बेधड़क ...बेलाग....बेबाक

कृषि कानून को लेकर पीएम मोदी के ऐलान से खुश नहीं हैं बिहार के कृषि मंत्री

270

पटना Live डेस्क। पिछले एक साल से चल रहे किसान आंदोलन के बीच केंद्र की मोदी सरकार ने तीनों विवादित कृषि कानूनों को लेकर बहुत बड़ा फैसला लिया है। केंद्र सरकार अब तीनों कृषि कानूनों को वापस लेगी। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इसका ऐलान किया है। जिसके बाद बिहार के कृषि मंत्री अमरेंद्र प्रताप सिंह का बयान सामने आया है।

कृषि मंत्री अमरेंद्र प्रताप सिंह ने कहा कि फिलहाल कृषि कानून को वापस लिया गया है।लेकिन बिहार की किसान चाहते है कि दरवाजा बंद नहीं हो। क्योकि बिहार के किसानों के सभी भाई-बहनों ने इन तीनों कृषि कानून का ह्रदय से स्वागत किया था। सबने इस कानून का स्वागत किया था। भारी पैमाने पर बिहार के किसानों को इन तीनों कानूनों से राहत मिलने वाली था।

भारत दुनिया का सबसे बड़ा लोकतंत्र हैं। और ऐसे में एक छोटे से समूह को भी नाराज करके कानून जबरदस्‍ती लागू किया जाए. पीएम मोदी की विशाल ह्रदय है। और लोकतंत्र में पीएम मोदी ने तहजीब दिया है। जो समझ नहीं पाए और समझा नहीं पाए, तो उन्हे मौका दिया जाए। लेकिन पीएम मोदी से मेरा आग्रह है कि किसानों का दरवाजा बंद नहीं होना चाहिए। ये कानून किसानों के व्यापक हित में है। इस पर आगे चर्चा कर, इस कानून को लागू कर वातावरण वायुमंडल बनना चाहिए।

विपक्ष ने कृषि कानूनों को वापस लेने को केंद्र सरकार का बैकफुट पर आना बताया तो कृषि मंत्री ने कहा कि यह विपक्ष की छोटी सोच है। विपक्ष को समझना चाहिए कि बड़े हृदय का नेता ही इतना बड़ा निर्णय ले सकता है। लोकतंत्र में जोर-जबरदस्‍ती से कानून लागू नहीं होता है। गांधी जी ने भी कई फैसले वापस लिए थे। लेकिन क्‍या इसे बैकफुट पर आना कहेंगे।

Comments are closed.