Super Exclusive (पिक्स) “मुंगेर के महाभारत” में खुरेजी, कुख्यात शूटर भोला सिंह पर बिहार शरीफ मे गोलियों की बौछार, जांघ में लगी गोली, खतरे से बाहर

150
#घटना के वक्त भोला सिंह अकेले ही स्कोर्पियो ड्राइवकर रहा था जब घात लगाए शूटरों ने की ताबड़तोड़ फायरिंग
#पंडारक में शादी समारोह में शामिल होकर लौटने के दौरान हुआ कातिलाना हमला
#अज्ञात स्थान पर इलाजरत है भोला, पुलिस और विरोध लगा रहे है टोह 

पटना Live डेस्क। लोकसभा चुनाव की रंणभेदी बजने से पहले ही महज आगाज के मद्देनजर बिहार के मुंगेर संसदीय सीट को लेकर बाहुबली विधायक अनंत सिंह और जदयू के ताकतवर नेता पूर्व सांसद ललन सिंह उर्फ राजीव रंजन की सिंघे आपस मे ज़ोरदार ढंग से फस गई है। इस “मुंगेर के महाभारत” रूपी सियासी जंग ने बाढ़ मोकामा के अंडरवर्ल्ड को भी दो फाड़ कर दिया है। जो अबतक बाहुबली विधायक के बन्दूकबाज और समर्थक थे वो अब ललन सिंह के खेमे में शामिल होकर अनंत के खिलाफ उछलकूद कर रहे है। इसी बीच मुंगेर के महाभारत में पहली बड़ी खूंरेजी की घटना को अंजाम दिया गया है।

मिली जानकारी के अनुसार सीआरपीएफ के भगोड़ा कुख्यात शूटर भोला सिंह बीती रात यानी गुरुवार को अपने गाँव पंडारक एक शादी समारोह में शामिल होने पहुचा था। शादी समारोह में शामिल होकर वो बिहार शरीफ़ लौट रहा था। शायद इस बात की सटीक सूचना उसके दुश्मनों को लग गई। अपनी स्कोर्पियो को ड्राइव करता हुआ भोला जैसे ही बिहार शरीफ शहर के मोड़ पर पहुचा पूर्व से हरबे हथियार के साथ घात लगाये विरोधी गुट के शूटरों ने वाहन पर ताबड़तोड़ फायरिंग कर दी और सभी शूटर बाइक पर सवार होकर फरार हो गए। वही बकौल चश्मदीदों के शूटरों की संख्या 3 बताई जा रही है। वही, इस फायरिंग मे भोला को एक गोली जांघ में लगी और वो घायल हो गया। शूटरों के फरार होने के बाद एक अन्य वाहन में पीछे आ रहे भोला गैंग के सदस्यों ने ज़ख्मी भोला को गाडी से निकाला और फिर एक अन्य ने भोला की स्कोर्पियो की ड्राइविंग सीट सम्भाली और सभी किसी अज्ञात स्थान की ओर कूच कर गये। जहाँ गोली लगने से घायल भोला सिंह का इलाज करवाया जा रहा है।

भोला सिंह के जांघ में लगी गोली, खतरे से बाहर

सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार भोला पर 3 राउंड फायरिंग की गई। जिसमें एक गोली उसे जांघ में जा लगी। जख्मी भोला का किसी गुप्त स्थान पर डॉक्टर द्वारा ऑपरेशन कर गोली निकाल दी गई है और उसकी स्थिति खतरे से बाहर बताई जा रही है। घटना के बाद से भोला के समर्थकों में बेचैनी थी और अफवाहो का बाज़ार गर्म था कि भोला मारा जा चुका है। मारे जाने की खबर से सभी हलकान थे। लेकिन अब महज घायल होने की खबर से समर्थकों में सन्नाटा पसरा है। परिजनों के भी मोबाइल फ़ोन बंद पड़े है।वही, कुख्यात पर हुए जानलेवा हमले के बाद न केवल बाढ़ मोकामा में चर्चाओं का बाजार गर्म है। लोगो को आशंका है कि जल्द ही खुद पर हुए हमले का बदलना लेने की कोशिश भोला सिंह गिरोह द्वारा किया जाएगा ताकि दुश्मनो को करारा जवाब दिया तो जाए ही साथ ही समर्थकों में भी गिरोह की साख बची रह सके। इस आशंका के तहत इलाके के अमन पसंद और बुद्धिजीवी वर्ग एक बार फिर इलाके में गैंगवार की आशंका से हलकान है।

वही, पटना जिले के इस कुख्यात शूटर के घायल होने की खबर से पुलिस भी सजग है और कानून की कई धाराओं में नामज़द और लम्बे समय से फरार भोला सिंह की गिरफ्तरी खातिर टोह में लगी ताकि इलाजरत भोला को गिरफ्तार किया जा सके।वही विरोधी गुट भी जख्मी भोला की तलाश में जीजान से जुटा है ताकि अपने घायल दुश्मन को ठिकाने लगाया जा सके।

Loading...