बेधड़क ...बेलाग....बेबाक

डॉ. एसएन झा को मिला मौलाना अबुल कलाम आजाद शिक्षा पुरस्कार, CM नीतीश ने किया सम्मानित

356

पटना Live डेस्क।शिक्षा दिवस के मौके पर बिहार शिक्षा विभाग की ओर से अबुल कलाम आजाद शिक्षा पुरस्कार 2021 से जमुई के डॉक्टर शंकर नाथ झा नवाजे गए। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने उन्हें अंग वस्त्र और प्रशस्तिपत्र और ढ़ाई लाख का चेक देकर सम्मानित किया। इस मौके पर शिक्षा मंत्री विजय कुमार चौधरी, स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय,भवन निर्माण मंत्री अशोक चौधरी समेत विभाग के कई अधिकारी मौजूद रहे।

 

कार्यक्रम के बाद पत्रकारों को संबोधित करते हुए सीएम नीतीश ने डॉक्टर शंकरनाथ झा की प्रशंसा की, साथ ही कहा कि 2007 से इस परंपरा की शुरूआत की गयी है। शिक्षा के क्षेत्र में बेहतर काम करने वाले लोगों को यह सम्मान दिया जाता है। ऐसे लोगों के काम से समाज में सुधार होता है। हमलोगों को जब से काम करने का मौका मिला है तभी से समाज के अंतिम पायदान पर बैठे लोगों तक विकास की रोशनी पहुंचाने का काम कर रहे हैं।

दरअसल, डॉक्टर एसएन झा मूलत: झारखंड राज्य के देवघर के रहने वाले हैं। लेकिन पिछले 33 साल से (1988) जमुई में शिशु रोग विशेषज्ञ के रूप में लोगों की सेवा कर रहे हैं। वह काफी मिलनसार और सामाजिक कार्यों में बढ़-चढ़कर हिस्सा लेने वाले डॉक्टर हैं। पिछले 15 वर्षों से अपनी टीम के साथ मिलकर महादलित समुदाय के लोगों को शिक्षित कर रहे हैं। इस समुदाय के कई बच्चे शिक्षित होकर नौकरी पेशा में हैं। कुछ अपने समुदाय के अन्य बच्चों को शिक्षित कर रहे हैं।

वही, पुरस्कार के लिए आभार जताते हुए डॉ। झा ने कहा कि महादलित बच्चों को शिक्षित करने का बीड़ा मैं और मेरी टीम ने करीब 15 वर्ष पहले उठाया था। महादलित समुदाय के एक टोले से शुरू किया गया यह काम आज 55 टोले तक पहुंच गया है। करीब 5500 बच्चे शिक्षित हो चुके हैं और आज 55 केंद्रों पर करीब 1500 बच्चों को शिक्षा दी जा रही है। आने वाले दिनों में इस समुदाय के बच्चों को शिक्षित करने को लेकर काफी प्रयास करने की योजना भी है। जिस पर काम किया जा रहा है।

Comments are closed.