बेधड़क ...बेलाग....बेबाक

BiG News- महज 24 घण्टे में चौथी हत्या से दहला बिहटा,चावल की मंडी से लाशों की मंडी बनता बिहटा

कभी चावल मंडी के तौर पर विख्यात बिहटा अब लाशों की मंडी के तौर पर जाना जाने लगा है। दो दिन पहले घर नहीं लौटा था, परिजनों ने अपहरण का कराया था मामला दर्ज,अपराधियों ने दरीदगी का चरम पार करते हुए शख्स की आँखें तक निकाली

1,000

पटना Live डेस्क। बिहार की राजधानी पटना से सटे बिहटा में अपराधियों का तांडव जारी है। पुलिस के खौफ से पूरी तरह बेख़ौफ़ अपराधियों ने बिहटा को ताबड़तोड़ हत्याओं लूट की वारदातों और रंगदारी खातिर धाय धाय की झड़ी लगा दी है।तो वही दूसरी तरफ सुशासन पुलिस महज दावो और टीम बना दी गई है के जुमले से आगे नहीं बढ़ती प्रतीत हो रही है।

पटना जिले का बिहटा किसी जमाने में चावल मंडी के तौर पर विख्यात अब लाशों की मंडी के तौर पर जाना जाने लगा है। बेहद तेजी से विकसित होता राजधानी पटना का यह पश्चिमी क्षेत्र अपराधियों के शिकंजे में घुटता नज़र आ रहा है। आए दिन होने वाले अपराधों से त्रस्त पब्लिक का सवाल है कि आखिर क्यों अपराधी के मन में पुलिस का डर और भय समाप्त हो चुका है?

इसी क्रम में विगत 24 घंटे में तीन हत्या के बाद बिहटा एयरपोर्ट के पास झाड़ी में दो दिनों से लापता 32 वर्षीय युवक की लाश मिली हैं। अपराधियों ने दरीदगी की इन्तहा पार करते हुए युवक की आंख तक निकाल ली हैं। महज 24 घण्टे में एक के बाद एक चार हत्याओं से आम आदमी ख़ौफ़ज़दा हो गया है।लोगो को समझ मे नही आ रहा है कि आखिर बिहटा को हुआ क्या है? वही पुलिस अपने रटे रटाए जुमले को उछालकर जांच में जुट गई है। यानी पटना पुलिस जांच में जुट गयी हैं ।

अबतक चार

मुखिया पति सह मार्बल व्यवसायी, वृद्ध किसान की चाकू गोदकर हत्या,बालू माफियाओं द्वारा युवा किसान की गोली मारकर हत्या कर देने के मामले की शुरुआती जांच से आगे न बढ़ पाई बिहटा पुलिस को अबतक ये भी नही मालूम को तीनों हत्याओं की वजह क्या है? लेकिन इसी बीच बिहटा थाना क्षेत्र के एयरपोर्ट के समीप झाड़ी में रविवार की दोपहर मिली एक लाश ने बिहटा वासियों को सन्न कर दिया।

मिले शव की पहचान बिहटा के पतसा निवासी 32 वर्षीय वरूण ठाकुर के तौर पर हुई। मकतूल बीते 20 अगस्त से लापता था। परिजनों ने थाने में अपहरण का मामला दर्ज कराया था। वही, बरामद बॉडी की आंखें निकाली गई है।

                प्रतीत होता है कि अपराधियों द्वारा आंख निकालकर वरूण ठाकुर की निर्ममतापूर्ण हत्या की गई है। हत्या के बाद परिजनों में काभी आक्रोश है। वही ऐसा प्रतीत होता है की बिहटा में सुशासन पूरी तरह फ़ेल हो चुका है।

Comments are closed.