बेधड़क ...बेलाग....बेबाक

Super Exclusive-(वीडियो) कुख्यात डॉन रंजीत चौधरी के सबसे विश्वस्त शागिर्द अभिषेक की “तमंचे पर डिस्को” और फ़ायरींग

570

पटना Live डेस्क। बिहार सरकार के दावो के उलट सूबे में सुशासन का हाल बेहाल है। कोई ऐसा दिन नही होता जब अपराधियों का तांडव न दीखता हो। हद तो ये की  भोजपुर समेत राजधानी पटना को अपनी खूनी वारदातों से दहलाने वाले कुख्यात अपराधी रंजीत चौधरी के ईनामी कुख्यात शूटर अभिषेक सिंह और उसके एक अन्य साथी नीरज सिंह ने भोजपुर जिले के चांदी थाने से महज़ 3 किलोमीटर की दूर स्थित अपने गाँव लोदीपुर मे बारात में हथियार का न केवल खुलेआम प्रदर्शन किया बल्कि खूब नोट उड़ाते हुए ऑर्केस्ट्रा की नर्तकी के संग जमकर तमंचे पर खूब डिस्को किया और गोलियों की तड़तड़ाहट से डीजे के म्यूज़िक को भी थर्राने पर मजबूर कर दिया। यह सिलसिला घंटों चला और पुलिस सोती रही।              डॉन का शूटर 

   भोजपुर के मोस्ट वांटेड रंजीत चौधरी का गिरोह बिहार से लेकर झारखंड तक फैला है। भोजपुर के अलावा पटना और झारखंड के जमशेदपुर सहित दोनों राज्यों के विभन्नि जिलों में उसके खिलाफ हत्या के मामले दर्ज हैं।इस गिरोह के पास दर्जनभर से अधिक एके 47 व अन्य आधुनिक हथियार हैं। उदवंतनगर थाना क्षेत्र के बेलाउर गांव निवासी रंजीत चौधरी की गिनती न सिर्फ भोजपुर बल्कि पूरे सूबे में टॉप फाइव अपराधियों में की जा रही थी।पटना पुलिस द्वारा रंजीत चौधरी की गिरफ्तारी के बाद इसकी जानकारी दी गयी।अपने गांव के ही कुख्यात बूटन चौधरी से अदावत और 2013 में पूर्व मुखिया चंपा देवी की हत्या के बाद रंजीत सुर्खियों में आया था। इसके बाद उसने आपराधिक घटनाओं से पुलिस की नींद उड़ा दी थी। दहशत फैलाने की मंशा से उसके गुर्गों ने एक पैक्स अध्यक्ष को दौड़ा-दौड़ा कर गोली मार दी थी। वहीं जमशेदपुर में बिल्डर रामसकल यादव और पटना जिले के बिहटा के चर्चित व्यवसायी मिट्ठू की दिनदहाड़े हत्या में भी रंजीत का नाम आया था। नौबतपुर में मिठाई दुकान में गोलीबारी भी इसी गिरोह द्वारा की गयी थी। विदेशी हथियार का शौकीन रंजीत का गिरोह काफी लंबा-चौड़ा है।                                                                           कुख्यात गैंगेस्टर और सुपारी किलर डॉन का सबसे विश्वस्त शूटर है अभिषेक सिंह। यह कम उम्र में भोजपुर समेत पटना जिला में डॉन का सबसे चर्चित व भरोसेमंद साथी है। जो अपने इलाके में आतंक का पर्याय माना जाता है। अभिषेक मूल रूप से चांदी थाना क्षेत्र के लोदीपुर गांव जिला भोजपुर का रहने वाला है। यह बेहद दुःसाहसी है।बेहद खतरनाक शूटरों में शुमार किया जाता है। वही डॉन का वफादार यह शूटर उसके एक आदेश पर किसी पर कही भी फ़ायरींग कर देता है। इस कि बानगी दिखी थीजब इसने कुछ ही महीने पूर्व पटना जिले के नौबतपुर के उपप्रमुख पति सह दवा कारोबारी चीकू सिंह पर ताबड़ तोड़ सरेआम आम गोलियां की बौछार कर दिया था।                                                         पटना समेत भोजपुर पुलिस की नज़रों में फरार इस शूटर ने 23 तारीख की रात भोजपुर के चांदी थाना से महज तीन किलोमीटर की दूरी पर अपने गांव में एक कार्यक्रम के दौरान घंटों खुलेआम ताबड़तोड़ न केवल फ़ायरींग की बल्कि जमकर नोट भी उड़ाया।लेकिन, भोजपुर पुलिस को इसकी भनक भी नही लगी। आप भी देखिये कैसे कुख्यात अभिषेक सिंह (लाल शर्ट) में पहले लेडी डांसर के साथ कमर लचकाते हुए नोट उड़ाता रहा फिर अचानक नीरज सिंह आया और हथियार लहराते हुए तड़ातड़ फ़ायरींग करने लगा। फ़ायरींग से घबराकर डांसर भाग खड़ी हुई। एक बार फ़ायरींग शुरू हुई तो अभिषेक को भी जोश आ गया और फिर

अब आप ही अन्दाज़ा लगाए बिहार पुलिस और खासकर भोजपुर पुलिस के सुरक्षित आवाम के क़वायद का सच क्या हैं।?

Comments are closed.