बेधड़क ...बेलाग....बेबाक

डीएम पटना का नया फरमान,नही मनाने पर सील होंगे होटल,मॉल और सिनेमा हॉल आखिर क्यों जाने

169

पटना Live डेस्क। राजधानी पटना की सुरक्षा को चाक चौबंद करने की मुहिम में डीएम संजय अग्रवाल द्वारा नए फरमान जारी किए गए है।इस नए आदेश के तहत शहर के होटल,मॉल व सिनेमा हॉल में कुछ जगहों कि छोड़कर हर जगह सीसीटीवी कैमरे लगाए जाएंगे। साथ ही सभी बड़े सार्वजनिक प्रतिष्ठानों में सीसीटीवी लगा है या नहीं,इसकी जांच भी जिला प्रशासन करेगा। जांच ख़ातिर डीएम द्वारा टीम का गठन किया गया है। जिसका नेतृत्व एसडीओ करेंगे।अगर जाँच के दौरान सीसीटीवी गायब या बंद मिलता है, तो उस होटल व मॉल पर कार्रवाई की जायेगी। होटल में वॉश रूम, बेड रूम को छोड़ सभी जगहों पर कैमरे लगाना अनिवार्य है।                                                     शहर के तमाम होटल,मॉल और सिनेमा घरों को आदेश दिया गया है कि कैमरे की मॉनीटरिंग करने के लिए 24 घंटे के लिए प्रबंधक को अलग से एक व्यक्ति नियुक्त भी करे,ताकि किसी घटना के बाद तुरंत फुटेज मिल सके। साथ ही सीसीटीवी में कैद फुटेज को कम से कम तीन महीने तक संस्थानों को संभाल कर रखना भी होगा।

डीएम संजय कुमार अग्रवाल ने बताया कि होटल, मॉल व सिनेमा हॉल में एक साथ काफी संख्या में लोग हर वक्त मौजूद रहते हैं ऐसे में जरूरी है कि उन सभी की सुरक्षा हो। मॉल के मुख्य द्वार, कॉरिडोर, सीढ़ी के नीचे व लिफ्ट,मॉल के उस सभी इलाके में जहां व्यक्ति का आना-जाना कम होता है,पार्किंग,छत अगर खुली हो। सिनेमा हॉल मुख्य द्वार,हॉल में, इमरजेंसी व स्पेशल द्वार पर,जहां पर लोगों की भीड़ रहती है, वॉश रूम के दरवाजे पर, पार्किंग में लगाया जाना है।

वही होटल के मुख्य द्वार, कॉरिडोर,कॉमन वॉश रूम के बाहर, गैलरी,होटल के सभी हॉल में,किचेन, होटल के सभी रेस्तरां में,हर फ्लोर की सीढ़ी व लिफ्ट में, साथ ही ऐसे कॉरिडोर में भी जहां से हर रूम का दरवाजा कवर हो सके।पार्किंग,होटल के रिसेप्शन काउंटर पर जिसमें आगंतुकों की साफ तस्वीर ली जा सके जैसे जगहों में सीसीटीवी लगाना अनिवार्य है। यदि जरूरत पर वीडियो फुटेज नहीं मिला तो संस्थान सील होगा।

 

Comments are closed.