BiG Breaking (Exclusive वीडियो) सेंट्रल मिनिस्टर सह बक्सर उम्मीदवार अश्विनी चौबे ने अचार संहिता की उड़ाई धज़्ज़िया,SDO से भिड़े – कहा खबरदार! तमाशा मत करिए आपलोग

313

पटना Live डेस्क। केंद्रीय मंत्री और बिहार के बक्सर से सांसद अश्विनी कुमार चौबे एक बार फिर विवादों में घिरते नजर आ रहे है। दरअसल, लोकसभा चुनाव 2019 ख़ातिर एक बार फिर बक्सर से एनडीए के उम्मीदवार बनकर अश्विनी चौबे अपनी किस्मत आज़मा रहे है। इसी सिलसिले में मंत्री महोदय बक्सर के किला मैदान में विजय संकल्प सभा मे पहुंचे। साथ ही मंत्री के पीछे पीछे बिना परमिशन की 40 गाड़ियों का काफिला दनदनाता हुआ आयोजन स्थल पर पहुचा। यही नही मंत्री निर्धारित समय से ज्यादा देर तक सभा करते रहे। तब एसडीओ व एसडीपीओ ने किला मैदान का गेट बंद कर काफिले को घेरने की कवायद शुरू की। ताकि उचित कार्रवाई की जा सके फिर क्या था बवाल मच गया। मंत्री महोदय और SDO (सदर) में इस बात को लेकर जमकर तू तू मैं मैं हो गई। लेकिन,इस पूरे प्रकरण में एसडीओ केके उपाध्याय ने शालीनता का परिचय दिया।लेकिन इस प्रकरण का वीडियो वायरल हो गया है।

SDO सदर देते रहे “अचार संहिता” की दुहाई

किला मैदान में जारी कार्यक्रम तय समय से ज्यादा देर तक जारी रहा। इस बीच प्रशासन को सूचना मिली समय समाप्त होने के बाद भी कार्यक्रम चल रहा है। इस बीच सदर एसडीओ के के उपाध्याय वहां पहुंच गए। उन्होंने सांसद को टोका तो भाजपा सांसद उनपर भड़क गए। लेकिन,एसडीओ केके उपाध्याय ने शालीनता का परिचय दिया और आचार संहिता की दुहाई दी।
वही, बाद में जब पत्रकारों ने सवाल किया कि क्या इस मामले में आचार संहिता उल्लंघन का मामला दर्ज हो रहा है? पूछने पर एसडीओ ने कहा कि वरीय पदाधिकारियों के साथ विचार विमर्श किया जा रहा है।

तय समय के बाद जारी रहा कार्यक्रम बना मुद्दा हालाकि सूत्रों की माने तो विवाद समय को लेकर था। कार्यक्रम की अनुमति शाम 5बजे तक की ही थी। लेकिन कार्यक्रम 6 बजे तक जारी रहा। बावजूद इसके वहा बहस की कोई गुंजाइश नही थी। प्रशासन को अगर इसके विरूद्ध मामला दर्ज करना था तो कर सकता था। पर जब एसडीओ व एसडीपीओ ने किला मैदान का गेट बंद कर काफिले को घेराना चाहा तो बवाल मचा।
जिसका परिणाम यह निकला कि मंत्री महोदय एसडीओ सदर से भिड़ गए और फिर जमकर बदजुबानी हो गई। वही इस दौरान एनडीए के कार्यकर्ता भी बड़ी सख्या में मौजूद रहे और गेट बंद किये जाने को लेकर आक्रोशित हो गए।
खबरदार! तमाशा मत करिए आपलोगनिवर्तमान केंद्रीय स्वास्थ्य राज्य मंत्री सह सांसद अश्विनी चौबे ने सदर एसडीओ से कहा-किसकी मां की मजाल है जो गेट बंद करवा दे। साथ ही एसडीओ से बदज़ुबानी करते हुए यहाँ तक कह डाला कि –किसका आदेश है कि गाड़ी जब्त करोगे। ये मेरी गाड़ियां हैं जब्त नही कर सकते। एसडीओ इलेक्शन कमीशन के आदेश की दुहाई देकर मंत्री को समझाने की कोशिश करते रहे पर अश्विनी चौबे मनाने को बिल्कुल तैयार नही हुए।
इतना ही नही चौबे लगातार एसडीओ से बतकुच्चन और बदजुबानी करते रहे। इसी बीच मैदान में मौजूद एनडीए कार्यकर्ताओं ने जबरन किला मैदान का गेट खोल दिया और फिर एक बार प्रत्याशी अश्विनी चौबे दनदनाते हुए वाहनों के काफिले के साथ निकल गए।देखिए मंत्री महोदय और SDO की भिड़त

Loading...