बेधड़क ...बेलाग....बेबाक

JDU के पूर्व विधायक जनार्दन मांझी का निधन, मुख्यमंत्री ने जताया शोक

29

पटना Live डेस्क। वरिष्‍ठ जदयू नेता जनार्दन मांझी का निधन 20 जुलाई की देर शाम को हो गया। वे बांका के बेलहर और अमरपुर विधानसभा क्षेत्र से जदयू के विधायक थे। 15 वर्ष तक विधायक रहे। वर्ष 2020 में हुए विधानसभा चुनाव के दौरान उन्‍होंने अपनी सीट अमरपुर विधानसभा से अपने पुत्र को जदयू से उतारा। उनके पुत्र जयंत राज अमरपुर विधानसभा से चुनाव जीते। जयंत राज बिहार सरकार में मंत्री हैं।

दो बार अमरपुर और एक बार बेलहर विधानसभा क्षेत्र का प्रतिनिधित्व कर चुके जनार्दन मांझी का पटना में इलाज के दौरान मंगलवार देर शाम निधन हो गया है। वे 78 वर्ष के थे। पिछले सप्ताह ही बौंसी आवास पर वे अपने बाथरूम में गिरकर जख्मी हो गए थे। इसके बाद उनका इलाज पटना के एक अस्पताल में चल रहा था। जनार्दन मांझी बिहार सरकार के मौजूदा ग्रामीण कार्य मंत्री जयंत राज के पिता थे।

उन्होंने 2010 से लगातार जदयू की टिकट पर दो बार अमरपुर विधानसभा का प्रतिनिधित्व किया। पहली बार वे 2005 के विधानसभा चुनाव में बेलहर से जदयू के टिकट पर विधायक बने। नवंबर 2020 के विधानसभा चुनाव में उम्र के कारण ही अपनी जगह अपने बेटे जयंत राज को अमरपुर का टिकट दिलाया। उन्हें चुनाव भी जिताया और वे बिहार सरकार में कैबिनेट मंत्री भी बने।

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने पूर्व विधायक जनार्दन मांझी के निधन पर गहरी शोक संवेदना व्यक्त की है। मुख्यमंत्री ने कहा है कि जनार्दन मांझी एक कुशल राजनेता के साथ ही सामाजिक क्षेत्र में भी सक्रिय थे। वे बांका जिले के अमरपुर विधानसभा क्षेत्र से दो बार विधायक रहे थे। उनसे मेरा व्यक्तिगत संबंध था। उनके निधन से राजनीतिक एवं सामाजिक क्षेत्र में अपूरणीय क्षति हुई है। मुख्यमंत्री ने स्व. मांझी के पुत्र ग्रामीण कार्य मंत्री जयंत राज से फोन पर बात कर उन्हें सांत्वना दी है। मुख्यमंत्री ने दिवंगत आत्मा की चिर शांति तथा उनके परिजनों को दुख की इस घड़ी में धैर्य धारण करने की शक्ति प्रदान करने की ईश्वर से प्रार्थना की है।

Comments are closed.