BiG News – सारण में स्ट्रांग रूम में EVM मिलने की अफवाह  और Rjd के ऑफिसियल ट्वीटर हैंडलर द्वारा साझा खबर का सच जानकर आप भौचक्क रह जाएंगे

1334

पटना Live डेस्क। सारण में सोमवार की शाम तकरीबन 6 बजे एक गाड़ी पर ईवीएम को वेयरहाउस ले जाते समय राजद कार्कर्ताओं ने घेर लिया था।राजद कार्यकर्ता यह आरोप लगाने  लगे कि गड़बड़ी के मकसद से उक्त ईवीएम को स्ट्रांग रूम में ले जानें की योजना को मूर्त रूप दिया जा रहा है।

                    मीडिया में पहले हम पहले हम की कवायद का सियासी दलों द्वारा कैसे बिना सिर पैर की खबरे प्लाट की जाती हैं इसका एक नमूना फिर बिहार के सारण जिले से आया है। दरअसल सारण में स्ट्रांग रूम में EVM मिलने की अफवाह को बिना किसी जांच पडताल के Rjd के ऑफिसियल ट्वीटर हैंडलर द्वारा साझा कर दिया गया। फिर क्या था राजद समर्थकों ने इसे ताबड़तोड़ साझा करना शुरू कर दिया। यानी रीट्वीट की झड़ी लग गई। इसी बीच खबर की सत्या जाने बगैर बिहार से लेकर देश भर की मीडिया सस्थानों ने भी बिना जांच पड़ताल किये इसे बड़ी खबर कह कर चलना शुरू कर दिया। इसका नतीजा एक अफवाह ने खबर की शक्ल अख़्तियार कर लिया।

दरसल, सारण में सोमवार की शाम स्ट्रांग रूम के समीप से एक पिकअप वैन में लदी बडी संख्या में ईवीएम मिलने की अफवाह फैल गयी। यह खबर जंगल में आग की तरह फैल गयी।सिर्फ छपरा हीं नही बल्कि राजधानी पटना से होते हुए दिल्ली मीडिया संस्थानों तक यह खबर बड़ी तेजी से वायरल हो गयी। सोशल मीडिया पर तेजी से यह खबर फैली कि प्रशासन ईवीएम के साथ घालमेल कर रहा है। राजद के कई नेताओं ने अपने-अपने ट्वीटर अकाउंट से ट्वीट और रिट्वीट भी किया। राजद के राष्ट्रीय प्रवक्ता मनोज झा ने भी इस खबर को रिट्वीट किया। कथित पर राजद के नेता आनन-फानन में बैठक कर आगे की रणनीति भी तैयार करने लगे।

हक़ीक़त आया सामने तो सब भौचक्क रह गए

खबर की तहकीकात के दौरान पटना Live ने जब डीएम और अन्य जिला पदाधिकारियों से EVM के बाबत जानकारी मांगी तो जो साक्ष्य प्राप्त हुए वो खुद राजद को ही कटघरे में खड़ा करने लगा। दरअसल, जिन ईवीएम को राजद के नेता गलत बता रहे हैं वह दरअसल मतगणना प्रशिक्षण को लेकर एलएनबी उच्च विद्धालय ले जाया गया था। प्रशिक्षण के बाद उक्त ईवीएम को गाड़ी में रखकर सदर प्रखंड़ स्थित वेयर हाउस ले जाया जा रहा था। इस दौरान वहां के बीडीओ ईवीएम गाड़ी के साथ-साथ चल रहे थे। उक्त गाड़ी पर लदे EVM को लेकर ही राजद कार्यकर्ताओं ने हंगामा ककर दिया। हद तो तब हों गई जब राजद के ऑफिसियल हैंडकर ने भी फ़ोटो संग जिला प्रशसन को कठघरे में खड़ा करते हुए लिखा कि …

राजद प्रत्याशी के अभिकर्ता का मिला हस्ताक्षर

मामला जब वायरल हुआ तो जिला प्रशासन ने जो सुबूत पेश किए उक्त पर स्थानीय सदर एसडीओ के साथ-साथ छपरा के राजद प्रत्याशी चंद्रिका राय के चुनाव अभिकर्ता लाल बाबू यादव के हस्ताक्षर हैं। उल्लेख है कि तमाम ईवीएम प्रशिक्षण के बाद सदर प्रखंड स्थित वेयर हाउस ले जाया जा रहा था।राजद उम्मीदवार के चुनाव अभिकर्ता ने उक्त पत्र में लिखा है कि इस प्रक्रिया से वे पूर्णतया संतुष्ट हैं और पुरे पारदर्शी तरीके से निर्वाचन का संचालन किया जा रहा है। उक्त पत्र में छपरा के निर्वाची पदाधिकारी के अलावे प्रभारी पदाधिकारी ईवीएम कोषांग के अलावे युवा राजद के जिलाउपाध्यक्ष संजय कुमार के भी हस्ताक्षर हैं। उक्त पत्र में राजद प्रत्याशी के चुनाव अभिकर्ता ने किसी तरह की गड़बड़ी को सिरे से खारिज किया है और अधिकारियों के सामने संतुष्टि पत्र पर हस्ताक्षर किए हैं।

लेकिन  अब जिला प्रशसन द्वारा प्रस्तुत डॉक्युमेंट्स और फैक्ट्स के बाद जांच के बाद आरोप पूरी तरह से बेबुनियाद निकला है।

Loading...