बेधड़क ...बेलाग....बेबाक

BiG News – पूर्व डीजी सुनील कुमार जेडीयू में शामिल, गोपालगंज के भोरे विधान सभा क्षेत्र से NDA के होंगे उम्मीदवार

पूर्व IPS सुनील कुमार चलाएंगे तीर, गोपालगंज के भोरे विधानसभा क्षेत्र से NDA की उम्मीदवारी तय, बड़े भाई अनिल कुमार है वर्त्तमान में कॉंग्रेस के सिंबल पर विधायक

767

पटना Live डेस्क। बिहार में विधानसभा के चुनाव से पहले सियासी सरगर्मी चरम पर है। इसी क्रम में खाकी पहन अपने जिम्मेदारियों का निर्वहन कर रिटायर हुए लोगो का सियासत में शिरकत करने का अभियान भी रफ्तार पकड़ने लगा है। इसी क्रम में शनिवार को बिहार के डीजी रह चुके पूर्व आइपीएस सुनील कुमार ने अपनी सियासी पारी की शुरुआत जनता दल युनाइडेट (जदयू) के साथ की है। उन्हें जदयू के वरिष्ठ नेता एवं सांसद ललन सिंह ने पार्टी की सदस्यता दिलाई। माना जा रहा है कि सुनील को जदयू की ओर से विधानसभा चुनाव में प्रत्याशी बनाया जाएगा।

 

बिहार के डीजी रह चुके पूर्व आइपीएस सुनील कुमार गोपालगंज जिले से ही ताल्लुक रखते है। पूर्व DGP सुनील कुमार 31 जुलाई को भारतीय पुलिस सेवा से रिटायर हुए थे।शनिवार 29 अगस्त की सुबह बारह बजे जदयू प्रदेश कार्यालय में उन्होने पार्टी की सदस्यता ग्रहण की। सुनील कुमार अपनी सियासी पारी की शुरुआत कर ली हैं।

सुनील कुमार 1987 बैच के आईपीएस अफसर हैं। बिहार निवासी व बिहार कैडर के बेहद तेज-तर्रार छवि वाले IPS अधिकारी ने राजनीति में जाने का फैसला लिया है। पटना के सीनियर एसएसपी के महत्वपुर्ण ओहदे को तो संभाला ही है।सुनील कुमार एडीजी पुलिस मुख्यालय व डीजी बिहार पुलिस भवन निर्माण निगम रह चुके हैं। होमगार्ड और अग्निमिशन सेवा के महानिदेशक व महासमादेष्टा जैसे कई महत्वपूर्ण विभागों में रह चुके हैं।बिहार पुलिस अकादमी के निर्माण में उनकी सक्रिय भूमिका रही है।

बड़े भाई हैं भोरे(Bhorey) के विधायक

पूर्व आइपीएस सुनील कुमार के भाई अनिल कुमार दो बार राज्यसभा के सदस्य रह चुके है। वर्तमान में वह गोपालगंज जिले के भोरे (सुरक्षित) विधानसभा सीट से कॉंग्रेस पार्टी के विधायक हैं। वह वहां से कई बार कभी कॉंग्रेस तो कभी राजद के सिंबल पर चुनाव जीत चुके हैं।

ऐसी चर्चा है कि वह इस बार अनिल कुमार चुनाव नहीं लड़ेंगे। इस बात को ध्यान में रख जदयू ने उनके भाई सुनील कुमार को वहां से उतारने का पक्का फैसला किया है। सुनील कुमार की छवि एक ईमानदार अधिकारी की रही है।

Comments are closed.