बेधड़क ...बेलाग....बेबाक

BiG News (वीडियो) मुंगेर एसपी को अपराधियों ने दी जोरदार सलामी ताबड़तोड फ़ायरींग कर मांगी मुखिया से 5 लाख की रंगदारी

131
  •  मुंगेर SP बनते ही लिपि सिंह को मिली ज़ोरदार चुनौती
  • सफियाबाद थाना क्षेत्र के गौरीपुर गांव में मुखिया हेमलता देवी से मांगी रंगदारी
  • दिनदहाड़े मुखिया से 5 लाख की रंगदारी ख़ातिर दर्ज़नों राउंड की फायरिंग 

पटना Live डेस्क। बिहार में बड़े पैमाने पर आईपीएस अधिकारियों के तबादले हुये है। इसी क्रम में बिहार कैडर के 2016 बैच की आईपीएस अधिकारी लिपि सिंह को मुंगेर पुलिस का कप्तान बनाया गया है। शुक्रवार को लिपि सिंह द्वारा मुंगेर एसपी का पद संभालते ही अपराधियों ने जोरदार सलामी देते हुए गोलियों की सरेआम तड़तड़ाहट के साथ चुनौती दे डाली है। हरबे हथियार से लैश अपराधियों ने दुस्साहस का परिचय देते हुए गौरीपुर पंचायत के मुखिया से न केवल 5 लाख की रंगदारी की मांग की बल्कि दहशत फैलाने ख़ातिर दर्जन राउंड फ़ायरींग कर दी। सरेआम हुई इस दुःसाहसिक वारदात के बाद से मुखिया समेत उनके परिजनों में भय व्याप्त हो गया है।

उल्लेखनीय है कि एसपी लिपि सिंह ने शुक्रवार को तमाम कागजी करवाई पूरी कर विधिवत ढंग से पदभार ग्रहण करने के तुरंत बाद ही लिपि सिंह ने अपने इरादे स्पष्ट करते हुए जिले के असामाजिक तत्वों और जरायमपेशा अपराधियों को अपना बोरिया-बिस्तर समेट लेना का कड़ा मैसेज दिया। साथ ही लड़कियों और महिलाओं की सुरक्षा को अपनी प्रायोरिटी बताते हुए फब्तिबाजो,रोडरोमियोज़ समेत मनचलों को सावधान हो जाने ही हिदायत दी।

साथ ही लगे हाथ एसपी मुंगेरा ने इस बात का भी ऐलान किया कि जल्द ही विशेष रणनीति के साथ अभियान चलाकर नक्सलियों और खुर्राट अपराधियों के खिलाफ बड़ी कार्रवाई की जाएगी। लेकिन युवा आईपीएस के इन ऐलान और अपनी नीतियों के स्पष्टीकरण के बावजूद अपराधियों ने महज कुछ घण्टे बाद ही एसपी लिपि सिंह का दिनदहाड़े गोलियों तड़तड़ाहट के साथ जोरदार ढंग से इस्तेकबाल करते हुए महिला मुखिया से 5 लाख की रंगदारी की मांग करते हुए ख़ौफ़ पैदा कर दिया।

दरअसल, यह सनसनीखेज वारदात शहर के सफियाबाद थाना क्षेत्र के गौरीपुर गांव का है। मुखिया हेमलता देवी द्वारा सरकारी नाले का निर्माण कराया जा रहा था। लेकिन खुर्राट अपराधियों ने काम जारी रखने के एवज में मुखिया से ही 5 लाख की रंगदारी की मांग करते हुए दहशत फैलाने के लिए अन्धाधुन्ध दर्ज़नों राउंड फायरिंग कर दी। फ़ायरींग होते है मजदूर समेत निर्माणस्थल पर मौजूद ग्रामीण जान बचाने ख़ातिर गिरते पड़ते फरार हो गए। वही दिनदहाडे धाय धाय की घटना से इलाके में दहशत का माहौल है। साथ ही इस दुःसाहसिक वारदात से मुखिया परिवार में भयव्याप्त हो गया है।

दिनदहाड़े इस वारदात को अंजाम देकर अपराधियों ने
नवनियुक्त एसपी द्वारा जारी चेतावनी के बावजूद भी अपने खूंरेजी भरे इरादे जग जाहिर करते हुए ज़ोरदार चुनौती पेश कर दिया है। इधर, वारदात की जानकारी मिलते ही एसपी लिपि सिंह ने बताया कि अपराधियों की गिरफ्तरी के लिए फोर्स को भेजा गया है। जल्द ही अपराधियों की शिनाख्त कर कानूनी कार्रवाई की जाएगी।

वैसे, दिनदहाड़े अपनी ज़ोरदार उपस्थिति दर्ज कराते हुए अपराधियों ने भी कथित तौर पर “लेडी सिंघम” के तौर विख्यात महिला आईपीएस को बतला दिया है कि वो उनसे खौफ़ज़दा नही है। अब देखना होगा कि मुंगेर जिले की दुरूह बनावट और दुर्दात नक्सलियों समेत खुर्राट अपराधियों के आतंक से जिले को लिपि सिंह कबतक और कैसे निजात दिलाएगी।

वही,एसपी बनाई गई लिपि सिंह के लिए सबसे बड़ी चुनौती है मुंगेर का हथियार तस्करी के लिए पूरे देश समेत पड़ोसी देशों नेपाल और बांग्लादेश में भी विख्यात होना। इस जिले में हथियार निर्माण कुटीर उद्योग के मानिंद शक्ल अख़्तियार कर चुका है।वही, मुंगेर में देशभर में अवैध हथियार-गोली सप्लाई करने वाले माफियाओ का जबरदस्त नेटवर्क भी मौजूद है। सवाल है कि क्या लिपी सिंह मुंगेर के हथियार तस्करी पर लगाम लगा पायेगी ?

Comments are closed.