Super Exclusive- (pics) “गोल्ड डकैती मास्टर” कई राज्यो की पुलिस के लिए सिरदर्द कुख्यात मनीष सिंह 2 साथियों समेत हुआ ढेर, कैश, 2 एके47 और अन्य हथियार बरामद

209

पटना Live डेस्क। बिहार में अपराधियों के खिलाफ आक्रामक हुई पुलिस ने शनिवार की अहले सुबह वैशाली के महनार-बहलोलपुर दियारा में एसटीएफ और पुलिस की संयुक्त टीम और अपराधियों के बीच भिड़ंत हो गई।इस मुठभेड़ में इलाके का निवासी कुख्यात मनीष समेत तीन अपराधी ढेर हो गए। मौके से एफटीएफ ने दो एके-47 रेगुलर एक देसी बंदूक,काफी मात्रा में जिंदा कारतूस व 72 हजार कैश बरामद किया। मारा गया कुख्यात मनीष सिंह बिहार समेत कई राज्यो की पुलिस खातिर सिरदर्द बना हुआ था। इस कुख्यात के निशाने पर गोल्ड रहता था। गोल्ड डकैती मास्टर मनीष सिंह न केवल दुःसाहसी रॉबर था, बल्कि किसी की जान लेने से भी नही हिचकता था। दियारा इलाके में एसटीफ के साथ हुए मुटभेड़ में मारे मनीष सिंह और उसके गिरोह के दो अन्य सदस्यों जिनकी पहचान समस्तीपुर निवासी मो. अब्दुल उर्फ तिवारी एवं दूसरे की पहचान मनियारी निवासी अब्दुल इमाम उर्फ राजकुमार के रुप में की गई। वही इस एनकाउंटर में  पटना निवासी मुकेश कुमार सिंह और वैशाली निवासी बिनोद उर्फ बाबू यादव को गिरफ्तार किया गया है।एडीजी ने बताया कि इस गिरोह ने राजस्थान के जयपुर के अलावा कोटा, पश्चिम बंगाल में आसनसोल सहित कई राज्यो में करोड़ो रुये सोना की लूट की घटना को तो अंंजाम दिया ही है।

बता दे कि, गुरुवार की शाम अपराधियों ने वैशाली के महुआ में दो होमगार्ड को गोली मारकर रुपये लुटे थे। इसमे कुख्यात मनीष कुमार गिरोह का नाम पुलिस के समक्ष आया था। इसके बाद से पटना एसटीएफ ने उसकी तलाश शुरू कर दी थी। इसी क्रम में एसटीएफ महनार-बहलोलपुर दियरा में मनीष और उसके साथियों के छुपे होने की जानकारी मिली थी।

Loading...