BIG NEWS – कश्मीरी आतंकी “बुरहान सनी”और जमुई के नए पुलिस कप्तान IPS इनाम उल हक मेगनू का क्या हैं रिश्ता, जानिए पूरा सच 

1308

पटना Live डेस्क। बिहार सरकार ने शुक्रवार 20 सितंबर को 5 आईपीएस अधिकारियों का तबादला किया गया। इस तबादले में 3 ज़िलों के एसपी (SP) भी बदले गए हैं। वैशाली, जमुई और गोपालगंज को नए पुलिस अधीक्षक मिले है। लेकिंन इन तबादलो में जमुई के नवनियुक्त एसपी बनाये गए IPS डॉ इनाम उल हक मेंगनू को लेकर आम लोगो को बीच विशेष उत्सुकता है। दरअसल, इनके बाबत न तो बिहार की मीडिया को विशेष जानकारी है न तो सियासी जमात को ही। तो आइए आपको सिलसिलेवार ढंग से बताते है की आखिर कौन है जमुई के एसपी डॉ मेगनू? कहाँ के रहने वाले है? किस बैच के और किस कैडर के आईपीएस है? आखिर कैसे बिहार में प्रतिनियुक्ति मिली है और क्यो ? आइये सिलसिलेवार ढंग से जानते और समझते है IPS डॉ मेंगनू के बाबत ..

जमुई के नए एसपी IPS डॉ इनाम उल हक मेंगनू

जमुई के नवनियुक्त पुलिस अधीक्षक मूल रुप से बिहार कैडर के अधिकारी नही बल्कि असम-मेघालय के 2012 बैच के आईपीएस है। भारत सरकार गृह विभाग द्वारा जारी अधिसूचना के अनुसार 2 अगस्त 2019 को भारतीय पुलिस सेवा (कैडर) नियम 1954 अधिनियम 5 के उपनियम (2) के तहत प्रदत्त शक्तियों एवम असम मेघालय और बिहार सरकार की सहमति के साथ, केंद्र सरकार ने डॉ इनाम उल हक मेगनू आई.पी.एस (AM:2012) का श्रीमती इनायत खान आई.ए.एस (BH:2012) के साथ विवाह होने के आधार पर असम-मेघालय से बिहार स्थान्तरित किया है

चुकी, बिहार कैडर की आईएएस इनायत खान शेखपुरा की जिलाधिकारी है। अतः आईपीएस डॉ मेगनू बिहार में योगदान देने के बाद से ही पदस्थापना के इंतजार में थे। दरअसल, अक्सर देखा गया है कि आईएएस आईपीएस पति पत्नी को अमूमन आसपास के जिलों में पोस्टिंग दी जाती है। इसी प्रक्रिया के तहत डॉ मेंगनू को जमुई पुलिस की कमान सौंपी गई है।

खैर,ये तो बात हुई आईपीएस अधिकारी के बिहार में प्रतिनियुक्ति की,लेकिन अब बात करते है। इस अधिकारी के उपलब्धियों और निजी जीवन के बाबत

कश्मीर के सोपियां जिले के निवासी है जमुई एसपी

जमुई के नए एसपी मूल रूप से दक्षिणी कश्मीर में स्थित शोपियां जिले के द्रग्गुड (Draggud) गांव के रहने वाले है। डॉक्टरी की पढ़ाई करने के बाद वर्ष 2012 में डॉ इनाम उल हक ने UPSC की परीक्षा में 280वां स्थान प्राप्त कर इंडियन पुलिस सर्विस ख़ातिर चयनित हुए। सरदार वल्लभ भाई पटेल नेशनल पुलिस एकेडमी से ट्रेनिंग प्राप्त करने के बाद इनाम उल हक को आसाम-मेघालय कैडर अलॉट किया गया। वक्त का पहिया अपनी रवानी पर घूम रहा था। फील्ड ट्रेनिंग पूरी कर डॉ इनाम उल हक को आसाम में बातौर SP पोस्टिंग भी मिल गई। समय बीत रहा था और देखते ही देखते साल 2018 आ गया। सगा छोटा भाई बन गया हिजबुल का आतंकी

इसी दौरान आईपीएस मेगनू को परिजनों से कश्मीर से एक हैरान कर देने वाली खबर मिलती। उनका सगा छोटा भाई शम्स उल हक मेगनू जो श्रीनगर के बाहरी क्षेत्र जकुरा में स्थित इंस्टीट्यूट ऑफ एशियन मेडिकल साइंसिस से बीयूएमएस कर रहा था,अचानक मई, 2018 में लापता हो जााता है। परीजनों द्वारा उसे तलाशने की कवायद जारी रहती है। लेकिन जब लापता शम्स उल हक का कुछ अतापता नही चलता तो घर वाले उसके गुमशुदा होने की तहरीर लोकल थाने में दर्ज करा देते है। इसी बीच मीडिया में खबर आ जाती है कि आसाम-मेंंघालय कैैैडर के आईपीएस का भाई बना आतंकी…

यह, महज कयास नही था बल्कि हक़ीक़त में उस वक्त तब्दिल हो जाता है जब पाकिस्तानी आतंकी संगठन हिजबुल मुजाहिद्दीन के इंडियन आर्मी द्वारा हलाक कमाण्डर बुरहान वानी की दूसरी बरसी पर हिजबुल ने शम्स उल हक की एक तस्वीर जारी की तस्वीर सोशल मीडिया पर वायरल हो गई जिसमें वह एक एके-47 राइफल लिए दिखाई दिया। हिजबुल ने अपने इस नए रंगरूट को कोड नाम ‘बुरहान सानी’ या “बुरहान द्वितीय” दिया। 

7 आतंकियों के मरने के बाद शम्स बना आतंकी

दरअसल, द्रगड़-शोपियां में पहली अप्रैल 2018 को लश्कर व हिजबुल के सात आतंकी जिस मकान में मारे गए थे, वह डॉ. शम्स के परिवार का ही है। तो वही दूसरी तरफ सुरक्षा बलों द्वारा मारे आतंकियों में एक दुर्दांत आतंकी जुबैर तुर्रे भी था जो डॉ. शम्स का रिश्तेदार था।

इस मुठभेड़ के केवल एक महीने बाद शमसुल हक अचानक अपने कॉलेज से गायब हुआ और मई में उसके आतंकी बने की खबर मिली। शमसुल के आतंकी बनने की बात तब साफ हुई जब हिजबुल मुजाहिद्दीन आतंकी संगठन से बुरहान वाणी की बरसी पर उसकी बन्दूक लेकर तस्वीर जारी की। सोशल मीडिया पर उसका एके-47 लेकर एक फोटो वायरल हुआ जिसमें उसके आतंकवाद में शामिल होने की तारीख 22 मई, 2018 लिखी गई थी।

 8 महीने के अंदर हो गया एनकाउंटर

इसी साल 25 जनवरी दिन मंगलवार को शोपियां में हुई मुठभेड़ में हिजबुल के तीन आतंकी मारे गए, जिसमें से एक आतंकी 2012  आईपीएस  इनामुल हक का छोटा भाई था। दक्षिणी कश्मीर के शोपियां ज़िले के शीरमाल इलाके में  हुई मुठभेड़ में 3 आतंकी मारे गए। शम्स के हलाक होने की पुष्टी पूर्व कमिश्नर IPS  शेष पॉल वैद के ट्वीट से हुई थी।

उम्मीद, जमुई के नवनियुक्त पुलिस कप्तान को लेकर आपके तमाम सवालों के जवाब मिल गए होंगे।

Loading...