बेधड़क ...बेलाग....बेबाक

Festival ऑफ Colors पर Corona का कहर – होली के दिन सार्वजानिक कार्यक्रमों पर सरकार ने लगाई पाबंदी

होली में सार्वजनिक कार्यक्रम पर रहेगा प्रतिबंध, कोरोना गाइडलाइंस का पालन करना होगा अनिवार्य, होली के दिन सार्वजनिक जगहों पर इकट्ठा होकर किसी भी तरह की गतिविधि/आयोजन की अनुमति नहीं होगी।शब-ए-बरात के अवसर पर भी कम से कम लोग एक जगह पर इकट्ठा होंगे।

192

पटना Live डेस्क। रंगों के त्योहार होली के जश्न में कोरोना वायरस एक बार फिर खलल डालने जा रहा है। विगत कुछ दिनों में देश में कोरोना वायरस के नए मामलों में जबरदस्त उछाल देखने को मिला है। जिसके बाद राज्य सरकारों को होली के जश्न में कुछ नियम और शर्तें जोड़ने पर मजबूर कर दिया। देश में कोरोना की न लहर थम रही है और न ही कहर में कोई कमी दिख रही। वही बात बिहार की करे तो सुरक्षा के दृष्टिकोण से बिहार सरकार काफी सतर्क है। खास कर होली और शब-ए-बारात को लेकर सरकार ने कई गाइडलाइंस जारी किए हैं जिससे कि संक्रमण फैलने के खतरे को कम किया जा सके।सरकार ने सार्वजनिक स्थानों पर होने वाले किसी भी प्रकार के कार्यक्रमों पर प्रतिबन्ध लगा दी है।इस निर्णय के बाद पूरे बिहार के लिए आदेश जारी किए गए हैं।

                        जारी आदेश में कहा गया है कि राज्य में कोविड-19 के बढ़ते मामलों को देखते हुए कोविड-19 के सफल प्रबंधन हेतु 27 मार्च यानी शनिवार को आपदा प्रबंधन समूह की बैठक में कुछ अहम निर्णय लिया गया। इसको लेकर गृह विभाग ने आदेश जारी किया है।

होलिका दहन पर कम से कम लोग हों इकट्ठा

क्राइसिस मैनेजमेंट ग्रुप की बैठक में जारी निर्देश के अनुसार होली त्योहार की पूर्व संध्या पर आयोजित होने वाले होलिका दहन के अवसर पर कम से कम संख्या में लोग एकत्रित होंगे और उस अवसर पर कोविड प्रोटोकॉल (मास्क पहनना,सोशल डिस्टेंसिंग बनाए रखना, हैण्ड सेनेटाइजिंग, इत्यादि) का अनुपालन करना अनिवार्य होगा।होली के दिन सार्वजनिक जगहों पर इकट्ठा होकर किसी भी प्रकार की गतिविधि/आयोजन की अनुमति नहीं होगी।

वहीं, शब ए बरात को लेकर कहा गया कि कम से कम व्यक्ति एक स्थान पर एकत्रित होंगे, साथ ही उनके लिए भी कोविड प्रोटोकॉल जैसे मास्क पहनना, सोशल डिस्टेंसिंग, हैंड सेनीटाइज करना होगा। साथ ही कब्रिस्तान प्रबंधन समितियां भी अपने स्तर से कोविड-19 पालन के संबंध में पूर्ण एहतियात बरतें।

Comments are closed.