बेधड़क ...बेलाग....बेबाक

सेहरी छोड़ आतंकियों से मुकाबले को दौड़े कमांडेंट इकबाल, गृह मंत्री ने थपथपाई पीठ

119

पटना Live डेस्क। रमज़ान के पाक मुकद्दस महिने में बतौर रोजेदार सुबह सबेरे सेहरी के वक्त जम्मू कश्मीर के बांदीपुरा के सीआरपीएफ कैंप में आतंकियों के घुसने की कोशिश नाकाम करने में सीआरपीएफ कमांडेंट इकबाल ने अहम रोल निभाया। वे सोमवार को तड़के  रोज़े के लिए सेहरी करने उठे थे। जैसे ही आतंकियों के हमले की गूंज कमांडेंट इकबाल के कानों को मिली,वो सेहरी छोड़ कर दुश्मन से मुकाबला करने कैंप की तरफ दौड़ पड़े। कैंप पहुंचने के बाद इकबाल ने अपने दूसरे साथियों के साथ मिलकर चारों आतंकियों को ढेर कर दिया।

                       गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने की कमांडेंट इकबाल अहमद की तारीफ सेहरी छोड़ आतंकियों से देश की रक्षा करने के लिए अपनी जान की बाज़ी लगाने वाले कमांडेंट इकाबल अहमद की गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने भी तारीफ की। राजनाथ सिंह ने इस बड़ी आतंकी घटना को नाकाम करने के लिए कमांडर शंकरलाल जाट, पंकज हल्लू, कमांडर पंकज कुमार, कांस्टेबल दिनेश राजा और प्रफुल्ल कुमार की भी जमकर प्रशंसा की।


जम्मू कश्मीर के बांदीपुरा में सुरक्षाबलों ने कल चार आतंकवादियों को मार गिराया।आतंकवादियों ने सुबह 4 बजे सीआरपीएफ के कैंप पर हमला किया था।जवाबी कार्रवाई में सुरक्षाबलों ने आतंकवादियों को मार गिराया सुरक्षाबलों के मुताबिक ये फिदायीन हमला था जिसे नाकाम कर दिया गया। ये हमला कल सुबह यानी सोमवार की अहले सुबह करीब तीन बजे शुरू हुआ था। जब चार फिदायीन हमलावरों ने सुंभल में 45वीं सीआरपीएफ बटालियन के कैंप में घुसने की कोशिश की थी। हमलावरों ने पहले संतरी पोस्ट को निशाना बनाकर फायरिंग की थी और दीवारें कूदकर कैंप के अंदर जाने की कोशिश की थी।

Comments are closed.