बेधड़क ...बेलाग....बेबाक

Fact Finding-आखिर कार हो ही गया वरीय IPS अनिल किशोर यादव का तबादला लगी पटना Live की खबर पर सच की मुहर

नवादा पुलिस अधीक्षक पर FIR दर्ज करने का आदेश और अपने बेहद मुखर अंदाज ख़ातिर चर्चा में रहने वाले बिहार कैडर के सीनियर IPS अधिकारी अनिल किशोर यादव का हुआ तबादला, सूत्रों का दावा है कि विगत कई फैसले बने है तबादले की वजह लेकिन नवादा हाजत काण्ड बना फौरी वजह

306

पटना Live डेस्क। बिहार सरकार के गृह विभाग ने मंगलवार को कई वरीय आईपीएस अधिकारियों का तबादला किया है। जारी अधिसूचना के अनुसार 6 आईपीएस अधिकारियों का न केवल तबादला किया बल्कि साथ ही कुछ को अतिरिक्त प्रभार दिया गया है। इस तबादले की अधिसूचना में जो सबसे अहम नाम था वो था ADG अनिल किशोर यादव का। बिहार कैडर के 1996 बैच के आइपीएस अधिकारी अनिल किशोर यादव को विगत वर्ष 2021 में ही आईजी से प्रोन्नति देकर ADGP बनाया गया था। साथ ही पुनः एक बार कमजोर वर्ग की कमान सौंपी गई थी। लेकिन अब इन्हें ADGP (प्रशिक्षण) के साथ ही नागरिक सुरक्षा का अतरीरिक्त प्रभार भी सौंपा गया है।

नो नॉनसेंस अफसर का तगमा पाए वरीय आईपीएस व आम आदमी विशेषकर कमजोर वर्ग की बेहद मुखर आवाज के तौर पर पहचान रखने वाले IPS अनिल किशोर यादव अपने बेहद बेबाक लहजे और तुरन्त एक्शन लेने ख़ातिर आम लोगो के बीच मक़बूलियत पाते रहे है। लंबे वक्त तक बतौर आईजी से लेकर एडीजी (ADG)के ओहदे में प्रोन्नति तक कमजोर वर्ग की सुरक्षा सम्मान को अक्षुण्ण बनाए रखने का उत्तरदायित्व संभालते रहे है। लेकिन मंगलवार, 27 सितम्बर को गृह विभाग द्वारा जारी अधिसूचना में इनको कमजोर वर्ग से रुख़सत करते हुए एडीजी (प्रशिक्षण) के तौर पर तैनाती दी गई है। साथ ही अतरिक्त प्रभार में नागरिक सुरक्षा की कमान भी सौपी गई है।

कथित घटना नौ सितंबर को नवादा जिले के एक थाने में हुई।नवादा जिले के एसपी गौरव मंगला तीन सहायक अवर निरीक्षकों और दो अवर निरीक्षकों के प्रदर्शन से असंतुष्ट थे और उन्होंने कथित तौर पर उन्हें दो घंटे तक लॉकअप के अंदर रखा। इसी मामले में बढ़े गतिरोध के बाद से ही इस तबादले को लेकर विगत कई दिनों से महकमे तमाम तरह की चर्चाओं का बाजार गर्म था। यह चर्चा आम थी कि नवादा एसपी के खिलाफ FIR का आदेश और उसका मीडिया में वायरल हो जाना महज इतेफाक नही है।

दरअसल, नवादा एसपी डॉ गौरव मंगला द्वारा नगर थाना में कांड रिव्यू के दौरान पांच पुलिस पदाधिकारी को अपने कार्य के प्रति लापरवाही व कांडों की निबटारा के प्रति उदासीनता को लेकर उसी थाने के हाजत में बंद करने की वीडियों व तस्वीरें वायरल हो गया था। इसको लेकर जमकर विवाद हो गया। सोशल मीडिया के तमाम मंचों पर वीडियो वायरल होने पर बिहार पुलिस एसोसिएशन काफी गंभीर हो गया। जिले से लेकर राज्य स्तर के पुलिस एसोसिएशन ने कड़ा एतराज किया। वही बिहार पुलिस एसोसिएशन के अध्यक्ष मृत्युंजय कुमार सिंह ने एक पत्र के माध्यम से राज्य सरकार व पुलिस मुख्यालय से इस पर कड़ा एतराज जताया। साथ ही नगर थाने में लगे सीसीटीवी फुटेज की और मामले के न्यायिक जांच की मांग की।

तदुपरांत मामले में सीआईडी और बिहार पुलिस कमजोर वर्ग प्रभाग के अतिरिक्त महानिदेशक (एडीजी) अनिल किशोर यादव द्वारा जारी एक आदेश के जरिए, मगध रेंज के आईजी विनय कुमार को सात कार्य दिवस के भीतर मामले की जांच पूरी करने और मुख्यालय को अपडेट करने का निर्देश दिया गया। आदेश में कहा गया है कि अगर सबूत प्रामाणिक पाए जाते हैं तो नवादा के एसपी के खिलाफ मामला भी दर्ज किया जाना चाहिए। इस आदेश के बाद हड़कंप मच गया और IPS गौरव मंगला पर संकट के बादल मंडराने लगे। 

 

                         मतलब साफ था सत्ता के अन्तःपुर और पुलिस मुख्यालय के बंद कमरों में यह बात लगभग तय हो गई की कैसे भी इस संकट को खत्म कर प्रशासनिक संकट को शिथिल किया जाए। इसके लिए प्रयास भी किए गए लेकिन जैसा कि सूत्रों का दावा है एडीजी ने स्पष्ट कर दिया था कि कानून सम्मत एक्शन से वो किसी भी तरह का समझौता नही करेंगे। अब संकट बड़ा हो चुका था। तामाम प्रयास विफल हो चूके थे। लेकिन इस आसन्न संकट को टालना भी जरूरी था।

                      अतः निर्णय कर लिया गया और संकट को टालना भी जरूरी था क्योंकि इससे सरकार की भद्द पीट जारी। समाधान के तौर पर तबादला ही एक विकल्प बचा था। लेकिन तबादला भी किसी छोटे मोटे अधिकारी का नही करना था बल्कि एडीजी स्तर के अधिकारी का होना था। यानी अपर पुलिस महानिदेशक स्तर के अधिकारी का तबादला करना था साथ ही संदेश भी गलत न जाए इसका भी ख्याल रखना था। अतः महज तबादले की प्रक्रिया को तर्कसंगत बनाने ख़ातिर कुल जमा 6 आईपीएस अधिकारियों का रस्मी तौर पर तबादला और प्रभार बदल दिए गए। यानी ADG अनिल किशोर यादव के तबादले के साथ ही अन्य आईपीएस अधिकारियों के रस्मी तौर पर तबादले कर दिए गए। अधिसूचना जारी कर दी गई।

Comments are closed.