बेधड़क ...बेलाग....बेबाक

Fact Finding-2 (वीडियो) क्या पटना में सच में गैंगरेप हुआ है? या फिर मामला कुछ और है? हालात और सुबूत कुछ और ही इशारा कर रहे है..

135

अबतक आपने पढ़ा …

Fact Finding – क्या पटना में सच में गैंगरेप हुआ है? या फिर मामला कुछ और है? हालात और सुबूत कुछ और ही इशारा कर रहे है..

क्रमशः से आगे …..

पटना Live डेस्क। वर्त्तमान में पूरा देश हैदराबाद की महिला डॉक्टर से जघन्यमत सामूहिक बलात्कार और फिर अपना गुनाह छुपाने ख़ातिर पीड़िता की हत्या कर चारो दरिंदो द्वारा पीड़िता को पेट्रोल डालकर जलाने की घटना से न केवल स्तब्ध रह गया बल्कि गुस्से से इसकदर बिफर उठा की रेप ख़ातिर कैपिटल पनिश्मेन्ट ख़ातिर आंदोलित हो उठा। लेकिन गिरफ्तार चारो आरोपियों द्वारा काण्ड के रिक्रिएशन के दौरान वारदात स्थल से भागने और पुलिस दस्ते पर हमला करने के दौरान हुए पुलिस इन्काउन्टर में चारो आरोपियों को ढेर कर दिया गया। इस घटना के बाद बेहद गम्भीरता से बलात्कारियों ख़ातिर पूरा देश मृत्यदंड की वकालत कर रहा है।

वही, राजधानी की कॉलेज में पढ़ने वाली छात्रा के साथ गैंगरेप की घटना के बाद बतौर एक जिम्मेदार न्यूज़ पोर्टल पटना Live ने इस स्तब्ध करने वाले काण्ड के सच को तलाशने की मुहिम शुरू की ताकि पीड़िता को इंसाफ दिलाने में सार्थक भूमिका अता की जाए और आरोपियों को कड़ी से कड़ी सजा मिले। लेकिन सच तलाशने के क्रम में कुछ तथ्य मिले जो गैंग रेप के आरोप के बाबत कुछ और ही इशारे कर रहे है।

चुकी यह आरोप बेहद शर्मनाक और अति निदनीय है। शहरवासियों का गुस्सा होना लाज़मी है। परंतु, इस बेहद शर्मनाक आरोप में नामज़द 4 युवको के जीवन मरण के साथ साथ उनके परिजनों के मान-सम्मान,रुतबे-रुआब और सामाजिक प्रतिष्ठा का भी प्रश्न है। यानी यह वारदात कई जिंदगियों पर बेहद बाद बड़ा प्रश्नचिन्ह खड़ा कर दिया है।

पीड़िता ने अपने चार पन्नो के आरोप में लिखा है कि वारदात को अंजाम देकर चारो आरोपी शाम 4 बजे के आसपास उसे कमरे में छोड़ फरार हो गए। घर मे डर और शर्म से घटना की जानकारी पापा को नही दिए थे।

जबकि पीड़िता की माँ ने 13 अप्रैल 2013 को अपने पति बिहार सरकार में बतौर एसडीएम तैनात पर पीड़िता के साथ बलात्कार करने का जघन्य आरोप दर्ज कराया था। पत्नी द्वारा अपने पति पर अपनी ही बेटी(पीड़िता) का बलात्कार करने का लिखित बेहद घिनौना आरोप लगाया गया था। यह काण्ड संख्या 11/ 2013 के तौर पर महिला थाने में दर्ज किया गया और IPC की धारा 376 आयद की गई। साथ ही माँ और बेटी (वर्त्तमान में पीड़िता उस वक्त नाबालिक थी) ने C.R.Pc 164 के बयान में उपरोक्त आरोप के साथ ही, माँ ने यह भी बताया था कि जब उन्होंने अपने पति के चंगुल से अपनी बेटी को बचाने की कोशिश की तो एसडीएम ने धमकी दी थी कि अगर तुमने ये बात किसी को बताई तो जान से मार दूंगा। साथ ही अपने एसडीएम पति पर लड़कियों को घर भी लाकर अपना लस्ट शांत करने का भी आरोप चस्पा किया था।

मामला दर्ज होते ही मीडिया की सुर्खियां बन गया और पुलिस द्वारा आरोपी एसडीएम 13 अप्रैल 2013 को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया था। आरोपी एसडीएम को लगभग 5 महिने बेउर जेल में बिताने पड़े थे, तब जाकर इस मामले में एसडीएम को हाइकोर्ट से 5 अगस्त 2013 में जमानत मिली थी। जमानत ख़ातिर हाइकोर्ट में एसडीएम के वकील द्वारा दलील दी गई कि पत्नी के आरोप के मुतलिक जब नाबालिक का मेडिकल कराया गया तो रेप की बात बिल्कुल नकारात्म पाई गई और उसकी उम्र 14-15 बताई गई थी।

वही,एसडीएम ने अपनी पत्नी और बेटी को वकील माध्यम से दलील दी थी कि दरअसल आरोप लगाने वाली माँ और पीड़ित बेटी दोनो स्किज़ोफ्रेनिक है, परीक्षा में विक्टिम द्वारा बेहद खराब नम्बर लाने पर एसडीएम ने पीटा था,उस पर बलात्कार का आरोप लगा दिया गया। तमाम आरगुमेंट्स और माँ-बेटी द्वारा अपने आरोप से पीछे हटने के बाद माननीय हाइकोर्ट द्वारा एसडीएम को 10 हजार के मुचलके पर जमानत मिली थी।

खैर,बात करते है वर्त्तमान आरोप के बाबत, चुकी पीड़िता ने 4 युवकों पर सामूहिक दुष्कर्म का आरोप लगाया है। साथ ही लिखित आवेदन देकर न्याय की गुहार लगाई है। पुलिस ने ताबड़तोड़ कार्रवाई करते हुए आरोपियों की गिरफ्तारी ख़ातिर उनके पटना,सिवान, छपरा,पालीगंज और उन तमाम पतों पर छापेमारी की जिन जगहों पर उनके मिलने की संभावना जताई गई।

पटना पुलिस की आरोपियों की गिरफ्तारी ख़ातिर जारी ताबड़तोड छापेमारी और परिजनों पर डाले गए दबाव ने असर दिखाया और शुक्रवार को आरोपी विपुल कुमार और मनीष कुमार ने कोर्ट में सरेंडर कर दिया। दोनो आरोपी कुम्हरार स्थित एक ही मोहल्ले के रहने वाले है। मनीष के पिता हाइकोर्ट में वकालत करते है वही विपुल के पिता LIC एजेंट है।

बेटे को लड़की द्वारा आरोपी बनाए जाने के बाबत विपुल के माता पिता की गुहार है कि दोषी है तो सज़ा दीजिये वार्ना इंसाफ करिये, आरोप के बाद घर से निकलना …

आरोपी विपुल के माता पिता की गुहार 

क्रमशः …

  • महज 4 महिने की फ्रेंडशिप और OYO होटल बुकिंग सॉफ्टवेअर के जरिए …
  • छोटे भाई का घटना वाले दिन का यानी 9 दिसम्बर को पीड़िता को किया गया ताबड़तोड फोन और वो मैसेज़
  • पीड़िता और आरोपी विपुल के मोबाइल CDR से खुलेंगे चौकाने वाले राज़

Comments are closed.