बेधड़क ...बेलाग....बेबाक

BiG News-खत्म हो गया पटना पुलिस का इक़बाल राजधानी में थानेदार से मांगी रंगदारी वर्ना बेटे …. एक गिरफ्तार

राजधानी पटना में बेख़ौफ़ बेलगाम अपराधियों का दुःसाहस अपने चरम पर पहुच गया है आम आदमी की क्या बात की जाए जब एक थानेदार ही सुरक्षित नही है,बाकायदा मैसेज भेजकर 5 लाख की रंगदारी की मांग की गई है और न देने पर बेटे को अपहरण की धमकी दी गई है। इस मामले में एक शख्स को पुलिस ने किया गिरफ्तार

674

पटना Live डेस्क। बिहार में लगातार बढ़ते अपराध के ग्राफ से हर आमो खास हलकान है। सूबे में खाकी के खौफ से पूरी तरह बेख़ौफ़ हो चुके अपराधियों का तांडव अपने चरम पर है। वही दूसरी तरफ बिहार पुलिस महज आँकड़ों के जरिए अपराध नियंत्रण का दावा करती नज़र आ रही है। लेकिन हकीकत क्या है यह आए दिन खबरों की सुर्खियां बन रहा है। सुदूर जिलो की क्या बात की जाए जब राजधानी पटना में बेख़ौफ़ अपराधियों ने कोहराम मचा रखा है। गोलियों की बौछार और खून के धब्बे हालात का तफ़सरा बखूबी कर रहे है। हालात का अंदाज़ा आप इस बात से लगा सकते है कि राजधानी के एक थानेदार से ही दुःसाहसी अपराधी ने न केवल रंगदारी माँग ली है बल्कि नही देने पर रंगदारी नहीं देने पर बेटे के अपहरण करने की धमकी दी गई है। पुलिस ने इस मामले में एक को गिरफ्तार किया है।

कट्टा और कारतूस की तस्वीर

राजधानी में बेख़ौफ़ बेलगाम अपराधियों का दुःसाहस अपने चरम पर पहुच गया है आम आदमी की क्या बात की जाए जब एक थानेदार ही सुरक्षित नही है,बाकायदा मैसेज भेजकर 5 लाख की रंगदारी की मांग की गई है और न देने पर बेटे को अपहरण की धमकी दी गई है। दरअसल पहले पहल थानेदार के सरकारी नंबर पर बदमाश वाट्एसप पर देसी कट्टा का फोटो खींचकर भेज़ा तदुपरांत वाट्सएप कॉल से बदमाश थानेदार को फोन भी करता रहा और जमकर अपशब्दों का इस्तेमाल भी करता रहा। सिलसिला कई दिनों तक बदस्तुर चालू रहा।

ज्यादा होशियार हैं तो पकड़ के दिखाइए

हद तो ये की बाकायदा बदमाश थानेदार को नए नए देसी कट्टा और कारतूस की फोटो भेजकर हर दिन चिढ़ाता रहा। हद तो ये की सिलसिला यही नही रुका बल्की बदमाश ने थानेदार को फोन कर बदमाश चैलेंज करता कि जो बिगाड़ना है बिगाड़ लीजिए। ज्यादा होशियार हैं तो पकड़ के दिखाइए। बदमाश थानेदार को किसी भी वक्त कभी भी कही भी फोन कर देता है।

 5 लाख रंगदारी नही तो बेटे के अपहरण धमकी

दरअसल, शुरुआत में थानेदार ने इसे किसी की शरारत समझा और इग्नोर किया पर जब यह बदस्तुर चला और फिर थानेदार को धमकी भरा मैसेज मिला है। मिली जानकारी के अनुसार अपराधियों ने रूपसपुर थानाध्यक्ष के सरकारी मोबाइल पर मैसेज भेज कर पांच लाख रुपये रंगदारी की मांग की। रंगदारी नहीं देने पर बेटे का अपहरण करने की धमकी दी। मामला जब परिवार व परिजनों की सुरक्षा तक जा पहुची तो थानाध्यक्ष ने जाँच प्रारम्भ करते हुए अपनी शुरुआती जाँच में पाया कि जिस नंबर से फोन आ रहा है वह कर्नाटक का है। फिर थानेदार ने साइबर सेल से मदद मांगी है। उक्त नंबर के सीडीआर निकाला गया ताकि बदमाश की पहचान में की जा सके।

एक गिरफ्तार

मामले की गंभीरता को देखते हुए उक्त नंबर का सीडीआर (CDR) निकालकर अवलोकन किया गया। साथ ही उक्त नबर के CAF (Customer Applicatiom Form) से बदमाश को पकड़ने की कवायद की गई। इसका फलाफल भी निकला और आखिरकार रूपसपुर थाना पुलिस ने अपने थानाध्यक्ष को धमकाने के मामले में एक शख्स को गिरफ्तार भी किया है।

बड़ा सवाल क्या खत्म हो गया इक़बाल 

थानेदार को धमकाने रंगदारी मांगने की इस वारदात से यह तो स्पष्ट हो रहा है कि पटना पुलिस का इक़बाल लगभग खत्म होने की ओर बढ़ चला है तभी तो अपराधी बेखौंफ होकर वारदात को आंजाम दे ही रहे और अब तो पुलिस अधिकारी को ही निशाना बनने से नही हिचक रहे है। जरूरत है उस खोए विश्वास को बहाल करने की खाकी के खौफ अपराधियों पर पुनः कायम करने की ताकि आम आदमी और खाकी दोनो सुरक्षित रह सके।

Comments are closed.