बेधड़क ...बेलाग....बेबाक

BiG News – थानेदार को SP ने किया निलंबित, पकड़े गए ट्रक को मोटी रकम लेकर छोड़ने का लगा है गंभीर आरोप

94

पटना Live डेस्क। सूबे में खाकीवालो पर अक्सर और अमुुुमन वसूलने का आरोप चस्पा होता रहता है। मामले का जब भी खुलासा होता है वरीय अधिकारियों द्वारा चिन्हित पुलिस वाले पर निलंबन की गाज भी गिरती है। फिर भी थानो में उगाही का अघोषित नियम पूरी शिद्दत से जारी रहता है। इसी क्रम एक बार फिर बक्सर के एसपी ने जिले के एक थानेदार को नज़राना वसूली के मामले में तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया है। पुलिस कप्तान उपेन्द्र नाथ वर्मा की इस कठोर कार्रवाई की गूंज पूरे जिले में सुनाई दे रही है। जिसका फलाफ़ल यह है किपुलिस महकमे में हड़कंप मच गया है।

               दरअसल, बक्सर जिले के नावानगर थाना क्षेत्र के बाज़ार के समीप स्थित सहारा इंडिया बैंक के पास सड़क दुर्घटना में गंभीर रूप में घायल हो गया।घायल युवक को पुलिस के मदद से आनन-फानन में नावानगर प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र ले जाया गया जहां से उसकी गंभीर हालत को देखते हुए उसे ड्रामा सेंटर वाराणसी रेफर कर दिया गया।

मिली जानकारी के अनुसार थाना क्षेत्र के रूपसागर निवासी छोटे सिंह कुशवाहा के पुत्र अपने पत्नी के साथ नावानगर प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र जा रहे थे तब तक किसी वाहन के चपेट में आ गए जिससे वह जख्मी हो गए। बताया जा रहा है की थाना पुलिस ने त्वरित कार्रवाई करते हुए ट्रक को जब्त करने के साथ-साथ उसके चालक व खलासी को भी हिरासत में ले लिया था।

लेकिन, कुछ घंटे के अंदर ही थानाध्यक्ष द्वारा ट्रक को मुक्त करते हुए चालक खलासी को भी छोड़ दिया गया। जब यह घटना स्थनीय लोगो ने देखा तो तुरंत स्थानीय थाना के विरुद्ध नारेबाजी करते हुए सड़क को भी जाम कर दिया। सड़क जाम की सूचना पर नावानगर थानाध्यक्ष जुनैद आलम, एसडीपीओ कृष्ण कुमार सिंह दल बल के साथ घटनास्थल पर पहुंच गए हैं तथा लोगों को समझाने बुझाने के प्रयास में जुट गए।

 वही, प्रदर्शन के दौरान ही स्थानिए लोगो को पता चला कि सुबह नावानगर थाना क्षेत्र में हुई सड़क दुर्घटना में युवक की ईलाज करने ट्रामा सेंटर जाने के दौरन मौत हो गई। एसपी की ओर से मिली जानकारी के मुताबिक सड़क हादसे में युवक की मौत के बाद थानेदार जुनैद आलम ने पैसा लेकर ट्रक छोड़ दिया था। जिसके बाद ग्रामीणों ने काफी आक्रोश मचाया था। ग्रामीणों थानेदार का विरोध करते हुए कार्रवाई करने की मांग की थी।

पुलिस अधीक्षक उपेन्द्र नाथ वर्मा ने बताया कि मामला आते ही घटना की डुमरांव एसडीपीओं केके सिंह को जांच करने का आदेश दिया गया| जाँच के दौरान पता लगा की थानाध्यक्ष के द्वारा घटना की अंजाम देने वाले ट्रक व चालक को छोड़ दिया गया है। जिसके बाद एसपी ने तुरंत नावानगर थानाध्यक्ष जुनैद आलम को निलंबित कर दिया गया।एसपी ने बताया कि कोई भी पुलिसवाले काम में लापरवाही बरतेंगे तो उनके ऊपर कड़ी कार्रवाई की जाएगी।

Comments are closed.