बेधड़क ...बेलाग....बेबाक

बड़ी खबर – कुख्यात अमित के दबंग पिता की जमानत याचिका खारिज, नौबतपुर और बिहटा के व्यापार जगत खुशी की लहर

186

पटना Live डेस्क। बिहार की राजधानी पटना से महज 15 किलोमीटर दूर नौबतपुर और बिहटा जिले के सबसे तेजी से विकसित हो रहे इलाक़े है। लेकिन विगत एक साल से भी ज्यादा समय से यहा खौफ और आतंक का राज कायम है।लगातार इलाके में रंगदारी के लिए बाजार में गोलीबारी की वजह से स्थानीय दुकानदार खौफजदा है। दुकानदारों का कहना है कि यहां अपराधियों के कई गुट हैं,जो आए दिन उनसे रंगदारी की मांग करते हैं और रंगदारी नहीं देने पर जान से मारने की धमकी देते हैं।
उल्लेखनीय है कि बीते 12 दिसम्बर को रंगदारी की मांग पूरी नही होने पर अपराधियों ने बिहटा चीनी मिल रोड इलाके में दिनदहाड़े दवा एजेंसी और टीवी शोरूम पर अंधाधुंध फायरिंग की थी। दो बाइक पर सवार होकर आये 4 अपराधियों ने पुलिस को खुली चुनौती देते हुए घटना को अंजाम दिया था। एजेंसी के मालिक और कर्मचारी ने काउंटर में छिपकर अपनी जान बचा ली थी।गोलियां शीशे से आर-पार होकर दवाइयों के कार्टन में जा धंसीं थी। हद तो ये की दुकान पर ताबड़तोड़ फायरिंग करने के बाद दुःसाहसी अपराधियों ने महज 8 घंटे बाद फिर से फ़ोन कर दुकानदार से रंगदारी की मांग कर दी थी। यह जानकर पुलिस भी चौक गई। वही पुलिस सीसीटीवी फुटेज में अपराधियों के दुःसाहस देख दंग रह गई थी।

इसके बाद तो बाद तो पुलिस ने अपरधियों के खिलाफ ऑल आउट अभियान की शुरुआत कर दी इसके तहत
पुलिस ने कड़ी कार्रवाई करते हुये कुख्यात अमित के घर की दोबारा कुर्की की कार्रवाई की। साथ ही फरार अमित सिंह के दबंग पिता पप्पू सिंह की जमानत याचिका को खारिज करने की पहल कर दी। जिसके नतीजा हुआ कि कुख्यात के दबंग पिता की जमानत खारिज हो गई। इस कार्रवाई से बिहटा के कारोबारियों में खुशी की लहर हैं और आईजी नैयर हसनैन खां एवं एसएसपी मनु महाराज को थैंक्स कहा हैं। साथ ही कुछ लोगो कहना रहा कि काश! पुलिस ने ये निषेधात्मक कार्रवाई पहले शुरू कर दी होती। लेकिन देर आये दुरुस्त आये।


वही, एसएसपी का मानें तो नौबतपुर एवं बिहटा के जुड़े कारोबारियों के मामले में अपराधियों के खिलाफ स्पीडी ट्रायल चलाया जायेगा। बीते वर्ष 15 सितंबर को राजधानी के औद्योगिक थाना क्षेत्र में विकसित हुआ बिहटा में सिनेमा मालिक निर्भय सिंह की हत्या कुख्यात अमित सिंह एवं इसके गैंग ने कर दहशत फैला दिया था। पटना पुलिस 48 घंटे के अंदर कुख्यात अमित सिंह के पिता,दबंग पप्पू सिंह सहित कई को गिरफ्तार करने में कामयाब रही थीं। हालाँकि सुरक्षा -व्यवस्था को लेकर बिहटा के कारोबारियों में काभी रोष था और कई दिनों तक बाजार बंद रखा था।

कुख्यात अमित सिंह का फरार रहने के स्थिति में पुलिस ने कुर्की जब्ती का कार्रवाई किया लेकिन अमित पुलिस के पकड़ से दूर रहा । इधर कुछ ही दिनों बाद कुख्यात अमित सिंह ने रंगदारी को लेकर बिहटा के केसरी दवा एजेंसी पर दिन दहाड़े गोलीबारी कर अपने नाम का डंका बजाने की नापाक कोशिश किया । इस घटना के बाद बिहटा के कारोबारियों ने सुरक्षा -व्यवस्था को लेकर लगातार एक सप्ताह से ऊपर तक बाजार को बंद रखा और धरना ,प्रदर्शन किया । बात उप मुख्यमंत्री से लेकर वरीय पुलिस पदाधिकारियों तक पहुंची । इधर अपराधियों के खिलाफ एसएसपी के तेवर आसमान पर था।


बिहटा के कारोबारियों ने जोनल आईजी नैयर हसनैन खां से सुरक्षा -व्यवस्था की बात रखी एवं अपराधियों के खिलाफ ठेस कार्रवाई की मांग किया। आईजी नैयर हसनैन खां ने एसएसपी के नेतृत्व   में एसआईटी का गठन किया।कई अपराधी ताबड़तोड पकड़े गये। एसएसपी मनु महाराज खुद,सैकड़ों पुलिस वालो कर को लेकर बिहटा में फ्लैग मार्च कर अपराधियों को चुनौती दिया की अब अपराधियों का नहीं पुलिस की गोली गरजेगी।एसएसपी के आदेश पर फरार चल रहा अमित सिंह के घर पुलिस ने दोबारा कुर्की-जब्ती की कार्रवाई किया।
सिनेमा मालिक निर्भय सिंह हत्याकांड 704 /2017,बेऊर जेल में बंद कुख्यात अमित सिंह के दबंग पिता पप्पू सिंह ने नियमित जमानत के लिए पटना हाईकोर्ट में क्रीमनल मिसलेनियस- 56489 /2017 फाइल किया। बीते सोमवार को जस्टिस विरेन्द्र कुमार के बेंच ने दोनों पक्षों को सुनने एवं केस डायरी में लाए गये ठोस सबूतों के आधार पर जमानत याचिका खारिज कर दिया। कुख्यात अमित सिंह के घर दोबारा कुर्की जब्ती की कार्रवाई एवं दबंग पप्पू सिंह का जमानत खारिज होने के बाद बिहटा के कारोबारियों ने जोनल आईजी नैयर हसनैन खां एवं एसएसपी मनु महाराज को थैंक्स कहाँ हैं।इधर एसएसपी मनु महाराज ने कहाँ की बिहटा एवं नौबतपुर के कारोबारियों से जुड़े जो भी अपराधीक मामले होंगे।उसमें शामिल अपराधियों के खिलाफ स्पीडी ट्रायल की कार्रवाई की जाएगी।

 

Comments are closed.