बेधड़क ...बेलाग....बेबाक

संपत्ति के लालच में इकलौती बेटी ने अपने पति संग मिलकर रची अपने पिता की हत्या की साजिश,

109

रंजन त्रिगुण, संवाददाता, कैमूर

पटना Live डेस्क। समाज के बदलते मापदंडों और रिश्तों पर भारी पड़ते सम्पति ने खून के रिश्तों के परखच्चे उड़ा दिए है। हालात दिन ब दिन बद से बदतर होते जा रहे है। इसी का उदाहरण देखने को मिला है। बिहार के कैमूर जिले में जहां सम्पति के लालच में बेटी ने ही बाप के न केवल कत्ल कि साज़िश रच डाली बल्कि पिता की हत्या के बाद अपने गांव के पाटीदारों को ही आरोपी बना कर कुदरा थाने में प्राथमिकी दर्ज करा दी।

                     मामला कुदरा थाना छेत्र के छतौना गाँव के श्रीभगवान सिंह का है जिनका लाश पांच जून को नहर किनारे देख कर ग्रामीडो ने पुलिस को सूचना दिया था। पुलिस ने 10 दिन पूर्व हुए हत्या के मामले को उजागर करते हुए हत्या के आरोपी बेटी दामाद और दमाद के दोस्त को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया उसके साथ एक देसी कट्टा और हत्या में प्रयोग की गई अल्टो कार भी बारमाद कर लिया।


कैमूर एसपी हरप्रीत कौर ने बताया कि पुलिस गिरफ्त मेंं आई बेटी दीपाली ने अपने पिता की इकलौती बेटी थी। पिता के पास कुल 5 बीघा जमीन था जिस में ढाई बीघा अपने बेटी को लिख चुका था और ढाई बिघा मरने के बाद बेटी के नाम से वसीयतनामा बना कर दे दिया था लेकिन पिता कुछ जरूरत के लिए अपना एक बीघा जमीन बारह लाख में बेच दिया और जिस जिसमें 5 लाख रुपया अपने इलाज में लगाया। बाकी के सात लाख रुपया अपने रिश्तेदारों में बांट दिया जिसको लेकर बाप बेटी और दामाद में अक्सर झगड़ा हुआ करता था। कुछ दिनों बाद पिता अपने एक बीघे और जमीन का सौदा कहीं और करने की बातचीत करता था।

लेकिन बेटी दामाद को यह सब नागवार गुजरा मृतक श्रीभगवान के दमाद नरेंद्र प्रकाश अपने दोस्त के साथ मिलकर रची खौफनाक साजिश जिसमें बाप को 4 जून की रात दस बजे बाहर खाना खाने के लिए अपने घर से गाड़ी में बिठा कर ले कर अपने दोस्त के साथ चल दिया। बीच रास्ते में गाड़ी खराब होने का बहाना बनाकर गाड़ी ठीक करने का नाटक करने लगा उसी समय मृतक के दमाद का दोस्त अपना कट्टा निकालकर श्री भगवान सिंह के आंख के बगल में सटा कर मार दी।।जिससे उसकी घटनास्थल पर ही मौत हो गया उसके बाद अहले सुबह मृतका की पुत्री ने ही अपने गांव के गोतिया को आरोपी बनाते हुए कुदरा थाना में प्राथमिकी दर्ज कराई लेकिन पुलिस ने कॉल डिटेल के आधार पर आरोपियों को पकड़ लिया उन आरोपियों ने एसपी के सामने अपना जुर्म कबूला फिर उसे जेल भेज दिया गया

Comments are closed.