठेंगा दिखाया बल्कि कोरोना गाइडलाइन्स की धज़्ज़िया उड़ाते हुए बैचलर ऑफ आर्ट्स (B.A) पार्ट-2 में सैकड़ों छात्र-छात्राओं को रामकृष्ण द्वारका महाविद्यालय (R K D College) द्वारा एडमिशन खातिर कॉलेज बुला लिया गया। पहले आप यह वीडियो देखिए फिर पूछेंगे कुछ सवाल ताकि पता चले को सैकड़ों बच्चों की जान जोखिम में डालने वाला कौन है असली गुनेहगार?

Comments are closed.