बेधड़क ...बेलाग....बेबाक

Good News-DGP की होली-झुग्गी झोपड़ी के बच्चों संग बिखेरा त्योहार का रंग,मासूमो की खिलखिलाहट और चेहरों की चमक से जमकर बरसा नूर

35

- Advertisement -

पटना Live डेस्क। बिहार के डीजीपी गुप्तेश्वर पांडेय अपने अनोखे अंदाज ख़ातिर जाने जाते है। बतौर पुलिस महानिदेशक के अबतक के अलिखित मानकों को तोड़ कर पुलिस मुख्यालय के आलीशान सुसज्जित दफ्तर से बाहर निकलकर आम आदमी के बीच सक्रिय रहने वाले गुप्तेश्वर पांडेय की हर अदा ही निराली है। इसकी झलक दिखी रंगोत्सव के मौके पर जब डीजीपी अपने सरकारी आवास पर झुग्गी झोपड़ी के सैकड़ों बच्चों के साथ रंगोत्सव की खुशियां बाटने में मशगूल दिखाई दिए। मासूमो की खिलखिलाहट और पकवानों की भीनी भीनी खुशबू के बीच मेजबान पुलिस महानिदेशक काफ़ी प्रशन्नचित नज़र आ रहे थे।

मासूमो के चेहरों की चमक से जमकर बरसा नूर

- Advertisement -

विगत दिनों लंदन की बेहद थकाऊ लम्बी यात्रा के जेटलैग को नकारते हुए पटना लौटने के बाद DGP महोदय बच्चों संग खूब खुश दिखाई दे रहे थे। मेजबानी के दौरान वो हर मासूम को तवज्जो तो दे ही रहे थे बल्कि इस बात का विशेष ख्याल रखते नज़र आये की हर  बच्चा मिठाई और पकवान पेट भर खाये। झुग्गियों के इन मासूमो के संग बिल्कुल बच्चे की तरह आनन्दित नज़र आ रहे पुलिस महानिदेशक का यह रंगोत्सव उस वक्त सार्थक हो गया जब मासूमो की खिलखिलाहट और चेहरों की चमक से नूर बरसने लगा।

                    मासूमो की खुशी और चमकते दमकते चेहरों ने आर्टिफिशियल रंगों की होली को मीलों पीछे छोड़ कर रंगोत्सव का ऐसा माहौल बनाया की डीजीपी महोदय भवाविहल होकर स्वयं भी अपने बचपन की यादों की गलियों में विचरते हुए घण्टों बच्चों संग खुशियां लुटाते और अनमोल पलो को यादों के खजाने में समेटते रहे।

 

- Advertisement -

Comments are closed.