बेधड़क ...बेलाग....बेबाक

पहले करोड़पतियों को लूटा, फिर पत्नी को पंचायत चुनाव जिताने को बनवा दी 7 गावों की सड़क

316

पटना Live डेस्क। बिहार के इस आदमी की हरकतें किसी को भी हैरान करने के लिए काफी है। जिसने पत्नी को पंचायत चुनाव जितवाने के लिए 7 गावों की सड़कें बनवा दी, वो भी चोरी के पैसों से। मामला तब प्रकाश में आया जब गाजियाबाद के कवि नगर में बीते माह कारोबारी कपिल गर्ग के घर में हुई डेढ़ करोड़ रुपये की चोरी के मास्टर माइंड इरफान उर्फ उजाले के कारनामे पुलिस के सामने आए। वह करोड़ों रुपये कीमत की जैगुआर कार से देशभर में घूम-घमकर आलीशान कोठी-बंगलों में चोरी करने निकलता था। बिहार के सीतामढ़ी के रहने वाले इस चोर की तलाश 12 राज्यों की पुलिस कर रही थी।

 

पुलिस ने बताया कि इरफान की पत्नी गुलशन परवीन जमानत पर रिहा होने के बाद बिहार में हो रहे जिला पंचायत के चुनाव में प्रत्याशी है। इस चुनाव के लिए सोमवार को ही मतदान होना है। इस चुनाव में पत्नी को जीत दिलाने के लिए इरफान ने दोनों हाथों से रुपया खर्च किया है। उसने एक करोड़ रुपये तो सात गांवों की गलियों में सड़क निर्माण पर ही खर्च कर दिए हैं। वहीं, अपने पड़ोस में रहने वाली एक गरीब लड़की के कैंसर के ऑपरेशन पर उसने 20 लाख रुपये खर्च किए थे। आरोपी ने बताया कि वह राजनीति में नहीं आना चाहता था, लेकिन गांव के लोगों ने ही उसे चुनाव में उतरने की सलाह दी और उसकी अनुपस्थिति में ग्रामीण ही चुनाव का सारा काम देख रहे हैं।

आरोपी ने पुलिस की पूछताछ में बताया कि उसकी एक मात्र पत्नी गुलशन परवीन है और वह गांव में चुनाव लड़ रही है, जबकि चार प्रेमिका हैं। यह चारों आगरा, अलीगढ़, सवाई माधोपुर और मुंबई में रहती हैं। वारदात के बाद आरोपी अपनी इन प्रेमिकाओं के पास भी कुछ दिन ठहरता था और उनके ऊपर भी जमकर रुपये खर्च करता था।

 

आरोपी ने पुलिस की पूछताछ में बताया कि नोटबंदी लागू होने से ठीक पहले उसने दिल्ली में रहने वाले एक जज के घर में 65 लाख की चोरी की थी। आरोपी ने बताया कि इसके अलावा उसने गोवा में गवर्नर हाउस के पास रहने वाले एक कारोबारी के घर में भी लाखों रुपये की नकदी और जेवर चोरी किए थे।

 

पुलिस ने बताया कि इस चोर ने आज किसी भी वारदात से पहले रेकी नहीं की है। आरोपी ने पूछताछ में बताया कि वह अपनी गाड़ी से निकलता था और जहां भी उसका दिल गवाही देता था, रुक कर वारदात को अंजाम देता था। उसका अंदाजा इतना सटीक था कि वह आज तक जिस घर में गया, एक डेढ़ लाख रुपये लेकर ही निकला है। आरोपी ने बताया कि वह इस तरह से कोठियों में घुसता था कि कड़ी चौकसी के बाद भी सुरक्षा कर्मियों की नजर उस पर नहीं पड़ती थी। यहां तक कि कुत्ते भी उसे देखकर नहीं भौंकते थे।

Comments are closed.