लालू की रैली का रोमांच महसूस करना हो तो पटना आइए…किसिम-किसिम के पोस्टर आपको गुदगुदाने को मजबूर कर देंगी!

100

पटना Live डेस्क. लालू प्रसाद की भाजपा भगाओ रैली वैसे तो रविवार को है..लेकिन रैली के एक दिन पहले ही पटना की सड़कों पर रोमांच चरम पर है..आप सोचेंगे कि आखिर कैसा रोमांच.. तो इसे महसूस करने के लिए तो आपको पटना आना होगा…ये रोमांच है राजद की तरफ से राजधानी पटना के अलग-अलग जगहों पर लगाए गए पोस्टरों का..तरह-तरह के पोस्टर…किसिम-किसिम के पोस्टर..पटना में रहने वाली जनता इन पोस्टरों को देख मुस्कुरा रही है और याद कर रही हैं उस गरीब रैला के दौरान लगाए पोस्टरों की जब इसी तरह जनता के तारणहार वाले पोस्टरों से पटा पड़ा था पटना…लेकिन इस समय उतना तो नहीं फिर भी मुख्य चौक-चौराहों पर चारों तरफ ऐसी ही हंसी और गुदगुदाने वाले पोस्टर आपको देखने को मिलेंगे…अब जरा कई तरह के पोस्टरों पर गौर फरमाइए..दो दिन पहले ही एक राजद कार्यकर्ता ने लालू के उत्तराधिकारी तेजस्वी को बाहुबली के गेटअप में दिखाया था..तेजस्व के बाहुबली गेटअप वाले पोस्टर चारों तरफ चिपकाए गए थे..लोगों ने जब उस पोस्टर को देखा तो मंद-मंद मुस्कुराया…कुछ ने सवाल किया कि जब तेजस्वी बाहुबली हैं तो आखिर कटप्पा कौन है..सोशल मीडिया पर यह पोस्टर ट्रेंड भी करने लगा…कटप्पा कौन इसको लेकर तरह-तरह के जवाब भी आने लगे…किसी ने नीतीश कुमार को कटप्पा बता दिया तो किसी ने खुद तेजस्वी को ही कट्प्पा घोषित कर दिया…मतलब है कि पोस्टरों को लेकर भी लालू परिवार इन दिनों खासी चर्चा में हैं…अब रैली से पहले एक और पोस्टर ने सबकी निगाहें अपनी ओर खींची हैं…लोग पूछ रहे हैं कि आखिर तेजस्वी बाहुबली हैं कि अर्जुन हैं, यह तो तय ही नहीं हो पा रहा…रैली से पहले जिस पोस्टर ने सोशल मीडिया पर जगह बनाई है उस पोस्टर में लालू और राबड़ी को भगवान का रुप बताया गया है तो तेजस्वी को अर्जुन.. तेजप्रताप को भगवान कृष्ण के गेटअप में दिखाया जा रहा है…हां आश्चर्य में डालने वाली बात यह है कि अभी तक रैली के लिए पोस्टरों से गायब रही लालू प्रसाद की बड़ी बेटी मीसा भारती ने भी इस पोस्टर में अपनी जगह बनाई है…पोस्टर में उसे घोड़े पर सवार लक्ष्मीबाई के रुप में दिखाया गया है..जिसके हाथ में तलवार है…पोस्टर का सबसे महत्वपूर्ण हिस्सा है आम जनता..जिसे लालू और राबड़ी के सामने हाथ जोड़े दिखाया गया है… नीचे एक नारा भी लिखा है जिसमें लिखा है कि तेजस्वी तुम संघर्ष करो..हम तुम्हारे साथ हैं.. चौराहों पर लगे पोस्टरों को देख पटना में रहनेवाले कई लोग राजद के नारों की चर्चा कर रहे हैं तो कोई लालू के बेटों के कई अवतार के बारे में बातें कर रहा है..

दरअसल यह सारी कवायद पार्टी के कुछ छुटभैये नेताओं की तरफ से किया गया है..जिसका मतलब है कि कुछ अलग तरह की पोस्टर लगाओ जिसपर नेताओं का ध्यान जाए और पार्टी में पैठ बनायी जाए..हालांकि यह कोशिश कितनी सफल होती है यह तो लालू प्रसाद ही जानें लेकिन रैली में लगे पोस्टरों ने लोगों को चर्चा करने और उसकी रचनात्मकता पर अपनी राय देने का मौका जरुर दे दिया है.

 

 

 

Loading...